Full Site Search  
Sun Jan 21, 2018 18:27:45 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;


KEI/Kashi (3 PFs)
کاشی     काशी

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 34
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Kashi Railway Station Road, Rajghat, Varanasi
State: Uttar Pradesh
add/change address
Elevation: 82 m above sea level
Zone: NR/Northern
Division: Lucknow Charbagh NR
 
 
2 Travel Tips
No Recent News for KEI/Kashi
Nearby Stations in the News

Rating: 3.9/5 (64 votes)
cleanliness - good (8)
porters/escalators - good (8)
food - good (8)
transportation - good (8)
lodging - good (8)
railfanning - good (8)
sightseeing - excellent (8)
safety - good (8)

Nearby Stations

BCY/Varanasi City 2 km     BBRM/Baba Bhagwan Ram Halt 3 km     BSB/Varanasi Junction 5 km     VYN/Vyasnagar 6 km     MUV/Manduadih 9 km     SRNT/Sarnath 9 km     BHBV/Block Hut B 10 km     SOP/Shivpur 11 km     LOT/Lohta 11 km     BHLP/Bhulanpur 11 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 21 News Items  next>>
Nov 24 2017 (06:38)  जल, रेल व सड़क परिवहन का सेतु बनेगा काशी स्टेशन (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsNR/Northern  -  

News Entry# 323194     
   Past Edits
Nov 24 2017 (06:38)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by Aaditya^~/1421836

Nov 24 2017 (06:38)
Station Tag: Kashi/KEI added by Aaditya^~/1421836
Stations:  Varanasi Junction/BSB   Kashi/KEI  
 
 
योजना
जागरण संवाददाता, वाराणसी : रेलवे प्रशासन बड़े प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है। इसका केंद्र बिंदु परिवहन के तीन माध्यमों जल, रेल व सड़क परिवहन को एक साथ जोड़ना है। इसके लिए रेल प्रशासन की नजर काशी स्टेशन पर है, जिसको विस्तार देकर प्रस्तावित को आकार दिया जा सकता है। 1बताते हैं कि इस मसले पर कुछ माह पूर्व, एनएचआइ, पीडब्ल्यूडी व एक निजी कंपनी के अफसरों के साथ रेल प्रशासन की महत्वपूर्ण बैठक हुई थी। काशी स्टेशन के अधीक्षक तस्लीम अहमद ने बताया की कुछ माह पूर्व हुई बैठक की उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक ने अध्यक्षता की थी। बताया कि इस दौरान कंपनी ने करीब नौ एकड़ जमीन की डिमांड की, जिसे रेल प्रशासन ने उपलब्ध कराने का भरोसा दिया
...
more...
है। इस पर कंपनी ने मौका-मुआयना कर रिपोर्ट तैयार कर ली है। बताया कि काशी स्टेशन का विस्तार होगा। इसके अलावा बनारस से मुगलसराय तक तीसरी रेल पटरी भी बिछाई जाएगी, जिसके लिए गंगा पर एक नया पुल बनेगा। इसके पीछे मंशा है कि कैंट स्टेशन पर ट्रेनों का दबाव कम हो सके। इसके अलावा जल परिवहन के लिए स्टेशन के पास ही छोटा टर्मिनल बनाने की है। दूसरी ओर जीटी रोड से सटे काशी स्टेशन है। इसलिए सड़क मार्ग से स्टेशन को बेहतर तरीके से जोड़ा जाएगा। कुल मिलाकर एक रेलवे स्टेशन को तीन परिवहन माध्यम से जोड़ जनता को आने- जाने की सहूलियत देने की तैयारी है।’>>काशी स्टेशन को विस्तार देने के साथ गंगा पर बनेगा नया पुल1’>>मुगलसराय तक जाएगी तीसरी रेल लाइन, परिचालन में सहूलियत
Sep 09 2017 (11:55)  काशी रेलवे स्टेशन पर बनेगा मॉडल मल्टी हब (epaper.livehindustan.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 315415     
   Past Edits
Sep 09 2017 (11:55)
Station Tag: Kashi/KEI added by Saurabh*^~/15807
Stations:  Kashi/KEI  
 
 
पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन के मद्देनजर एक ही स्थान पर सभी सुविधाएं मुहैया कराने की प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। काशी रेलवे स्टेशन पर प्रशासन को करीब 30.28 एकड़ जमीन मिली है जहां इंटर स्टेट बस टर्मिनल, मेट्रो, रेलवे एवं जल परिवहन टर्मिनल की व्यवस्था की जाएगी। उद्देश्य है कि बाहर से आने वाले यात्रियों को एक ही स्थान से शहर के अलग-अलग स्थलों पर जाने की सुविधा मिल सके। पीएमओ की पहल पर दिल्ली से पहुंचे कंसल्टेंट ने शुक्रवार को कमिश्नरी अनुश्रवण कक्ष में मॉडल मल्टी हब का प्रेजेंटेशन किया। कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण ने निर्देश दिया कि अगले 40 वर्षों के दौरान बनारस की आबादी को ध्यान में रखते हुए मल्टी हब का इंटीग्रेटेड प्लान तैयार किया जाए। काशी रेलवे स्टेशन पर करीब 30.28 एकड़ जमीन खाली पड़ी है। कभी इस जमीन पर कोयला उतरता था। उस जमीन का उपयोग मल्टी हब के रूप में किया जाएगा। यहां एक...
more...
बड़ा बस टर्मिनल के साथ ही राजघाट के पास जलपरिवहन का भी टर्मिनल बनेगा जिससे फेरी सर्विस के जरिए लोगों को गंगा के रास्ते शहर में आने-जाने में सहूलियत हो। कमिश्नर ने बताया कि यातायात पर लगातार बढ़ते दबाव को देखते हुए मल्टी मॉडल हब की योजना तैयार की गई है। कमिश्नर ने उपजिलाधिकारी सदर को निर्देश दिया कि रेलवे एवं राजस्व टीम के साथ भूखण्ड का स्थलीय निरीक्षण करें और मौके पर मौजूद अतिक्रमण को हटाएं। कमिश्नर ने बताया कि 95 फीसदी भूखण्ड रेलवे के कब्जे में है। उन्होंने भूखंड का सीमाकंन कराकर वहां पर बाउंड्रीवाल कराने का निर्देश दिया। कमिश्नर ने संबंधित विभागों को निर्देश दिया कि कार्ययोजना तैयार करके संबंधित कंसलटेंट एजेंसी को उपलब्ध कराएं, ताकि उसका डीपीआर बन सके। बैठक में संयुक्त विकास आयुक्त डा.अभय श्रीवास्तव, एनएचएआई, जलपरिवहन, रोडवेज, रेलवे, लोनिवि आदि विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
Sep 09 2017 (06:09)  डीआरएम ने लिया काशी स्टेशन का जायजा (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsNR/Northern  -  

News Entry# 315397     
   Past Edits
Sep 09 2017 (06:09)
Station Tag: Kashi/KEI added by ये उन दिनों की बात है😊^~/1421836

Sep 09 2017 (06:09)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by ये उन दिनों की बात है😊^~/1421836
Stations:  Varanasi Junction/BSB   Kashi/KEI  
 
 
वाराणसी : काशी रेलवे स्टेशन की बदहाली अब बीते दिनों की बात होगी। रेलवे शहर के आखिरी छोर पर स्थित स्टेशन का विकास कराएगा। लखनऊ से आए डीआरएम सतीश कुमार ने शुक्रवार को स्टेशन परिसर का जायजा लिया। एक दिन पहले बनारस पहुंचे डीआरएम सुबह काशी स्टेशन के प्लेटफार्म, टिकट काउंटर समेत अन्य यात्री सुविधाओं का निरीक्षण किया। इसके बाद डीआरएम कमिश्नरी में आयोजित बैठक में भाग लेने केलिए रवाना हो गए। 1कैंट स्टेशन पर देखा यात्री आश्रय का हाल: डीआरएम ने दोपहर बाद कैंट रेलवे स्टेशन पहुंचे। यात्री आश्रय, सकरुलेटिंग एरिया, स्टेशन पर बनने वाले फुटओवर ब्रिज, जनरल टिकट काउंटर सहित विभिन्न विकास कार्यो का निरीक्षण किया। 1आश्रय हाल में लग रहे कूलिंग सिस्टम के बारे में इंजीनियरों से पूछताछ किया। बता दें कि आश्रय में होने वाली गर्मी को दूर करने के लिए यहां पांच कूलिंग सिस्टम लगाए जा रहे हैं। जिसमें से तीन अभी लगना शेष है। 1गोदाम...
more...
शीघ्र बनाने का निर्देश: कैंट रेलवे स्टेशन से डीआरएम सीधे चौखंडी पहुंचे। उन्होंने यहां बन रहे गोदाम की प्रगति को देखा। यह कार्य शीघ्र पूरा करने का निर्देश दिया। कैंट स्टेशन के यार्ड में स्थित गोदाम को यहां शिफ्ट किया जाना है। ताकि प्लेटफार्म नंबर 10 व 11 का निर्माण शुरू कराया जा सके।वाराणसी : काशी रेलवे स्टेशन की बदहाली अब बीते दिनों की बात होगी। रेलवे शहर के आखिरी छोर पर स्थित स्टेशन का विकास कराएगा। लखनऊ से आए डीआरएम सतीश कुमार ने शुक्रवार को स्टेशन परिसर का जायजा लिया। एक दिन पहले बनारस पहुंचे डीआरएम सुबह काशी स्टेशन के प्लेटफार्म, टिकट काउंटर समेत अन्य यात्री सुविधाओं का निरीक्षण किया। इसके बाद डीआरएम कमिश्नरी में आयोजित बैठक में भाग लेने केलिए रवाना हो गए। 1कैंट स्टेशन पर देखा यात्री आश्रय का हाल: डीआरएम ने दोपहर बाद कैंट रेलवे स्टेशन पहुंचे। यात्री आश्रय, सकरुलेटिंग एरिया, स्टेशन पर बनने वाले फुटओवर ब्रिज, जनरल टिकट काउंटर सहित विभिन्न विकास कार्यो का निरीक्षण किया। 1आश्रय हाल में लग रहे कूलिंग सिस्टम के बारे में इंजीनियरों से पूछताछ किया। बता दें कि आश्रय में होने वाली गर्मी को दूर करने के लिए यहां पांच कूलिंग सिस्टम लगाए जा रहे हैं। जिसमें से तीन अभी लगना शेष है। 1गोदाम शीघ्र बनाने का निर्देश: कैंट रेलवे स्टेशन से डीआरएम सीधे चौखंडी पहुंचे। उन्होंने यहां बन रहे गोदाम की प्रगति को देखा। यह कार्य शीघ्र पूरा करने का निर्देश दिया। कैंट स्टेशन के यार्ड में स्थित गोदाम को यहां शिफ्ट किया जाना है। ताकि प्लेटफार्म नंबर 10 व 11 का निर्माण शुरू कराया जा सके।
Feb 14 2017 (00:10)  तीसरे ट्रैक से पहले काशी स्टेशन को विस्तार (m.jagran.com)
back to top
Rail BudgetNR/Northern  -  

News Entry# 293820     
   Past Edits
Feb 14 2017 (00:10)
Station Tag: Mughal Sarai Junction/MGS added by Varuna Express/93256

Feb 14 2017 (00:10)
Station Tag: Kashi/KEI added by Varuna Express/93256

Feb 14 2017 (00:10)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by Varuna Express/93256
 
 
वाराणसी : हालिया केंद्रीय बजट में घोषित तीसरे रेलवे ट्रैक के आकार पाने में अभी भले समय लगे लेकिन इस लिहाज से काशी स्टेशन इससे भी पहले विस्तार पा जाएगा। यह कवायद पिछले साल शुरू की गई थी। तत्कालीन रेल बजट में इसके लिए 2.80 करोड़ रुपये जारी किए गए थे। इससे तीन प्लेटफार्मो की साज-संवार और यात्री सुविधा विस्तार के बाद प्लेटफार्म नंबर चार का आकार बढ़ाया जा रहा है। माना जा रहा है इसके पक्का होने और विस्तार पाने के बाद इससे अधिक ट्रेनें चलाई जा सकेंगी।
फिलहाल यह प्लेटफार्म 12 कोच की लंबाई का है जिसपर एक दो पैसेंजर ट्रेनों को ही रोका जाता है। इसे पक्का करने के साथ ही आकार बढ़ाने की दिशा में निर्माण कार्य जारी
...
more...
है। इसके अलावा स्टेशन के अन्य तीन प्लेटफार्मो पर नए शेड, एलईडी लाइटिंग के साथ फर्श पर कोटा स्टोन के साथ ही ग्रेनाइट बेंच व स्टील बेंच लगाई गई है। आरक्षण केंद्र खोलने के साथ फुट ओवरब्रिज नया किया जा चुका है।
हटाया जाएगा तांगा स्टैंड
स्टेशन के अगले हिस्से के सुंदरीकरण के साथ ही पार्किग व्यवस्था के लिए तांगा स्टैंड हटाया जाएगा। इसके लिए रेलवे ने दो स्थान चिह्नित किए हैं। पुराने समय में तांगा ही यहां से आवागमन का साधन था और स्टैंड भी पंजीकृत है।
75 साल पुराना स्टेशन
राजघाट डफरिन (पुल) से सटे सिंगल लाइन वाले काशी स्टेशन का निर्माण 1940 में किया गया। यहां से 11 मेल-एक्सप्रेस व छह पैसेंजर ट्रेनें गुजरती हैं। अभी भले ही तीसरी लाइन का डायग्राम तक शेष हो लेकिन इसके बनने के बाद इस स्टेशन की उपयोगिता बढ़ जाएगी और कैंट समेत अन्य स्टेशनों पर ट्रेनों को आउटर पर भी नहीं रोकना होगा।
Nov 09 2016 (13:08)  कैंट स्टेशन कराएगा एयरपोर्ट का अहसास (m.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 285219     
   Past Edits
Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Bhadohi/BOY added by Varuna Express/93256

Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Lohta/LOT added by Varuna Express/93256

Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Kashi/KEI added by Varuna Express/93256

Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Shivpur/SOP added by Varuna Express/93256

Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Chaukhandi/CHH added by Varuna Express/93256

Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by Varuna Express/93256
 
 
वाराणसी : यात्री सुविधा विस्तार के लिहाज से कैंट रेलवे स्टेशन अगले साल जून तक किसी हवाईअड्डे पर पहुंच जाने जैसा अहसास कराएगा। प्लेटफार्म नंबर एक, छह-सात व आठ नौ पर फर्श से छत तक आकर्षक लुक के साथ सेवाओं व सुविधाओं में भी यह स्तर नजर आएगा। रेलवे बोर्ड ने इस तरह के साज-संवार की जिम्मेदारी राइट्स संस्था को देने के साथ कार्य पूर्णता अवधि भी तय कर दी। कैंट स्टेशन पर जारी विस्तार परियोजनाओं के निरीक्षण पर आए उत्तर रेलवे के जीएम एके पुठिया ने मंगलवार को प्रेसवार्ता में यह जानकारी दी।
इस पार से उस पार नया एफओबी
सर्कुलेटिंग
...
more...
एरिया में निर्माणाधीन यात्री विश्रामालय से छावनी साइड को जाने के लिए नया फुट ओवर ब्रिज भी बनेगा। दस मीटर चौड़े एफओबी से सभी प्लेटफार्मो पर भी उतरा जा सकेगा। राइट्स संस्था इसे नवंबर 2017 तक मूर्त रूप देगी। इसके बाद पुराने एफओबी को भी ध्वस्त कर नए सिरे से निर्माण होगा। महाप्रबंधक ने दोनों परियोजनाओं के संबंध में कार्यदायी संस्था के संग मौके पर विचार विमर्श भी किया।
दो नई गुड्स लाइन, 4-5 सीध में
मालगाड़ियों के सुगम परिचालन को छावनी साइड में दो गुड्स लाइन बनेंगी। इसके लिए प्लेटफार्म नंबर चार-पांच को समानांतर होगा लेकिन नंबर तीन चौड़ा हो जाएगा। विस्तारीकरण की कवायद में चार -पांच के कुछ भवन ध्वस्त किए जाएंगे। जीएम पुठिया ने बताया कि पहले 8-10 मालगाड़ियां ही कैंट से गुजरती थीं, अब यह संख्या 18-20 है जो 25 तक जाएगी।
01 माह में मिलेगी छावनी की जमीन छावनी के 19 हजार वर्गमीटर भूखंड का हस्तांतरण एक माह में हो जाएगा। इसके साथ ही सेंकेंड इंट्री पर 3500 वर्ग मीटर में यात्री सुविधा विस्तार राइट्स शुरू कर देगी। अभी लिफ्ट व एक्सलेरेटर निर्माण हो रहा है जो दिसंबर तक पूरा हो जाएगा।
परियोजनाओं की समयावधि तय
यात्री शेल्टर, टूरिज्म सेंटर समेत सर्कुलेटिंग क्षेत्र में निर्माण, द्वितीय श्रेणी वेटिंग हाल, लोहता-सेवापुरी तक दो ब्लाक सेक्शन दोहरीकरण-विद्युतीकरण इसी साल पूरा हो जाएगा। जीएम ने कहा आआरआइ भवन जनवरी तक तैयार होगा।
रायशुमारी और विज्ञापन पर जोर
विकास कार्य रायशुमारी से ही होंगे। इसके तहत एक लाख सुझाव मिले हैं। रेल शिविर में 18-19 नवंबर को पीएम भी संबोधित करेंगे। जीएम ने कहा आय बढ़ाने को रेलवे किराया वृद्धि की बजाय दूसरे विकल्प तलाश रहा है। विज्ञापनों पर जोर है जो छोटे स्तर पर शुरू कर दिया गया है।
चौखंडी स्टेशन पर गुड्स शेड के लिए किया गया भूमि पूजन
कैंट स्टेशन पर तीन नए प्लेटफार्म निर्माण के लिए गुड्स शेड स्थानांतरित करने को जीएम ने चौखंडी में भूमि पूजन किया। इसके साथ ही लोहता व सेवापुरी स्टेशन का विंडो ट्रेलिंग निरीक्षण भी किया। सीसीएम देवेश मिश्रा, मुख्य संकेत एवं दूर संचार अभियंता अजय विजय वर्गीय, प्रधान मुख्य अभियंता, आरके अग्रवाल, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी निर्माण पीके सांगी, मुख्य अभियंता राजीव सक्सेना, राइट्स के डीजीएम अशोक उपाध्याय, डीआरएम एके लाहोटी आदि थे।
Page#    Showing 1 to 20 of 21 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.