Full Site Search  
Sat Nov 25, 2017 01:58:00 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Platform Pic; Large Station Board;

KTH/Katrasgarh (2 PFs)
کتراسگڑھ     कतरासगढ़

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 1
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Gaslitand Colliery Bypass, Sijua, Katrasgarh
State: Jharkhand
add/change address
Elevation: 198 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Dhanbad
 
 
KTH/Katrasgarh is in Recent News
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

TNJE/Tentulla 1 km     ANJE/Angarpathra Halt 2 km     MLQ/Malkera Junction 2 km     SJA/Sijua 3 km     SZE/Sonardih 4 km     TSAH/Tata Sijua Halt 4 km     BZS/Bansjora 5 km     TNO/Tundu 5 km     NPJE/Nichitpur 5 km     LYD/Layabad 6 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 79 News Items  next>>
Yesterday (06:03)  दिल्ली में हुआ फैसला, कोयलांचल में आक्रोश जान देकर भी डीसी लाइन बचाने का संकल्प (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 323183     
   Past Edits
Nov 24 2017 (06:03)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by Aaditya^~/1421836
Stations:  Katrasgarh/KTH  
 
 
जागरण संवाददाता, कतरास : डीसी लाइन के मसले पर दिल्ली में लिए गए निर्णय से कतरासवासियों को गहरा झटका लगा है। बंदी से आहत कतरासवासियों ने 15 जून से ही पीएमओ के फैसले के विरुद्ध निचितपुर हाल्ट पर रेल रोको के साथ- साथ जन आंदोलन की शुरूआत की। कतरास विकास मंच के बैनर तले नागरिकों ने प्रार्थना सभा शुरू की, जिसके 154 दिन पूरा हो चुके हैं। रेल दो या जेल दो के नारे के साथ पार्षद डॉ. विनोद गोस्वामी के नेतृत्व में स्टेशन रोड में महाधरना शुरू हुआ, जो 146 दिन से अनवरत जारी है। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने चंद्रपुरा से कतरास तक रेलपटरी पर पदयात्र की थी। इतना ही नहीं कोल इंडिया की जनविरोधी नीति के खिलाफ कोयला भवन के समक्ष घेराव किया था। पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, सांसद संजीव कुमार, विधायक जयप्रकाश भाई पटेल, विधायक अरूप चटर्जी, पूर्व विधायक विनोद सिंह, मथुरा महतो समेत कई...
more...
नेता कतरास आकर आंदोलनकारियों की मांग को जायज ठहराते हु ए पूरा समर्थन देने की घोषणा की थी। प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह, पूर्व गृह मंत्री सुबोधकांत सहाय सहित कई वरीय कांग्रेसी नेता महाधरना स्थल पर पहुंचकर आंदोलनकारियों से मिले और डीसी लाइन के मसले पर अपना समर्थन देते हुए उनकी आवाज को दिल्ली तक पहुंचाने का आश्वासन दिया था। पोलित ब्यूरो की सदस्य पूर्व सांसद वृंदा करात ने भी मामले को दिल्ली तक पहुंचाने का आश्वासन दिया था। डॉ. गोस्वामी के नेतृत्व में कतरास के प्रतिनिधिमंडल के साथ वृंदा करात ने रेलमंत्री सह कोयला मंत्री पीयूष गोयल से मिलकर आवश्यक कदम उठाने की मांग की थी। रेल मंत्री ने सिंफर से जांच कराने व आग बुझाने का मौका दिए जाने के बाद ही कोई कदम उठाने का आश्वासन दिया था। मंत्री का आदेश सिंफर व बीसीसीएल के पास अक्टूबर माह में ही आ गया लेकिन अब तक जांच शुरू नहीं हुई। 10 नवंबर को जब फुलारीटांड से चंद्रपुरा झारग्राम ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ तो लोगों में उम्मीद जिंदा हुई कि अब पूरे डीसी लाइन में रेल का परिचालन पुन: शुरू होगा। एक सप्ताह बाद 18 नवंबर को जब सोनारडीह से झारग्राम का परिचालन शुरू हुआ तो आंदोलनकारी आश्वस्त हो गए कि अब उनकी मांग पूरी होने में देर नही है। अचानक कोयला सचिव द्वारा डीसी लाईन के मसले पर गुरुवार को आपात बैठक बुलाया जाना और रेल लाइन के नीचे से कोयला निकालकर आग बुझाने की प्रक्रिया पूरी करने के बाद रेल का परिचालन होने की खबर आई तो लोग हैरत में पड़ गए। 1आग से खतरा बताकर डीसी लाइन पर 15 जून 2017 से रेल का परिचालन बंद कर दिया था। आंदोलनकारियों का कहना है कि पांच माह के दौरान आग बुझाने की दिशा में कोई पहल नहीं हुई लेकिन इस दौरान डीआरएम, डीजीएमएस व कोयला भवन का कई बार घेराव हो चुका है। विभिन्न सामाजिक संगठन, महिला संगठन, चैंबर ऑफ कामर्स, बार एसोसिएशन, भाजपा को छोड़ अन्य दलों के नेता भी जनतांत्रिक ढंग से आंदोलन कर अपनी आवाज को बुलंद कर चुके है। पूर्व विधायक समरेश सिंह बंदी के दिन से ही आंदोलन चला चुके हैं। पूर्व विधायक ओपी लाल, बियाडा के पूर्व अध्यक्ष विजय कुमार झा रेलवे, डीजीएमएस, बीसीसीएल के आला अधिकारियों के साथ मिलकर डीसी लाइन की मौजूदा स्थिति से अवगत कराते हुए पुन: परिचालन शुरू कराने के लिए प्रयासरत हैं। चार हजार से अधिक लोगों का शपथ पत्र उपायुक्त को सौंपकर आग से डीसी लाइन को कोई खतरा नही होने की बात कही थी। इतना ही नही कुछ होने पर अपनी जिम्मेवारी भी लेने की बात कही थी। जागो संगठन के प्रमुख राकेश रंजन ने 72 घंटे का उपवास रखा था। 1जागरण संवाददाता, कतरास : डीसी लाइन के मसले पर दिल्ली में लिए गए निर्णय से कतरासवासियों को गहरा झटका लगा है। बंदी से आहत कतरासवासियों ने 15 जून से ही पीएमओ के फैसले के विरुद्ध निचितपुर हाल्ट पर रेल रोको के साथ- साथ जन आंदोलन की शुरूआत की। कतरास विकास मंच के बैनर तले नागरिकों ने प्रार्थना सभा शुरू की, जिसके 154 दिन पूरा हो चुके हैं। रेल दो या जेल दो के नारे के साथ पार्षद डॉ. विनोद गोस्वामी के नेतृत्व में स्टेशन रोड में महाधरना शुरू हुआ, जो 146 दिन से अनवरत जारी है। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने चंद्रपुरा से कतरास तक रेलपटरी पर पदयात्र की थी। इतना ही नहीं कोल इंडिया की जनविरोधी नीति के खिलाफ कोयला भवन के समक्ष घेराव किया था। पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, सांसद संजीव कुमार, विधायक जयप्रकाश भाई पटेल, विधायक अरूप चटर्जी, पूर्व विधायक विनोद सिंह, मथुरा महतो समेत कई नेता कतरास आकर आंदोलनकारियों की मांग को जायज ठहराते हु ए पूरा समर्थन देने की घोषणा की थी। प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह, पूर्व गृह मंत्री सुबोधकांत सहाय सहित कई वरीय कांग्रेसी नेता महाधरना स्थल पर पहुंचकर आंदोलनकारियों से मिले और डीसी लाइन के मसले पर अपना समर्थन देते हुए उनकी आवाज को दिल्ली तक पहुंचाने का आश्वासन दिया था। पोलित ब्यूरो की सदस्य पूर्व सांसद वृंदा करात ने भी मामले को दिल्ली तक पहुंचाने का आश्वासन दिया था। डॉ. गोस्वामी के नेतृत्व में कतरास के प्रतिनिधिमंडल के साथ वृंदा करात ने रेलमंत्री सह कोयला मंत्री पीयूष गोयल से मिलकर आवश्यक कदम उठाने की मांग की थी। रेल मंत्री ने सिंफर से जांच कराने व आग बुझाने का मौका दिए जाने के बाद ही कोई कदम उठाने का आश्वासन दिया था। मंत्री का आदेश सिंफर व बीसीसीएल के पास अक्टूबर माह में ही आ गया लेकिन अब तक जांच शुरू नहीं हुई। 10 नवंबर को जब फुलारीटांड से चंद्रपुरा झारग्राम ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ तो लोगों में उम्मीद जिंदा हुई कि अब पूरे डीसी लाइन में रेल का परिचालन पुन: शुरू होगा। एक सप्ताह बाद 18 नवंबर को जब सोनारडीह से झारग्राम का परिचालन शुरू हुआ तो आंदोलनकारी आश्वस्त हो गए कि अब उनकी मांग पूरी होने में देर नही है। अचानक कोयला सचिव द्वारा डीसी लाईन के मसले पर गुरुवार को आपात बैठक बुलाया जाना और रेल लाइन के नीचे से कोयला निकालकर आग बुझाने की प्रक्रिया पूरी करने के बाद रेल का परिचालन होने की खबर आई तो लोग हैरत में पड़ गए। 1आग से खतरा बताकर डीसी लाइन पर 15 जून 2017 से रेल का परिचालन बंद कर दिया था। आंदोलनकारियों का कहना है कि पांच माह के दौरान आग बुझाने की दिशा में कोई पहल नहीं हुई लेकिन इस दौरान डीआरएम, डीजीएमएस व कोयला भवन का कई बार घेराव हो चुका है। विभिन्न सामाजिक संगठन, महिला संगठन, चैंबर ऑफ कामर्स, बार एसोसिएशन, भाजपा को छोड़ अन्य दलों के नेता भी जनतांत्रिक ढंग से आंदोलन कर अपनी आवाज को बुलंद कर चुके है। पूर्व विधायक समरेश सिंह बंदी के दिन से ही आंदोलन चला चुके हैं। पूर्व विधायक ओपी लाल, बियाडा के पूर्व अध्यक्ष विजय कुमार झा रेलवे, डीजीएमएस, बीसीसीएल के आला अधिकारियों के साथ मिलकर डीसी लाइन की मौजूदा स्थिति से अवगत कराते हुए पुन: परिचालन शुरू कराने के लिए प्रयासरत हैं। चार हजार से अधिक लोगों का शपथ पत्र उपायुक्त को सौंपकर आग से डीसी लाइन को कोई खतरा नही होने की बात कही थी। इतना ही नही कुछ होने पर अपनी जिम्मेवारी भी लेने की बात कही थी। जागो संगठन के प्रमुख राकेश रंजन ने 72 घंटे का उपवास रखा था। 1
Nov 23 2017 (08:12)  जान देकर भी बचाएंगे डीसी रेललाइन का अस्तित्व (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 323138     
   Past Edits
Nov 23 2017 (08:12)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by Aaditya^~/1421836
Stations:  Katrasgarh/KTH  
 
 
जागरण संवाददाता, कतरास: डीसी लाइन पर कोयला मंत्रलय के सचिव द्वारा गुरुवार को बुलाई गई आपात बैठक से कतरास कोयलांचल के नागरिक सकते में हैं। लोगों के मन में यह आशंका है कि कहीं डीसी लाइन के नीचे से कोयला निकालने का फरमान ना जारी हो जाय। बंदी के दिन से ही आंदोलनरत कतरास के लोगों ने बुधवार की शाम सामूहिक रूप से कतरासगढ स्टेशन पर पत्रकार वार्ता आयोजित कर साफ शब्दों में कहा 15 जून 2017 के पहले की तरह 26 जोड़ी ट्रेनों का पुन: परिचालन डीसी लाइन पर जब तक शुरू नहीं हो जाता तब किसी कीमत डीसी लाइन को उखाड़ने नहीं दिया जाएगा। चाहे इसके लिए कोई कुर्बानी क्यों न देनी पड़े। यदि सरकार ने 15 जून की तरह आग बुझाने के नाम पर डीसी लाइन उखाड़ने का आदेश जारी किया, तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। क्षेत्र के नागरिक अपनी जायज मांग व अधिकार की रक्षा के...
more...
लिए किसी हद तक जाने को तैयार होंगे। झारखंड के सभी सांसदों से यह लोगों ने अपील की कि वे अपने विशेषाधिकार का प्रयोग कर डीसी लाइन की बंदी से उत्पन्न परेशानी से अवगत कराते हुए लाखों जनता की आवाज को सरकार तक पहुंचाएं। सिंफर की रिपोर्ट आने के पहले कोयला सचिव इस मसले पर कोई निर्णय नहीं लें। उपायुक्त व डीजीएमएस से भी वास्तविकता सरकार के समक्ष रखने का अपील की।जागरण संवाददाता, कतरास: डीसी लाइन पर कोयला मंत्रलय के सचिव द्वारा गुरुवार को बुलाई गई आपात बैठक से कतरास कोयलांचल के नागरिक सकते में हैं। लोगों के मन में यह आशंका है कि कहीं डीसी लाइन के नीचे से कोयला निकालने का फरमान ना जारी हो जाय। बंदी के दिन से ही आंदोलनरत कतरास के लोगों ने बुधवार की शाम सामूहिक रूप से कतरासगढ स्टेशन पर पत्रकार वार्ता आयोजित कर साफ शब्दों में कहा 15 जून 2017 के पहले की तरह 26 जोड़ी ट्रेनों का पुन: परिचालन डीसी लाइन पर जब तक शुरू नहीं हो जाता तब किसी कीमत डीसी लाइन को उखाड़ने नहीं दिया जाएगा। चाहे इसके लिए कोई कुर्बानी क्यों न देनी पड़े। यदि सरकार ने 15 जून की तरह आग बुझाने के नाम पर डीसी लाइन उखाड़ने का आदेश जारी किया, तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। क्षेत्र के नागरिक अपनी जायज मांग व अधिकार की रक्षा के लिए किसी हद तक जाने को तैयार होंगे। झारखंड के सभी सांसदों से यह लोगों ने अपील की कि वे अपने विशेषाधिकार का प्रयोग कर डीसी लाइन की बंदी से उत्पन्न परेशानी से अवगत कराते हुए लाखों जनता की आवाज को सरकार तक पहुंचाएं। सिंफर की रिपोर्ट आने के पहले कोयला सचिव इस मसले पर कोई निर्णय नहीं लें। उपायुक्त व डीजीएमएस से भी वास्तविकता सरकार के समक्ष रखने का अपील की।
Nov 16 2017 (07:21)  सोनारडीह से चलेंगी दो और टेनें (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 322738     
   Past Edits
Nov 16 2017 (07:21)
Station Tag: Sonardih/SZE added by Finally SER Got 2 WAP7 Holding Sheds😍😘^~/1421836

Nov 16 2017 (07:21)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by Finally SER Got 2 WAP7 Holding Sheds😍😘^~/1421836

Nov 16 2017 (07:21)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by Finally SER Got 2 WAP7 Holding Sheds😍😘^~/1421836
 
 
कतरासगढ़ स्टेशन पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा
मरहम बन सोनारडीह पहुंची झारग्राम मेमू, सोनारडीह-चंद्रपुरा के बीच डीसी पैसेंजर
सोनारडीह से 2.40 पर खुलेगी झारग्राम पैसेंजर
15 दिनों में कतरास तक ट्रेन शुरू नहीं हुई तो करेंगे उग्र आंदोलन : गोस्वामी
Click
...
more...
here to enlarge image
संवाद सहयोगी, कतरास-नावागढ़ : झारग्राम से फुलवारटांड़ के बीच पांच दिन पहले चली मेमू के बुधवार को सोनारडीह पहुंचते ही आसपास के लोग दौड़ पड़े। उन्होंने चालक का स्वागत कर हुए मिठाईयां बांटी। 15 जून से डीसी लाइन बंद होने के बाद अरसे बाद यहां टेन पहुंची थी जिसे देखकर स्थानीय लोगों के चेहरे पर मुस्कान छा गई। 1रेलवे के विभागीय अधिकारियों के अनुसार सोनारडीह से दो और ट्रेनें चलाने की कवायद चल ही है। सोनारडीह से चंद्रपुरा के बीच डीसी पैसेंजर और सोनारडीह से रांची के लिये ईएमयू चलाने का प्रयास किया जा रहा है। सोनारडीह से स्टेशन मास्टर लखीराम मुंडा ने हरी झंडी दिखाकर झारग्राम मेमू को रवाना किया। बुदौरा और टुंडू हाल्ट के लोगों ने भी वहां टेन पहुंचने पर खुशी जताई। 1..और सेल्फी लेने को मची होड़: सोनारडीह में 154 दिनों के बाद आई टेन के साथ सेल्फी लेने वालों की होड़ मची रही। हर वर्ग के लोग मेमू के साथ सेल्फी लेकर यादगार पल को मोबाइल में कैद करने को उत्सूक दिखे। 1कतरास के लोगों को तय करना होगा चार किमी का फासला : कतरासगढ़ स्टेशन से सोनारडीह की दूरी लगभग चार किमी है। यहां के वाशिंदों बोकारो, जमशेदपुर सहित अन्य स्थानों तक पहुंचने के लिए यह फासला तय करना होगा।खास बातें 1’ धनबाद से चंद्रपुरा की दूरी 34 किमी1’ धनबाद से कुसुंडा रेलखंड की लंबाई 3.5 किमी1’ सोनारडीह से चंद्रपुरा की दूरी 17 किमी1’ सोनारडीह तक टेन के विस्तार से 20.5 किमी तक परिचालन शुरू1’ अब केवल 13.5 किमी रेलखंड पर परिचालन को तलाशना होगा विकल्पसोनारडीह हॉल्ट पर ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते गार्ड, बगल में स्थानीय लोग ’धनबाद : झारग्राम पैसेंजर को सोनारडीह तक बढ़ाए जाने के बाद इस ट्रेन का टाइम टेबल जारी कर दिया गया है। यह ट्रेन सोनारडीह से दोपहर दो बजकर चालीस मिनट पर खुलेगी और फुलवारटांड़ सवा तीन बजे पहुंचेगी। इसके पहले झारग्राम से यह ट्रेन सवा एक बजे सोनारडीह पहुंचेगी। 103307 सोनारडीह-फुलवारटांड़1सोनारडीह दोपहर 2.401टुंडू दोपहर 2.48 से 2.491बुदोरा दोपहर 2.54 से 2.551फुलवारटांड़ दोपहर 3.15103308 फुलवारटांड़-सोनारडीह1फुलवारटांड़ दोपहर 1.151बुदोरा दोपहर 1.19 से 1.201टुंडू दोपहर 1.24 से 1.251सोनारडीह दोपहर 1.151डीसी लाइन के सुरक्षित रेलखंड पर यात्री टेन चलाने की लगातार कोशिश की जा रही थी। सोनारडीह तक सफल ट्रायल के बाद रेलवे बोर्ड ने विस्तार की अनुमति दे दी है। उम्मीद है इससे कतरास और आसपास की आबादी को थोड़ी राहत मिलेगी।1मनोज कृष्ण अखौरी, डीआरएमकतरास: डीसी रेललाइन चालू कराने की मांग को लेकर स्टेशन रोड में चल रहे महाधरना को संबोधित करते हुए नेतृत्वकर्ता सह पार्षद डॉ. विनोद गोस्वामी ने कहा कि 15 दिनों के अंदर कतरासगढ़ स्टेशन तक ट्रेन परिचालन शुरू नहीं किया गया तो जोरदार आंदोलन किया जाएगा। गोस्वामी ने कहा कि सोनारडीह से ट्रेन चलना जनता की दूसरी जीत है। कहा कि रेल प्रबंधन 15 दिनों के अंदर कतरास से झारग्राम मेमू, डीसी ट्रेन तथा इंटरसिटी एक्सप्रेस चलवाने का काम करे अन्यथा जोरदार आंदोलन किया जाएगा। कहा कि अब वह समय आ गया है धनबाद, बोकारो व गिरिडीह के जनप्रतिनिधि सहयोग करें ताकि ट्रेन चालू हो सके। महाधरना में बलिराम हरिजन, नरेश दास, सोनू राय, किसन पंडित, प्रभात केड़िया, मो. सलीम, शकील अहमद, अनवर अंसारी, नुरुल अंसारी, राजेन्द्र प्रसाद, अजय कुमार सिंह, अमरेंद्र नाथ गोस्वामी, विजय कुमार, उदय रवानी आदि मौजूद थे।कतरास: डीसी रेललाइन पर कतरास तक ट्ेन चलाने की मांग पर कतरासगढ़ स्टेशन परिसर में बुधवार की संध्या सर्वधर्म प्रार्थनासभा हुई। सभा में कतरास विकास मंच के अध्यक्ष नीतेश ठक्कर, कैलाश केजरीवाल सहित फिरोज खान, एके सिंह, कमला सिंह, धर्मेन्द्र कुमार, दिनेश कुमार, सन्नी कुमार, विजय कुमार, राहुल कुमार, सूरज कुमार, सुरेश भुइयां, रामचंद्र भगत, राजेंद्र साव, महेश सिंह, नायक खटीक, पप्पू सरदार, रविन्द्र महतो, उमाशंकर सिंह, पारस राय, बासदेव प्रसाद, आजाद प्रसाद सिंह, अर¨वद कुमार झा, शिवराखन सिंह, नरेश प्रसाद, लखन भुवालका, चिंटू कुमार, अमित कुमार, मिथिलेश कुमार, नीतीश वर्मा, अभय पाठक, दामोदर प्रसाद, रंजीत कुमार, ज्योति साव, बिहारी सिंह, सुधीर मालाकार, विक्की साव, महादेव कालिंदी, प्रदीप शर्मा, गोलू कुमार, डबलू हाड़ी आदि शामिल थे।
Nov 12 2017 (08:06)  डीसी रेललाइन पर पूर्व की तरह चलाई जाएं यात्री ट्रेनें (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 322539     
   Past Edits
Nov 12 2017 (08:06)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by Dhanbad Delhi Humsafar Express From New Year😍😘^~/1421836
Stations:  Katrasgarh/KTH  
 
 
कतरास स्टेशन पर प्रार्थनासभा 1कतरास: डीसी रेल लाइन पुन: चालू कराने की मांग को लेकर कतरासगढ़ स्टेशन परिसर में शनिवार की संध्या सर्वधर्म प्रार्थना सभा हुई। धनबाद - चंद्रपुरा रेलखंड में परिचालन के लिए लोगों ने प्रार्थना की। कतरास विकास मंच के बैनर तले आयोजित प्रार्थना सभा में कैलाश केजरीवाल, मणि शर्मा, राजेश कुमार रवि, डॉ पुष्पेश कुमार इंदु आदि थे।
संस, कतरास: डीसी रेललाइन पर ट्रेन को चालू करने की मांग को लेकर कतरास स्टेशन रोड में चल रहे महाधरना के नेतृत्वकर्ता पार्षद डॉ. विनोद गोस्वामी ने कहा कि जब तक पहले की भांति इस रेल मार्ग में सभी 26 जोड़ी यात्री ट्रेनों का परिचालन शुरू नहीं हो जाता तबतक आंदोलन जारी रहेगा। गोस्वामी ने कहा कि कोयलांचल की जनता को
...
more...
निराश होने की आवश्यकता नहीं। अपने अधिकार के लिए हमें लड़ना होगा।1 बीसीसीएल, डीजीएमएस, रेलवे, सिंफर से सहयोग की अपील की। करते हुए कहा कि जल्द से जल्द स्थल का जांच कर सोनारडीह से कतरास-धनबाद तक ट्रेन चलाने की एनओसी दे। सच्चिदानद सिंह ने कहा कि तत्काल कतरासगढ़ स्टेशन से डीसी, इंटरसिटी, झारग्राम शीघ्र चालू करे और जांच कर धनबाद से चंद्रपुरा तक रेललाइन चालू करे। नरेश दास, शकील अहमद, शिवेश विश्वकर्मा, बलराम हरिजन, किशन पंडित, नुरुल अंसारी, अजय सिंह, सोनू राय आदि थे।
Nov 11 2017 (04:51)  फुलवारटांड़ स्टेशन से ट्रेन चलना पहली जीत (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 322492     
   Past Edits
Nov 11 2017 (04:51)
Station Tag: Phulwartanr/PLJE added by Waiting For 2Dot0 Starring Rajni And Akki😍😘^~/1421836

Nov 11 2017 (04:51)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by Waiting For 2Dot0 Starring Rajni And Akki😍😘^~/1421836
Stations:  Phulwartanr/PLJE   Katrasgarh/KTH  
 
 
कतरास तक ट्रेन चलाने को लेकर प्रार्थना सभा
Click here to enlarge image
जागरण संवाददाता, कतरास: डीसी लाइन बंदी को लेकर कतरासगढ़ स्टेशन रोड में पिछले 133 दिनों से महाधरना जारी है। डॉ. विनोद गोस्वामी के नेतृत्व में चल रहे महाधरना स्थल पर पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेने, पूर्व सांसद वृंदा करात, सांसद संजीव कुमार, विधायक जयप्रकाश पटेल, विधायक अरूप चटर्जी, पूर्व विधायक ओपीलाल, पूर्व विधायक मथुरा प्रसाद महतो, कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह, पूर्व मंत्री सुबोधकांत सहाय, सुखदेव भगत के अलावा कई दिग्गज नेता पहुंच कर अपना समर्थन देते हुए डीसी लाइन
...
more...
को चालू करने का आवाज बुलंद किया था। सामाजिक संगठन व स्वयंसेवी संस्थाओं के अलावा जिला बार एसोसिएशन, चैंबर ऑफ कॉमर्स के लोगों ने भी महाधरना को समर्थन दिया था। महाधरना मंच का एक प्रतिनिधिमंडल रेल मंत्री पीयूष गोयल से भी मिला था तथा डीआरएम का घेराव किया था। डीजीएमएस से भी वार्ता की थी। गोस्वामी ने कहा जन आंदोलन के चलते धनबाद से चंद्रपुरा 34 किमी मार्ग पर 20 किमी दूरी तक ट्रेन का परिचालन शुरू हुआ है। यह आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक धनबाद से चंद्रपुरा तक पूर्व की तरह ट्रेन का परिचालन शुरू नहीं हो जाता। फुलारीटांड़ व कुसुंडा से ट्रेन परिचालन शुरू होना पहली जीत है। दूसरी जीत तब होगी जब सोनारडीह से ट्रेन का परिचालन शुरू हो जाएगा। गोस्वामी ने कहा कि आंदोलन को समर्थन देने वाले सभी लोगों से भविष्य में भी मदद की उम्मीद है। डीजीएमएस ने एनओसी देकर यात्री ट्रेन चलाने का मार्ग प्रशस्त कर दिया है अब रेल प्रबंधन सोनारडीह से ट्रेन चलवाने का काम करे। साउथ गो¨वदपुर में अग्नि प्रभावित स्थल का जांच कर कतरास में भी यात्री ट्रेन चलवाने का काम करे। महाधरना में अजय कुमार सिंह, ललित कुमार सिंह, नरेश कुमार दास, प्रभात केड़िया, रामु शर्मा, ललिता देवी, गुड़िया खातून, मनोज तुरी, संतोष गोप, उत्तम बाउरी, बलराम हरिजन आदि थे।जागरण संवाददाता, कतरास: डीसी लाइन बंदी को लेकर कतरासगढ़ स्टेशन रोड में पिछले 133 दिनों से महाधरना जारी है। डॉ. विनोद गोस्वामी के नेतृत्व में चल रहे महाधरना स्थल पर पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेने, पूर्व सांसद वृंदा करात, सांसद संजीव कुमार, विधायक जयप्रकाश पटेल, विधायक अरूप चटर्जी, पूर्व विधायक ओपीलाल, पूर्व विधायक मथुरा प्रसाद महतो, कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह, पूर्व मंत्री सुबोधकांत सहाय, सुखदेव भगत के अलावा कई दिग्गज नेता पहुंच कर अपना समर्थन देते हुए डीसी लाइन को चालू करने का आवाज बुलंद किया था। सामाजिक संगठन व स्वयंसेवी संस्थाओं के अलावा जिला बार एसोसिएशन, चैंबर ऑफ कॉमर्स के लोगों ने भी महाधरना को समर्थन दिया था। महाधरना मंच का एक प्रतिनिधिमंडल रेल मंत्री पीयूष गोयल से भी मिला था तथा डीआरएम का घेराव किया था। डीजीएमएस से भी वार्ता की थी। गोस्वामी ने कहा जन आंदोलन के चलते धनबाद से चंद्रपुरा 34 किमी मार्ग पर 20 किमी दूरी तक ट्रेन का परिचालन शुरू हुआ है। यह आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक धनबाद से चंद्रपुरा तक पूर्व की तरह ट्रेन का परिचालन शुरू नहीं हो जाता। फुलारीटांड़ व कुसुंडा से ट्रेन परिचालन शुरू होना पहली जीत है। दूसरी जीत तब होगी जब सोनारडीह से ट्रेन का परिचालन शुरू हो जाएगा। गोस्वामी ने कहा कि आंदोलन को समर्थन देने वाले सभी लोगों से भविष्य में भी मदद की उम्मीद है। डीजीएमएस ने एनओसी देकर यात्री ट्रेन चलाने का मार्ग प्रशस्त कर दिया है अब रेल प्रबंधन सोनारडीह से ट्रेन चलवाने का काम करे। साउथ गो¨वदपुर में अग्नि प्रभावित स्थल का जांच कर कतरास में भी यात्री ट्रेन चलवाने का काम करे। महाधरना में अजय कुमार सिंह, ललित कुमार सिंह, नरेश कुमार दास, प्रभात केड़िया, रामु शर्मा, ललिता देवी, गुड़िया खातून, मनोज तुरी, संतोष गोप, उत्तम बाउरी, बलराम हरिजन आदि थे।कतरास स्टेशन रोड पर महाधरना पर बैठे डॉ. विनोद गोस्वामी व अन्यकतरासगढ़ स्टेशन पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा में शामिल प्रबुद्ध लोगजागरण संवाददाता, कतरास: डीसी लाइन बंदी के बाद कतरास विकास मंच के तत्वावधान में 141 दिनों से कतरासगढ़ स्टेशन पर प्रार्थनासभा का आयोजन किया जा रहा है। रोज संध्या में सभी धर्म के लोग इसमें शामिल होकर रेललाइन चालू कराने की मांग कर रहे हैं।शुक्रवार की शाम आयोजित प्रार्थनासभा के बाद रेल बंदी के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई। मंच के अध्यक्ष नीतेश ठक्कर ने कहा कि हरी झंडी दिखाने वाले नाटक करना छोड़ दें तथा डीसी रेललाइन पर चालू कराने की दिशा में पहल शुरू करे। उन्होंने सांसद व विधायक से इस्तीफा देने की मांग करते हुए कहा कि जनता 2019 का इंतजार नहीं करना चाहती। क्रांतिकारी जनप्रतिनिधि चाहिए ताकि यहां की समस्या को सदन में उठा सके। जब कुसुंडा व फुलारीटांड़ तक ट्रेन का परिचालन हो सकता है तो कतरासगढ़ स्टेशन तक क्यों नहीं? मंच के कैलाश केजरीवाल, पंकज गुप्ता, अशोक पाठक, रंजीत कुमार, प्रकाश साव, राजेंद्र साव, राजेश गुप्ता, गणोश पासवान, मो. फिरोज, सुरेश रवानी, मुनीर अहमद, सुधीर मालाकार, कमला सिंह, एके सिंह, महादेव कालिंदी, पप्पू सरदार, गोपाल सिंह, मनीष कुमार, नागेन्द्र कुमार, रविन्द्र महतो, मिथलेश शर्मा, चिंटू कुमार, अमन कुमार, अभय पाठक, मो. सोहेल, राजेन्द्र अग्रवाल, बिहारी सिंह, शिवराखन सिंह, मो. इम्तियाज़, अंकित कुमार, जोगी साव, राहुल कुमार आदि मौजूद थे।
Page#    Showing 1 to 20 of 79 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.