Full Site Search  
Fri Nov 17, 2017 22:47:55 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;


R/Raipur Junction (7 PFs)
     रायपुर जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 7
Number of Halting Trains: 151
Number of Originating Trains: 19
Number of Terminating Trains: 20
Station Road, Raipur
State: Chhattisgarh
Elevation: 297 m above sea level
Zone: SECR/South East Central
Division: Raipur
 
 
18 Travel Tips
No Recent News for R/Raipur Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 3.9/5 (178 votes)
cleanliness - good (23)
porters/escalators - good (23)
food - good (23)
transportation - excellent (22)
lodging - good (21)
railfanning - good (22)
sightseeing - good (21)
safety - good (23)

Nearby Stations

WRC/WRS Colony PH 2 km     RCT/Raipur City 2 km     RVH/Raipur R-V Block Hut 2 km     URK/Urkura 4 km     SRWN/Saraswatinagar 4 km     TBD/Telibandha 5 km     SB04/Mana 11 km     MDH/Mandhar 12 km     KMI/Kumhari 13 km     BOV/Bhatgaon 15 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 241 News Items  next>>
Nov 14 2017 (12:13)  ट्रेन अलर्ट... जनरल काउंटर से 31 मार्च तक मिलेंगे स्लीपर के टिकट (m.bhaskar.com)
back to top
IR AffairsSECR/South East Central  -  

News Entry# 322661     
   Past Edits
Nov 14 2017 (12:13)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Dhanbad Delhi Humsafar Express From New Year😍😘^~/1421836
Stations:  Raipur Junction/R  
 
 
रायपुर| रेलवे ने जनरल काउंटर से अनारक्षित स्लीपर टिकट लेने की अवधि 31 मार्च तक बढ़ा दी है। यात्री रायपुर के अलावा दुर्ग, भिलाई पावर हाउस, तिल्दा, भाटापारा से जरूरी ट्रेनों के लिए स्लीपर टिकट ले सकेंगे। यह सुविधा रायपुर जोन के स्टेशनों में उपलब्ध कराई गई है। इसका फायदा यह होता है कि यात्री जनरल बोगी के बजाय स्लीपर में बैठ सकते हैं।
Nov 14 2017 (12:10)  यात्रियों की भीड़ के हिसाब से स्टेशनों का होगा पुनर्विकास- रेलमंत्री (mnaidunia.jagran.com)
back to top
IR AffairsSECR/South East Central  -  

News Entry# 322660     
   Past Edits
Nov 14 2017 (12:10)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Dhanbad Delhi Humsafar Express From New Year😍😘^~/1421836
Stations:  Raipur Junction/R  
 
 
00 रेल अफसरों से रेलमंत्री गोयल ने कहा- संरक्षा से जुड़े किसी भी कार्य के लिए नहीं है फंड की कमी रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि रेलमंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को रेल अफसरों के साथ अहम बैठक में यात्रियों की भीड़ बढ़ने के हिसाब से रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास करने की बात कही। उन्होंने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के अंतर्गत पर्यटन की दृष्टि से स्टेशन
00 रेल अफसरों से रेलमंत्री गोयल ने कहा- संरक्षा से जुड़े किसी भी कार्य के लिए नहीं है फंड की कमीरायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
रेलमंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को
...
more...
रेल अफसरों के साथ अहम बैठक में यात्रियों की भीड़ बढ़ने के हिसाब से रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास करने की बात कही। उन्होंने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के अंतर्गत पर्यटन की दृष्टि से स्टेशनों का विस्तार करने योजनाएं बनाने के बारे में भी कहा। रेलमंत्री, अफसरों से बोले कि संरक्षा के क्षेत्र में किसी भी तरह कार्य में कमी नहीं होनी चाहिए। रेलवे के पास फंड की कोई कमी नहीं है।नईदुनिया के फोरम कार्यक्रम में शामिल होने के बाद रेलमंत्री गोयल मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के निवास पहुंचे थे। यहां रेल अफसरों के साथ बैठक लेकर आवश्यक बिंदुओं में चर्चा की। प्राथमिकता के आधार पर संरक्षा कार्यों के लिए तेजी दिखाने कहा। उन्होंने यह भी कहा कि मानवयुक्त रेलवे क्रॉसिंग पर रोड ओवर ब्रिज एवं रोड अंडर ब्रिज के बड़े प्लान बनाए गए हैं। रेल मंडलों में इसका काम भी शुरू हो चुका है, इसमें तेजी लाकर जल्द से जल्द काम पूरा करने की जरूरत है। हर एक अफसरों की भागीदारी तय होनी चाहिए, ताकि लोगों को जल्द से जल्द इसका लाभ मिल सके। बैठक में रेलवे के वरिष्ठ अफसर शामिल रहे।
स्वच्छतम जोन पर दी बधाई
रेलमंत्री गोयल ने सर्वप्रथम क्वालिटी काउंसील ऑफ इंडिया के द्वारा किए गए थर्ड पार्टी स्वतंत्र सर्वे में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे को स्वच्छतम जोन चुने जाने पर बधाई दी। छोटा जोन होने के बावजूद माल ढुलाई एवं भारतीय रेलवे की अर्थव्यवस्था में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के द्वारा 16 प्रतिशत महत्वपूर्ण योगदान देने अधिकारियों एवं कर्मचारियों की सराहना की।
पहली बैठक में व्यवस्था से नाराज
रेलवे के कार्य निष्पादन की समीक्षा बैठक में रेलमंत्री गोयल अफसरों की व्यवस्था को लेकर नाराज हुए। सूत्रों के मुताबिक कार्य निष्पादन की समीक्षा रिपोर्ट पेश करते वक्त प्रोजेक्टर में ही प्रजेंटेशन गड़बड़ा गया। इससे रेलमंत्री नाराजगी जताई। बताया गया, एसईसीएल के साथ संयुक्त रूप से एक निजी होटल में बैठक आयोजित हुई। रेल अफसरों ने जोन आय, यात्री और माल यातायात, वित्तीय निष्पादन, संरक्षा, यात्री सुविधाओं, स्वच्छता तथा छत्तीसगढ़ राज्य में चल रहे निर्माण परियोजनाओं की रिपोर्ट बनाई थी।
एनजीटी की रुकावटों के लिए मांगी रिपोर्ट
रेलवे के अहम परियोजनाओं में भूमि अधिग्रहण एवं नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की ओर से आने वाली रुकावटों के संबंध में रेलमंत्री ने रेलमंडल से रिपोर्ट मांगी। उन्होंने किसी भी तरह की रूकावटों को दूर कर, कार्य की गति में तेजी लाने कहा। साथ ही रेलवे के पास मौजूद तकनीकों का बेहतर ढंग से इस्तेमाल कर निर्माण कार्य पूरी करने की बात कही।
13 मनीष 03, 8.57 बजे
सं. आरकेडी
Oct 26 2017 (11:05)  01 नवम्बर, 2017 से लागू होने वाली नई रेलवे समय-सारणी की कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां (www.secr.indianrailways.gov.in)
back to top
Other NewsSECR/South East Central  -  IR Press Release  

News Entry# 320890   Blog Entry# 2588014     
   Past Edits
Oct 26 2017 (11:05)
Station Tag: Gondia Junction/G added by The great shaktipunj express~/1769309

Oct 26 2017 (11:05)
Station Tag: Durg Junction/DURG added by The great shaktipunj express~/1769309

Oct 26 2017 (11:05)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by The great shaktipunj express~/1769309

Oct 26 2017 (11:05)
Station Tag: Raipur Junction/R added by The great shaktipunj express~/1769309
 
 
01 नवम्बर, 2017 से लागू होने वाली नई रेलवे समय-सारणी की कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

7 posts - Thu Oct 26, 2017 - are hidden. Click to open.

2 posts - Sat Oct 28, 2017 - are hidden. Click to open.

381 views
Nov 09 2017 (01:11)
Surjit Basu   66 blog posts
Re# 2588014-10            Tags   Past Edits
IR TAAG have full schedule for SRC-JBP Humsafar, and it is having more stoppages in it, just like the Spl., however SRC-Pune stoppages will be notified later.
Oct 23 2017 (11:19)  ट्रेन अलर्ट... कई ट्रेनों के स्लीपर में भीड़, अतिरिक्त कोच सिर्फ एसी में (m.bhaskar.com)
back to top
IR AffairsSECR/South East Central  -  

News Entry# 320587     
   Past Edits
Oct 23 2017 (11:19)
Station Tag: Raipur Junction/R added by 9 Days Left For TAAG 2017 2018😍😊^~/1421836

Oct 23 2017 (11:19)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by 9 Days Left For TAAG 2017 2018😍😊^~/1421836
 
 
ट्रेन अलर्ट... कई ट्रेनों के स्लीपर में भीड़, अतिरिक्त कोच सिर्फ एसी में
रायपुर | छठ महापर्व में यूपी-बिहार और झारखण्ड जाने वाली ट्रेनें पूरी तरह से पैक चल रही हैं। साउथ बिहार, सारनाथ, गोंदिया, बेतवा, बिलासपुर-पटना, दरभंगा-सिकंदराबाद एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट ढाई सौ के पार हो गया है। सबसे अधिक दिक्कत स्लीपर क्लास के यात्रियों को हो रही है। लेकिन रेलवे अपनी कमाई बढ़ाने के चक्कर में अतिरिक्त एसी कोच की सुविधा यात्रियों को दे रहा है। दुर्ग से राजेंद्र नगर जाने वाली साउथ बिहार एक्सप्रेस के स्लीपर कोच में करीब पौने चार सौ की वेटिंग पहुंच गई है, लेकिन इस ट्रेन में सोमवार से एसी कोच जोड़ने का फैसला हुआ है।
इस
...
more...
ट्रेन में एसी-2 सह एसी-3 क्लास के अतिरिक्त कोच जोड़े गए हैं। स्लीपर क्लास में बढ़ती प्रतीक्षा सूची के बाद भी रेलवे ने अतिरिक्त कोच की सुविधा देने की योजना नहीं बनाई है। इसी तरह सारनाथ एक्सप्रेस और सिकंदराबाद के स्लीपर क्लास में वेटिंग डेढ़ सौ से अधिक है। लेकिन इन ट्रेनों में कोच जोड़ने पर अभी रेलवे विचार ही कर रहा है। हालांकि रेलवे अफसरों ने बताया कि ट्रेनों की वेटिंग पर नजर रखी जा रही है। त्योहारी भीड़ को देखते हुए स्लीपर कोच लगाए जाएंगे। बिलासपुर-पटना एक्सप्रेस में भी अतिरिक्त कोच की जरूरत है। यात्रियों को वेटिंग टिकट कंफर्म होने का इंतजार है।
Oct 23 2017 (11:17)  धीमी, रुक-रुककर चलने वाली तीन बड़ी ट्रेनों का ट्रैवल टाइम घटेगा तीन घंटे तक (m.bhaskar.com)
back to top
IR AffairsSECR/South East Central  -  

News Entry# 320586     
   Past Edits
Oct 23 2017 (11:17)
Station Tag: Raipur Junction/R added by 9 Days Left For TAAG 2017 2018😍😊^~/1421836

Oct 23 2017 (11:17)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by 9 Days Left For TAAG 2017 2018😍😊^~/1421836
 
 
रायपुर और बिलासपुर रेल मंडल की तीन मेल ट्रेनों को सुपरफास्ट करने की तैयारी है। इनमें 40 घंटे में अमृतसर पहुंचने वाली छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस भी है। रेल मंत्रालय देशभर की करीब 500 ऐसी ट्रेनों का ट्रैवल टाइम कम करने जा रहा है। छत्तीसगढ़ के अलावा दुर्ग से छूटने वाली दो मेल ट्रेनें भी इस लिस्ट में हैं। जल्द ही ये ट्रेनें 80 की जगह 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ने लगेंगी।
बिलासपुर से अमृतसर तक जाने वाली छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस सबसे लंबी रूट की ट्रेन है। रायपुर से भोपाल होते हुए अमृतसर तक जाने में यह ट्रेन 40 घंटे से भी अधिक समय लेती है। इसके बाद सारनाथ और साउथ बिहार एक्सप्रेस अंतिम स्टेशन तक पहुंचाने में क्रमश: 24 से
...
more...
30 घंटे लेती है। इन तीनों ही ट्रेनों की जबरदस्त डिमांड है। त्योहार हों या आम दिन, इन ट्रेनों में काफी भीड़ रहती है। यात्रियों को सुविधा देने के लिहाज से सबसे पहले इन्हीं ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने पर विचार चल रहा है। वर्तमान में ये ट्रेनें अधिकतम 80 किमी प्रति घंटे की गति से दौड़ती हैं, लेकिन रेलवे इसे 100 किमी से अधिक करने की तैयारी में है। सुपरफास्ट का दर्जा मिलने के बाद इन ट्रेनों का स्टॉपेज तो कम होगा ही, इनमें सुविधाएं भी बढ़ेंगी। रेलवे की एक तकनीकी टीम इस पर काम कर रही है। अफसरों के मुताबिक आने वाले दिनों में बिलासपुर जोन के कई ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाई जा सकती है। इनकी रफ्तार क्या होगी, इस बारे में रेलवे बोर्ड निर्देश जारी करेगा। अत्याधुनिक तकनीक से लैस एलएचबी कोच भी इसी तैयारी का हिस्सा है। लंबी दूरी की ट्रेनों के पुराने कोच बदले जाएंगे और फिर एलएचबी लगाने के बाद इनकी रफ्तार बढ़ाई जाएगी।
औसत रफ्तार भी 80 से बढ़ाकर 100 िकमी प्रतिघंटा करने की तैयारी
ट्रेनों की गति बढ़ाने के लिए सबसे पहले ट्रैवल-टाइम में 15 मिनट से 2 घंटे तक की कटौती होगी। इसके लिए ट्रेनों के कुछ ऐसे स्टॉपेज को समाप्त किया जाएगा, जहां यात्रियों की संख्या कम है। बिलासपुर-अमृतसर एक्सप्रेस 2012 किलोमीटर की दूरी तय करती है। इस बीच 85 स्टेशनों पर रुकती है। दुर्ग से छपरा के बीच चलने वाली सारनाथ एक्सप्रेस 1083 किलोमीटर की दूरी तय करती है और 45 स्टेशनों पर रुकती है। इसी तरह दुर्ग से राजेंद्र नगर तक जाने वाली साउथ बिहार एक्सप्रेस का स्टॉपेज 51 स्टेशनों पर है। यह ट्रेन 1109 किलोमीटर की दूरी तय करती है। इन तीनों ही ट्रेनों का स्टॉपेज कम होने और रफ्तार बढ़ने के बाद यात्रियों का काफी वक्त बचेगा।
नया टाइम-टेबल 1 नवंबर से
रेलवे जल्द ही ट्रेनों का टाइम-टेबल अपडेट करेगा। इसे 1 नवंबर से लागू करने की तैयारी चल रही है। नए टाइम-टेबल में प्रत्येक रेल मंडल को रख-रखाव कार्यों के लिए दो से चार घंटे दिए जाएंगे। टाइम मैनेज करने पर भी काम हो रहा है। ऐसी ट्रेन जो वापसी के लिए कहीं इंतजार कर रही हो, उसका इस्तेमाल इस अवधि में किया जा सकता है। नए टाइम-टेबल में करीब 50 ऐसी ट्रेनें इसी तरह से चलेंगी। रायपुर मंडल की ट्रेनों के समय में भी फेरबदल संभव है।
तीसरी लाइन पर 140 की रफ्तार
बिलासपुर से रायपुर होकर दुर्ग तक 140 किमी की तीसरी लाइन तैयार होने के बाद अब इस पर ट्रेनें चलाई जाने लगी हैं। अभी इस पर ट्रेनों की अधिकतम स्पीड 90 से 100 किमी प्रति घंटा है, लेकिन तीसरी लाइन बनने के बाद ट्रेनों की रफ्तार बढ़ सकती है। इस रूट पर कुछ ट्रेनों को हाईस्पीड करने के लिए अब बोर्ड से निर्देश मिलने का इंतजार है। माना जा रहा है कि महीनेभर के भीतर बोर्ड से अनुमति मिल जाएगी और तीसरी लाइन पर कुछ ट्रेनें इसी साल के अंत तक 130-140 की स्पीड से चलने लगेंगी।
नया टाइम-टेबल 1 नवंबर से
रेलवे जल्द ही ट्रेनों का टाइम-टेबल अपडेट करेगा। इसे 1 नवंबर से लागू करने की तैयारी चल रही है। नए टाइम-टेबल में प्रत्येक रेल मंडल को रख-रखाव कार्यों के लिए दो से चार घंटे दिए जाएंगे। टाइम मैनेज करने पर भी काम हो रहा है। ऐसी ट्रेन जो वापसी के लिए कहीं इंतजार कर रही हो, उसका इस्तेमाल इस अवधि में किया जा सकता है। नए टाइम-टेबल में करीब 50 ऐसी ट्रेनें इसी तरह से चलेंगी। रायपुर मंडल की ट्रेनों के समय में भी फेरबदल संभव है।
तीसरी लाइन पर 140 की रफ्तार
बिलासपुर से रायपुर होकर दुर्ग तक 140 किमी की तीसरी लाइन तैयार होने के बाद अब इस पर ट्रेनें चलाई जाने लगी हैं। अभी इस पर ट्रेनों की अधिकतम स्पीड 90 से 100 किमी प्रति घंटा है, लेकिन तीसरी लाइन बनने के बाद ट्रेनों की रफ्तार बढ़ सकती है। इस रूट पर कुछ ट्रेनों को हाईस्पीड करने के लिए अब बोर्ड से निर्देश मिलने का इंतजार है। माना जा रहा है कि महीनेभर के भीतर बोर्ड से अनुमति मिल जाएगी और तीसरी लाइन पर कुछ ट्रेनें इसी साल के अंत तक 130-140 की स्पीड से चलने लगेंगी।
Page#    Showing 1 to 20 of 241 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.