Full Site Search  
Thu Jul 20, 2017 22:04:16 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Platform Pic; Large Station Board;

KTH/Katrasgarh (2 PFs)
کتراسگڑھ     कतरासगढ़

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 1
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Gaslitand Colliery Bypass, Sijua, Katrasgarh
State: Jharkhand
Elevation: 198 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Dhanbad
KTH/Katrasgarh is in Recent News
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

TNJE/Tentulla 1 km     ANJE/Angarpathra Halt 2 km     MLQ/Malkera Junction 2 km     SJA/Sijua 3 km     TSAH/Tata Sijua Halt 4 km     SZE/Sonardih 4 km     BZS/Bansjora 5 km     TNO/Tundu 5 km     NPJE/Nichitpur 5 km     LYD/Layabad 6 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 38 News Items  next>>
Yesterday (06:05)  लोकसभा में उठा डीसी रेललाइन का मुद्दा (epaper.jagran.com)
back to top
PoliticsECR/East Central  -  

News Entry# 308805     
   Tags   Past Edits
Jul 19 2017 (06:05)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by बिंदिया लगाती तो कांपती थी पलकें माएरी😊^~/1421836

Posted by: बिंदिया लगाती तो कांपती थी पलकें माएरी😊^~  1205 news posts
सवाल
अब शपथपत्र दाखिल करो अभियान
Click here to enlarge image
कतरास: डीसी लाइन बंदी पर मंगलवार को शपथपत्र अभियान शुरू हुआ। पूर्व विधायक ओपी लाल, विजय कुमार झा, राजेंद्र प्रसाद राजा, रामबचन पासवान, शौकत खान ने उपायुक्त के आवासीय कार्यालय में सौंपा। 31 जुलाई तक दस हजार लोगों के द्वारा शपथपत्र उपायुक्त के पास दाखिल करने का लक्ष्य है। शपथपत्र में कहा गया
...
more...
है कि रेल लाइन को भूगर्भ आग का खतरा नहीं है। डीसी लाइन पर रेल परिचालन किया जा सकता है। अगर भूगर्भ अग्नि के कारण कोई दुघर्टना होती है तो उसकी पूरी जिम्मेदारी लेने को शपथकर्ता तैयार हैं। उपायुक्त से यह मांग की गई है कि वे बीसीसीएल, डीजीएमएस, रेल व सिंफर के अधिकारियों की एक बैठक बुलाएं। प्रभावित क्षेत्र के पांच नागरिक प्रतिनिधियों की बैठक बुलाएं और जनहित में पुन: सर्वे कराएं। शपथकर्ताओं ने सिंफर को एक अवसर देने की बात कही है। 1गैर जिम्मेदाराना रवैया के चलते शुरू हुआ अभियान : पूर्व विधायक ओपी लाल एवं विजय कुमार झा ने कहा कि जब भी कोई किसी भी पदाधिकारी से मिला तो एक ही पूछा जा रहा था कि दुघर्टना होती है तो क्या आप जिम्मेदारी लेंगे? यह जिम्मेदारी नागरिक ले रहे हैं।जागरण संवाददाता, धनबाद : 15 जून को धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन बंद होने के बाद एक महीने से ज्यादा समय से सड़क पर गूंज रही आंदोलन की आवाज लोकसभा तक पहुंच गई है। मंगलवार को गिरिडीह के सांसद रवींद्र पांडेय ने नियम 377 के तहत लोकसभा में धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन बंदी का मुद्दा उठाया। 1पांडेय ने कहा कि रेल लाइन के नीचे आग होने के कारण धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन 15 जून को बंद कर दी गई। उन्होंने कहा कि धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन का पूरा हिस्सा अग्नि प्रभावित नहीं है। फिर, डायवर्सन का निर्माण बंद करने से पहले क्यों नहीं किया गया, जो आज करने की बात की जा रही है। जब वर्षो से इस रेल खंड के नीचे आग होने की जानकारी रेलवे को थी तो क्यों नहीं परिवर्तित मार्ग का निर्माण अथवा डायवर्सन का निर्माण रेल लाइन बंद करने से पहले किया गया। पांडेय ने केंद्र सरकार से आग्रह किया कि रेल लाइन बंद किए जाने पर पुन: विचार करते हुए डायवर्सन/नया रेल लाइन बिछाने का कार्य प्राथमिकता के आधार पर किया जाय। साथ ही बंद की गई सभी ट्रेनें परिवर्तित मार्ग से चलाई जाय। 1पांडेय ने कहा कि 34 किलोमीटर के अंदर 14 स्टेशन एवं हॉल्ट के आसपास के करीब पांच लाख से भी ज्यादा की जनसंख्या प्रभावित हुई है। डीसी रूट पर औसतन प्रतिवर्ष करीब एक करोड़ से अधिक यात्री यात्र करते थे। यह रूट झारखंड की राजधानी रांची को संताल परगना सहित अन्य राज्यों को जोड़ती है। कुल 26 जोड़ी ट्रेनें चलती थी।सांसद रवींद्र पांडेय ’ जागरण’>>सांसद रवींद्र पांडेय ने पूछा बगैर डायवर्सन क्यों बंद की गई लाइन?1’रेल लाइन बंदी के फैसले पर केंद्र सरकार करे पुनर्विचार 1जानकारी देते पूर्व विधायक ओपी लाल, बियाडा के विजय झा व अन्य ’ जागरण
Jul 18 2017 (06:50)  डीसी लाइन पर नहीं चली ट्रेन तो रोकेंगे रेल (epaper.jagran.com)
back to top
PoliticsECR/East Central  -  

News Entry# 308719   Blog Entry# 2355744     
   Tags   Past Edits
Jul 18 2017 (06:50)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by दक्षिण पूर्व रेलवे😍😘😊^~/1421836

Posted by: बिंदिया लगाती तो कांपती थी पलकें माएरी😊^~  1205 news posts
जागरण संवाददाता, कतरास: डीसी लाइन के लिए जारी आंदोलन को समर्थन देते हुए सोमवार को बिहार जनता खान मजदूर संघ के महामंत्री व कांग्रेस के प्रदेश सचिव रणविजय सिंह ने कतरास में विशाल रैली निकाली। समर्थकों के साथ नगर भ्रमण करते हुए स्टेशन रोड पहुंचे, जहां रेल लाइन चालू करने की मांग पर डॉ. विनोद गोस्वामी के नेतृत्व में चलाए जा रहे महाधरना को समर्थन दिया। मंच से संबोधित करते हुए कहा कि समय रहते डीसी लाइन चालू नहीं की गई तो बीसीसीएल के एक से पांच तक के सभी क्षेत्रों में कामकाज ठप कर दिया जाएगा। 1विभागीय व आउटसोर्सिंग कंपनियों का चक्का जाम कर दिया जाएगा। धनबाद में राजधानी सहित अन्य द्रुतगामी ट्रेनों को रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि एक माह से लोग रेल लाइन चालू करने को आवाज बुलंद कर रहे हैं। जनता को सरकार पर विश्वास है लेकिन सरकार को जनता पर नहीं। यही वजह है कि एक...
more...
माह से आंदोलनरत जनता की आवाज को अनसुना किया जा रहा है। रेललाइन बंदी की साजिश तथा आग की वास्तविक स्थिति का पता लगाने के लिए अभी तक हाई पावर कमेटी धनबाद नहीं आई। जिस रिपोर्ट के आधार पर डीसी लाइन बंद की गई उसकी असलियत हाई पावर कमेटी की जांच में ही पता चल सकता है। 1भाजपा के खिलाफ रहे हमलावर : भाजपा सरकार पर जनविरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि इसी पार्टी के शासनकाल में धनबाद-पाथरडीह सवारी गाड़ी बंद हुई थी। सरकार ने उस वक्त पांच साल का समय लिया था, कि आग हटाकर उक्त रेल लाइन पर परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। सरकारी घोषणा का हश्र सबके सामने है। विधायक ढुलू महतो पर हमला करते हुए कहा कि खुद को जनता का हिमायती बतानेवाले विधायक को अगर जनहित का जरा सा भी ख्याल हो तो आंदोलन का कमान संभालें। 1बीसीसीएल पर हो कार्रवाई: आग के लिए बीसीसीएल व डीजीएमएस को जिम्मेदार बताते हुए इनके अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। कहा कि आग की रोकथाम के लिए सरकार वैज्ञानिकों का सहारा लेकर आवश्यक कार्रवाई करे और लाखों लोगों की हित को देखते हुए अविलंब डीसी लाइन चालू करे। पार्षद राममूर्ति सिंह व विनायक गुप्ता ने सिंह का स्वागत किया। भोला राम, रमेश सिंह, पी मुरलीधरन, भिखारी पासी, शिवाधार सिंह, रवींद्र सिंह, मो. आजार, मो. इसराफिल, उदय सिंह, नवल सिंह, संजय महतो, मनोज बाउरी, छोटू रवानी आदि मौजूद थे।जागरण संवाददाता, कतरास: डीसी लाइन के लिए जारी आंदोलन को समर्थन देते हुए सोमवार को बिहार जनता खान मजदूर संघ के महामंत्री व कांग्रेस के प्रदेश सचिव रणविजय सिंह ने कतरास में विशाल रैली निकाली। समर्थकों के साथ नगर भ्रमण करते हुए स्टेशन रोड पहुंचे, जहां रेल लाइन चालू करने की मांग पर डॉ. विनोद गोस्वामी के नेतृत्व में चलाए जा रहे महाधरना को समर्थन दिया। मंच से संबोधित करते हुए कहा कि समय रहते डीसी लाइन चालू नहीं की गई तो बीसीसीएल के एक से पांच तक के सभी क्षेत्रों में कामकाज ठप कर दिया जाएगा। 1विभागीय व आउटसोर्सिंग कंपनियों का चक्का जाम कर दिया जाएगा। धनबाद में राजधानी सहित अन्य द्रुतगामी ट्रेनों को रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि एक माह से लोग रेल लाइन चालू करने को आवाज बुलंद कर रहे हैं। जनता को सरकार पर विश्वास है लेकिन सरकार को जनता पर नहीं। यही वजह है कि एक माह से आंदोलनरत जनता की आवाज को अनसुना किया जा रहा है। रेललाइन बंदी की साजिश तथा आग की वास्तविक स्थिति का पता लगाने के लिए अभी तक हाई पावर कमेटी धनबाद नहीं आई। जिस रिपोर्ट के आधार पर डीसी लाइन बंद की गई उसकी असलियत हाई पावर कमेटी की जांच में ही पता चल सकता है। 1भाजपा के खिलाफ रहे हमलावर : भाजपा सरकार पर जनविरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि इसी पार्टी के शासनकाल में धनबाद-पाथरडीह सवारी गाड़ी बंद हुई थी। सरकार ने उस वक्त पांच साल का समय लिया था, कि आग हटाकर उक्त रेल लाइन पर परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। सरकारी घोषणा का हश्र सबके सामने है। विधायक ढुलू महतो पर हमला करते हुए कहा कि खुद को जनता का हिमायती बतानेवाले विधायक को अगर जनहित का जरा सा भी ख्याल हो तो आंदोलन का कमान संभालें। 1बीसीसीएल पर हो कार्रवाई: आग के लिए बीसीसीएल व डीजीएमएस को जिम्मेदार बताते हुए इनके अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। कहा कि आग की रोकथाम के लिए सरकार वैज्ञानिकों का सहारा लेकर आवश्यक कार्रवाई करे और लाखों लोगों की हित को देखते हुए अविलंब डीसी लाइन चालू करे। पार्षद राममूर्ति सिंह व विनायक गुप्ता ने सिंह का स्वागत किया। भोला राम, रमेश सिंह, पी मुरलीधरन, भिखारी पासी, शिवाधार सिंह, रवींद्र सिंह, मो. आजार, मो. इसराफिल, उदय सिंह, नवल सिंह, संजय महतो, मनोज बाउरी, छोटू रवानी आदि मौजूद थे।

Jul 18 2017 (07:46)
Congratulations President of India Ram Nath Kovind^~   40023 blog posts   28485 correct pred (77% accurate)
Re# 2355744-1            Tags   Past Edits
Phir chala do train sb
Lekin koi hadsa hua to 1 rs mt dena
Aur na hi ninda krna
Vaahiyaat party ki politics h ye
Naa kaam krne dete h na krte h 😣
Jul 11 2017 (06:12)  महुदा-मलकेरा-कतरास रेललाइन का होगा सर्वे (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 308011     
   Tags   Past Edits
Jul 11 2017 (06:12)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by दक्षिण पूर्व रेलवे😍😘😊^~/1421836

Posted by: बिंदिया लगाती तो कांपती थी पलकें माएरी😊^~  1205 news posts
रेलबंदी का विरोध
डीजीएमएस टीम करेगी आज दौरा 1डीजीएमएस की टीम मंगलवार को कतरास चैतुडीह क्षेत्र का दौरा कर स्थिति का जायजा लेगी। टीम सर्वे के दौरान यह देखेगी कि वैकल्पिक मार्ग पर भूमिगत आग है कि नहीं। प्रस्तावित रेल लाइन के नीचे परियोजना से जुड़ी जानकारी भी एकत्रित की जाएगी। नए रूट पर रेल परिचालन के विकल्प तलाशे जाएंगे। अगर डीजीएमएस की रिपोर्ट सकारात्मक रही तो भविष्य में कतरासगढ़ से मलकेरा होकर टेनें महुदा होकर चंद्रपुरा तक चल सकेंगी।
रिपोर्ट सकारात्मक रही तो कतरासगढ़ से महुदा होकर चंद्रपुरा तक चलेगी रेल, एमपी
...
more...
रवींद्र पांडेय के साथ डीजीएमएस डीजी की बैठक1
13 को डीजीएमएस को घेरेंगे आंदोलनकारी
डीसी
लाइन
Click here to enlarge image
जागरण संवाददाता, कतरास: धनबाद-चंद्रपुरा रेल बंदी के खिलाफ आंदोलन दिन प्रतिदिन तेज होता जा रहा है। पदयात्र, धरना, प्रार्थनासभा, जुलूस, बंदी के बाद अव आंदोलनकारियों के तेवर तल्ख होने लगे हैं। रविवार को चैंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा आहूत कतरास बंद को मिले अपार जनसमर्थन से आंदोलनकारियों का उत्साह चरम पर हैं। पहले पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी की पदयात्र, फिर कतरास विकास मंच की प्रार्थना सभाएं, पार्षद डॉ. विनोद गोस्वामी का महाधरना सभी आंदोलनों को जनता का भरपूर समर्थन मिला। अब जबकि को बंद हुए लगभग एक माह बीतने को है। इस दौरान तमाम आंदोलनों को अपार समर्थन मिलने के बाद भी परिणाम सिफर रहा। जनप्रतिनिधियों व सरकारी तंत्र की इस अनदेखी से आंदोलनकारी क्षुब्ध हैं। अब आंदोलन के तेवर को भी बदला जा रहा है। 1सोमवार को पूर्व मंत्री ने पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत आंदोलन की रणनीति स्पष्ट की। उन्होंने अपनी मांगों पर सरकार व रेलवे को 12 जुलाई तक की मोहलत दी है। कहा कि इसके बाद विशाल जनसमूह के साथ डीजीएमएस का घेराव किया जाएगा। चेतावनी दी कि सुरक्षा बलों के बल पर उक्त मार्ग पर मालगाड़ी चलाने की कोशिश की गई तो अंजाम बुरा होगा। कहा कि अभी तक शांतिपूर्ण आंदोलन हुआ है लेकिन 13 जुलाई को अगर ¨हसा हुई तो इसकी जिम्मेदारी रेलवे व जिला प्रशासन की होगी। मानव श्रृंखला बनाकर जनता ने जता दिया कि की कितनी जरूरत है। कहा कि जिस सांसद को हमने राजनीति व चलना सिखाया वह गद्दार निकला। आंदोलन का दसवां दिन है लेकिन आज तक ना तो सांसद, ना ही विधायक ने इसकी सुध ली। पार्षद डॉ. विनोद गोस्वामी ने कहा कि दस दिनों तक हमलोगों ने शांतिपूर्ण आंदोलन किया लेकिन हमारी मांगों को अनसूना कर दिया गया। हम आंदोलन जारी रखेंगे। राजकुमार शर्मा, सच्चिदानंद सिंह, शिवेश विश्वकर्मा, ललित सिंह, बलदेव यादव, गणपत यादव, अखिल भारतीय भुइयां समाज के मिथिलेश कुमार, बलिराम हरिजन, राजकुमार गोस्वामी, मो. अकबर, जमील अंसारी आदि थे।जागरण संवाददाता, धनबाद : धनबाद-चंद्रपुरा रेल को चालू करने के विकल्प को लेकर गिरिडीह के सांसद रवींद्र पांडेय ने सोमवार को डीजीएमएस डीजी पीके सरकार के साथ मिलकर वैकल्पिक मार्ग पर चर्चा की। उन्होंने डीजीएमएस से साफ कहा कि जिन वैकल्पिक मार्गो से गुड्स ट्रेन चलाने की इजाजत दी गई है पैसेंजर ट्रेनें भी चलाने की अनुमति दी जाय। डीजी ने कहा कि रेलवे द्वारा पैसेंजर ट्रेन चलाने की अनुमति मांगे जाने पर स्वीकृति दे दी जाएगी। सांसद ने कहा कि रेल बंद होने से लोगों को काफी परेशानी हो रही है। आग के कारण खतरा है, लेकिन विकल्प तलाशना जरूरी है। उन्होंने कहा कि रेल कैसे चालू किया जाए इस पर सभी को मिलकर गंभीरता से विचार करने की जरूरत है। उन्होंने वैकल्पिक मार्ग के रूप में धनबाद-निश्चितपुर-कतरास-मालकेरा-महुदा-जमुनियाटांड-चंद्रपुरा रूट का सुझाव दिया। डीजी पीके सरकार ने कहा कि सुरक्षा प्राथमिकता है। विकल्प का रास्ता खुला हुआ है। जो भी मदद की आवश्यकता होगी डीजीएमएस करने को तैयार है। मौके पर डीजीएसएस मध्य जोन डीडीजी वीपी सिंह, डीडीजी संजीवन राय, निदेशक एस बागची, भाजपा के संजीव मिश्र, मुखिया विपिन दां, कमलेश ओझा आदि उपस्थित थे। 1महुदा-मलकेरा-कतरास पर तलाशा जाए विकल्प : बैठक के दौरान सांसद ने सुझाव दिया कि मलकेरा, कतरास से महुदा को चालू किया जा सकता है। इस पर आग का खतरा नहीं है। उन्होंने कहा कि पूर्व में भी कतरास से मलकेरा होकर मालगाड़ियां चलती थी और उस रूट पर वैकल्पिक रेलवे की गुंजाइश है। रविवार को धनबाद और दक्षिण पूर्व रेलवे के अधिकारियों द्वारा वैकल्पिक मार्ग को लेकर किए गए निरीक्षण से जुड़े मुद्दे पर भी विस्तृत चर्चा हुई। 1डीजीएमएस के साथ वार्ता करते सांसद रवींद्र पांडे व अन्य ’ जागरणसंसद में उठेगा मामला : पांडेय 1गिरिडीह के सांसद रवींद्र पांडेय ने कहा है कि धनबाद-चंद्रपुरा रेल बंदी का मामला लोकसभा के मानसून सत्र में उठेगा। उन्होंने कहा कि बंदी के लिए पूर्व की कांग्रेस सरकार, बीसीसीएल और डीजीएमएस जिम्मेवार है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से पहले दस साल तक केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी। अगर कांग्रेस सरकार ने गंभीरता से ली होती तो आज बंदी की नौबत नहीं आती। उन्होंने डीजीएमएस को भी कठघरे में खड़ा किया है।प्रार्थना सभा में उमड़ी भीड़ 1कतरासगढ़ स्टेशन पर कतरास विकास मंच के तत्वावधान में आयोजित प्रार्थना सभा में सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। ईश्वर से सरकार को सद्बुद्धि देने की कामना की। नितेश ठक्कर, कैलाश केजरीवाल, हंसमुख ठक्कर, राजू श्रीवास्तव, मो. परवेज, विजय ठक्कर, विनय पासवान, मनोहर गुप्ता, पप्पू साव, जियाउल हक, संजय वर्मा, प्रिया दूबे सहित अन्य शामिल थे।’>>कतरास में पूर्व मंत्री समरेश सिंह ने जनप्रतिनिधियों पर साधा निशाना1’>>किसी जनप्रतिनिधि ने अब तक नहीं ली आंदोलन की सुध1’>>पार्षद डॉ. विनोद गोस्वामी के नेतृत्व में 10 दिनों से कतरास में चल रहा महाधरना 1कतरासगड़ रेलवे स्टेशन पर प्रार्थनासभा में शामिल लोग ’ जागरण
Jul 10 2017 (06:17)  धनबाद-कतरास-महुदा रूट पर टेन चलाने की कवायद (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 307921     
   Tags   Past Edits
Jul 10 2017 (06:17)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by दक्षिण पूर्व रेलवे😍😘😊^~/1421836

Jul 10 2017 (06:17)
Station Tag: Sijua/SJA added by दक्षिण पूर्व रेलवे😍😘😊^~/1421836

Posted by: बिंदिया लगाती तो कांपती थी पलकें माएरी😊^~  1205 news posts
विकल्प की तलाश
34
29
डीसी
लाइन
Click
...
more...
here to enlarge image
जागरण संवाददाता, सिजुआ : वीरान पड़े कतरासगढ़ स्टेशन में टेनों की आवाज फिर सुनाई दे सकती है। धनबाद-चंद्रपुरा रेलवे बंद होने के बाद वैकल्पिक व्यवस्था के तहत ट्रेन परिचालन शुरू कराने को लेकर रेलवे मंत्रलय ने गंभीरता दिखाई है। धनबाद से तेतुलमारी-निचितपुर के अलावा कतरास राजबाड़ी रेल पर परिचालन सुनिश्चित करने की संभावनाओं की तलाश शुरू की गई है। नयी योजना के तहत कतरासगढ़ से मालकेरा होते हुए महुदा तक बंद पड़े रेलवे साइ¨डग से ट्रेन चलाने के विकल्प पर भी मंथन शुरू हो गया है। इसके तहत दक्षिण पूर्व रेलवे के आद्रा एवं धनबाद रेल मंडल के अधिकारियों की टीम रविवार को मालकेरा पहुंची। कतरासगढ़ स्टेशन से मालकेरा होते हुए महुदा तक बंद पड़े साइ¨डग का निरीक्षण किया। वर्षो पुरानी साइ¨डग के आसपास स्थित घरों के साथ-साथ अतिक्रमित भूमि का अवलोकन किया गया। विस्तृत रिपोर्ट रेल मुख्यालय को भेजी जाएगी जिस पर रेलवे बोर्ड की मुहर लगने के बाद ही कार्रवाई की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी। 1 साल पहले चलती थी मालगाड़ी: रेल अधिकारियों ने जिस सेक्शन का निरीक्षण किया उस पर 1988 तक मालगाड़ियां चलती थी। उस वक्त कतरासगढ़-मालकेरा रेलवे चालू था जिसपर बीसीसीएल का कोयला लेकर मालगाड़ियां जाती थी। 1कतरास यार्ड को क्रॉस कर गुजरेगी : रेलवे कर्मचारियों के अनुसार इस प्रोजेक्ट में काफी वक्त लग सकता है पर बंद पड़े बीएनआर को टैक बिछाकर एक बार फिर चालू करना मुमकिन है। धनबाद से तेतुलमारी होकर लिंक से कतरासगढ़ पहुंचने वाली टेनों को महुदा की ओर ले जाने के लिए कतरासगढ़ के यार्ड से क्रॉस बिछाने की आवश्यकता होगी। 1रेलवे और जनप्रतिनिधियों के खिलाफ लोगों में आक्रोश : धनबाद-चंद्रपुरा रेलखंड पर भूमिगत आग के कारण 15 जून से इस रूट पर टेनों का परिचालन बंद है। इसके विरोध में नागरिकों का आक्रोश जनप्रतिनिधियों के खिलाफ भड़क उठा। को पुन: चालू करने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन का दौर जारी है। सरकार व अपने खिलाफ जनाक्रोश को देखते हुए जनप्रतिनिधि भी वैकल्पिक व्यवस्था की जुगत में भिड़ गए हैं। इसी क्रम में बंद पड़े साइ¨डग की जानकारी सांसद को दी गई है। सांसद ने मामले से रेलवे को अवगत कराया जिसके बाद रविवार को अधिकारी यहां आए।’>>वाया मालकेरा महुदा तक बंद रेलवे साइ¨डग से ट्रेन चलाने की कोशिश1’>>धनबाद और दपू रेलवे अधिकारियों की टीम ने किया संयुक्त निरीक्षणप्रस्तावित रूट1’धनबाद-तेतुलमारी रूट पर निचितपुर से लिलोरी मंदिर के बगल में स्थित रेलवे से गुहीबांध कलाली फाटक से कतरासगढ़ स्टेशन तक। 1’ कतरासगढ़ लोको शेड के पास से मालकेरा तक मालगाड़ियों के परिचालन के लिए बिछी हुई है। इस से ट्रेनों का परिचालन शुरू कर इसे महुदा तक ले जाने की योजना है। 1’ महुदा से चंद्रपुरा के लिए दो हैं जिनमें एक भोजुडीह-तालगड़िया तथा दूसरी महुदा से जमुनियाटांड। 1मालकेरा- कतरास बंद पड़ी पुरानी ’ जागरणकिलोमीटर लंबी धनबाद चंद्रपुरा रेल का तलाशा जा रहा विकल्पवर्षो से बंद पड़ी है कतरास महुदा साइडिंग। पहले इस रूट पर चलती थी मालगाड़ी
Jul 06 2017 (04:29)  आग से रेल परिचालन को खतरा नहीं (epaper.jagran.com)
back to top
PoliticsECR/East Central  -  

News Entry# 307525     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: बिंदिया लगाती तो कांपती थी पलकें माएरी😊^~  1205 news posts
ट्रेन चालू होने पर ही बुङोगी दिल की आग: समरेश
पूर्व विधायक ओपी लाल व बियाडा के पूर्व अध्यक्ष विजय झा ने लिया सोनारडीह हॉल्ट का लिया जायजा
Click here to enlarge image
जागरण संवाददता, कतरास : डीसी लाइन बचाओ अभियान के तहत पूर्व विधायक ओपी लाल, बियाडा के पूर्व अध्यक्ष विजय कुमार सहित दर्जन भर प्रबुद्ध जनों ने सोनारडीह हॉल्ट के समीप साउथ
...
more...
गो¨वदपुर इलाके का दौरा किया। डीजीएमएस द्वारा घोषित अग्नि प्रभावित रेल परिक्षेत्र का जायजा लिया। सतह पर जमा पानी को ठंडा पाया। रेल परिक्षेत्र में नंगे पांव भी लोग खड़े हुए लेकिन तापमान का असर नहीं मिला। रेल ट्रैक पर भी तापमान सामान्य मिला। सेवानिवृत्त सेफ्टी बोर्ड के सदस्य रामेश्वर गोप सहित अन्य खनन विशेषज्ञों ने उन्हें बताया कि यहां भूगर्भ की वैसी स्थिति नहीं है कि रेल परिचालन को खतरा हो। 1यदि रेल लाइन के नीचे माइनिंग नहीं हुआ है तो यह बिल्कुल सुरक्षित है। रेल लाइन के नीचे की जमीन मजबूत है। यही वजह है कि इस लाइन पर हजारों मैट्रिक टन कोयला लेकर मालगाड़ी आराम से गुजरती थी। सुरक्षा यदि नहीं रहती तो यहां रेलवे साइ¨डग पर करोड़ों रुपये की लागत से सीएचपी का निर्माण छह पूर्व क्यों कराया गया होता। ऊपरी सतह पर लगे पौधे भी आज विशाल रूप धारण कर चुके हैं। 1पूर्व विधायक लाल ने कहा कि सेंद्रा बासजोड़ा में 2011 में 210 सेंटीग्रेड अधिकतम तापमान पाया गया था, लेकिन उसको नियंत्रित कर प्रबंधन 50 पर लाया है। ठीक उसी प्रकार साउथ गो¨वदपुर में भी प्रबंधन ने आग को पूरी तरह नियंत्रित कर लिया है। यदि वहां ट्रेंच कटिंग हो जाय और उसमें पानी भर दिया जाय तो आग की आशंका पूरी तरह से समाप्त हो जाएगी। 1सरकार द्वारा आग पर नियंत्रण के बजाय रेल सेवा को ही बाधित करना जनता के प्रति घोर अन्याय है। सरकार प्रयास करे तो 100 दिन के अंदर डीसी लाइन परिक्षेत्र से आग का नामोनिशान मिटाया जा सकता है।1बियाडा के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि सरकार में संकल्प शक्ति का अभाव है। आधुनिक विज्ञान के युग में यह छोटी सी चुनौती है। सरकार को विज्ञान का अविलंब सहारा लेना चाहिए। कोयलांचल का पूरा क्षेत्र मानव समाज के लिए सुरक्षित हो सके। उन्होंने कहा कि कोयले पर नजर रहने के कारण वैज्ञानिक पक्ष की अनदेखी की जा रही है। जिसे यहां की जनता कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। इसका खामियाजा सरकार को भुगतना होगा। रामबचन पासवान, शौकत खान, एसके राय सहित कई साथ थे।1प्रधानमंत्री को भेजा पत्र1सिजुआ : गौरी ग्राम विकास समिति ने प्रधानमंत्री को पत्र देकर डीसी लाइन को पुन: चालू करने की मांग की है। डीसी लाइन बंदी से कमजोर वर्ग के लोगों की समस्याएं गिनाते हुए पुन: चालू करने की मांग की है। राकेश त्रिगुनाइत, विजय कुमार रजक, भगीरथ रजवार, संजय कुमार रजवार, शंभु राणा, राजकुमार रजक ने भी हस्ताक्षर किया है।जागरण संवाददता, कतरास : डीसी लाइन बचाओ अभियान के तहत पूर्व विधायक ओपी लाल, बियाडा के पूर्व अध्यक्ष विजय कुमार सहित दर्जन भर प्रबुद्ध जनों ने सोनारडीह हॉल्ट के समीप साउथ गो¨वदपुर इलाके का दौरा किया। डीजीएमएस द्वारा घोषित अग्नि प्रभावित रेल परिक्षेत्र का जायजा लिया। सतह पर जमा पानी को ठंडा पाया। रेल परिक्षेत्र में नंगे पांव भी लोग खड़े हुए लेकिन तापमान का असर नहीं मिला। रेल ट्रैक पर भी तापमान सामान्य मिला। सेवानिवृत्त सेफ्टी बोर्ड के सदस्य रामेश्वर गोप सहित अन्य खनन विशेषज्ञों ने उन्हें बताया कि यहां भूगर्भ की वैसी स्थिति नहीं है कि रेल परिचालन को खतरा हो। 1यदि रेल लाइन के नीचे माइनिंग नहीं हुआ है तो यह बिल्कुल सुरक्षित है। रेल लाइन के नीचे की जमीन मजबूत है। यही वजह है कि इस लाइन पर हजारों मैट्रिक टन कोयला लेकर मालगाड़ी आराम से गुजरती थी। सुरक्षा यदि नहीं रहती तो यहां रेलवे साइ¨डग पर करोड़ों रुपये की लागत से सीएचपी का निर्माण छह पूर्व क्यों कराया गया होता। ऊपरी सतह पर लगे पौधे भी आज विशाल रूप धारण कर चुके हैं। 1पूर्व विधायक लाल ने कहा कि सेंद्रा बासजोड़ा में 2011 में 210 सेंटीग्रेड अधिकतम तापमान पाया गया था, लेकिन उसको नियंत्रित कर प्रबंधन 50 पर लाया है। ठीक उसी प्रकार साउथ गो¨वदपुर में भी प्रबंधन ने आग को पूरी तरह नियंत्रित कर लिया है। यदि वहां ट्रेंच कटिंग हो जाय और उसमें पानी भर दिया जाय तो आग की आशंका पूरी तरह से समाप्त हो जाएगी। 1सरकार द्वारा आग पर नियंत्रण के बजाय रेल सेवा को ही बाधित करना जनता के प्रति घोर अन्याय है। सरकार प्रयास करे तो 100 दिन के अंदर डीसी लाइन परिक्षेत्र से आग का नामोनिशान मिटाया जा सकता है।1बियाडा के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि सरकार में संकल्प शक्ति का अभाव है। आधुनिक विज्ञान के युग में यह छोटी सी चुनौती है। सरकार को विज्ञान का अविलंब सहारा लेना चाहिए। कोयलांचल का पूरा क्षेत्र मानव समाज के लिए सुरक्षित हो सके। उन्होंने कहा कि कोयले पर नजर रहने के कारण वैज्ञानिक पक्ष की अनदेखी की जा रही है। जिसे यहां की जनता कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। इसका खामियाजा सरकार को भुगतना होगा। रामबचन पासवान, शौकत खान, एसके राय सहित कई साथ थे।1प्रधानमंत्री को भेजा पत्र1सिजुआ : गौरी ग्राम विकास समिति ने प्रधानमंत्री को पत्र देकर डीसी लाइन को पुन: चालू करने की मांग की है। डीसी लाइन बंदी से कमजोर वर्ग के लोगों की समस्याएं गिनाते हुए पुन: चालू करने की मांग की है। राकेश त्रिगुनाइत, विजय कुमार रजक, भगीरथ रजवार, संजय कुमार रजवार, शंभु राणा, राजकुमार रजक ने भी हस्ताक्षर किया है।जानकारी देते पूर्व विधायक ओपी लाल, विजय कुमार झा, रामवचन पासवान व शौकत खान’रेल लाइन बचाने सड़क पर उतरा गुजराती समाज 1कतरास : डीसी लाइन बंद किये जाने के विरोध में गुजराती समाज सड़क पर उतर आया। शहर का भ्रमण कर डीसी लाइन चालू करने की आवाज उठाई। लोगों ने कहा कि सरकार ने षडयंत्र के तहत इस लाइन को बंद किया है। इससे लाखों लोगों का रोजगार व कारोबार प्रभावित हुआ है। उन्हें बाहर आने जाने में परेशानी हो रही है। सरकार ने संवेदनहीनता का परिचय दिया है। समाज के लोग स्टेशन रोड गए और वहां महाधरना में शामिल लोगों से मिलकर अपना समर्थन दिया। स्टेशन पर जाकर प्रार्थना की। हंसमुख ठक्कर, महेशभाई वैजानिया, संतोष भाई वैजानिया, कमलेश वैजानिया, हर्षद दोषी, पार्षद विनायक गुप्ता, भालचंद्र जानी, बसंत चावला, दामजी चौहान, किरण चावड़ा, मनोज परमार, संजय चावड़ा, सुरेश चौथालिया, दीपक कुमार, रेखा बेन, अलका चावड़ा, मंजू बेन यादव शामिल थे।कतरास : डीसी लाइन चालू करने की मांग पर स्टेशन रोड में दिए जा रहे महाधरना के पांचवें दिन काफी संख्या में लोगों ने भाग लिया। पूर्व मंत्री समरेश सिंह ने कहा कि यहां के गरीबों के दिल में जो आग लगी है वह रेल लाइन चालू होने पर ही बुङोगी, नही तो इस आग में रेल प्रशासन भी जलेगा। अब आंदोलन सफलता की ओर है। सभी आंदोलनकारी एक मंच पर आकर लड़ें। जनआंदोलन के सामने सरकार को अपना निर्णय वापस लेना होगा। हर हाल में डीसी लाइन चालू करना होगा।1झामुमो नेता मथुरा प्रसाद महतो ने कहा कि सरकार ने कोयलांचल की जनता के साथ अन्याय किया है। सरकार को हर हाल में डीसी लाइन चालू करना होगा। महाधरना पर बैठे डॉ. विनोद गोस्वामी ने कहा कि यदि ट्रेन नहीं मिली तो यहां से कोयला नहीं जाने देंगे। गुजराती समाज व छात्र संघ ने आंदोलन को अपना समर्थन दिया। सुधीर सिंह, डीपी लाला, बलराम हरिजन, अभिषेक सिन्हा, जयराम दास, नागेंद्रनाथ दूबे, रणधीर ठाकुर, अशोक चौरसिया, बबलू मिश्र, संतोष गोप, मनोज तुरी, शौकत खान, कल्पेश वैजानिया, जयप्रकाश रजक, मंजर आलम, सुरेश गुप्ता ने संबोधित किया।कतरासगढ स्टेशन रोड पर महाधरना में शामिल लोग ’ जागरणकतरास : डीसी लाइन चालू करने की मांग पर कतरास विकास मंच द्वारा कतरासगढ़ स्टेशन पर रोजाना की तरह बुधवार की शाम प्रार्थना सभा आयोजित की गई। सैकड़ों लोगों ने प्रार्थना की। केंद्र सरकार व रेल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मंच व गुजराती समाज के अलावा पूर्व विधायक ओपी लाल, विजय कुमार झा, पार्षद विनायक गुप्ता, नीतेश ठक्कर, राजीव श्रीवास्तव, कैलाश केजरीवाल, विजय ठक्कर, सोमेन पाल, पप्� f8wxzqmulm
Page#    Showing 1 to 20 of 38 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.