Full Site Search  
Wed Jul 26, 2017 18:23:58 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Close-up; Platform Pic; Large Station Board;
no description available

DSJ/Delhi Safdarjung (3 PFs)
ਦਿੱਲੀ ਸਫਦਰਜੰਗ / دلی صفدر جنگ     दिल्ली सफदरजंग

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 8
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
New Moti Bagh, New Delhi, Delhi 110021
State: Delhi NCT
Elevation: 228 m above sea level
Zone: NR/Northern
Division: Delhi
4 Travel Tips
No Recent News for DSJ/Delhi Safdarjung
Nearby Stations in the News

Rating: 3.0/5 (33 votes)
cleanliness - excellent (4)
porters/escalators - poor (4)
food - average (4)
transportation - average (4)
lodging - poor (4)
railfanning - average (5)
sightseeing - excellent (4)
safety - good (4)

Nearby Stations

CNKP/Chanakyapuri 2 km     LDCY/Lodhi Colony 2 km     SWNR/Sewa Nagar 3 km     SDPR/Sardar Patel Road 3 km     LPNR/Lajpat Nagar 5 km     HNZM/ZZ-Hazrat Nizamuddin 7 km     BRSQ/Brar Square 7 km     DLPI/Indrapuri 7 km     NZM/Hazrat Nizamuddin 7 km     OKA/Okhla 8 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 15 of 15 News Items  
Jul 15 2017 (07:20)  सौर ऊर्जा वाली पहली डीएमयू ट्रेन का लोकार्पण (epaper.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 308443     
   Tags   Past Edits
Jul 15 2017 (07:20)
Station Tag: Delhi Safdarjung/DSJ added by दक्षिण पूर्व रेलवे😍😘😊^~/1421836

Jul 15 2017 (07:20)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by दक्षिण पूर्व रेलवे😍😘😊^~/1421836

Posted by: दक्षिण पूर्व रेलवे^~  1277 news posts
राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने शुक्रवार को सफदरजंग रेलवे स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में सौर ऊर्जा से संचालित कोच और बैटरी बैंक की सुविधा वाली पहली डीजल मल्टीपल यूनिट (डीएमयू) ट्रेन को देश को समर्पित किया। ट्रेन की कोच में रोशनी, पंखे और सूचना डिस्प्ले प्रणाली संबंधी जरूरतें इसकी छत पर लगे सोलर पैनल से पूरी होंगी। पहले दिन यह ट्रेन सफदरजंग रेलवे स्टेशन से हजरत निजामुद्दीन तक चली। नियमित रूप से इसे सराय रोहिल्ला से फरुखनगर के बीच चलाने की तैयारी है।1प्रभु ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरित ऊर्जा के पर्यावरण के अनुकूल उपायों के इस्तेमाल पर जोर देते रहे हैं। भविष्य में सौर ऊर्जा से संचालित और भी ट्रेनें चलाई जाएंगी। भारतीय रेलवे ने अगले पांच वषों में 1000 मेगावाट क्षमता वाले सौर संयंत्र बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री में निर्मित इस ट्रेन में भारतीय रेलवे वैकल्पिक...
more...
ईंधन संगठन (आइआरओएएफ) की ओर से सोलर पैनल और सौर प्रणालियां लगाई गई हैं। अगले छह महीने में इस तरह के 24 और कोच बनाए जाएंगे। छह कोच वाली इस ट्रेन में सालाना 21 हजार लीटर डीजल की बचत होगी। ट्रेन से उत्सर्जित की जाने वाली कार्बन डाई ऑक्साइड गैस की मात्र में हर साल प्रति कोच नौ टन की कमी आएगी। खास बात यह है इस ट्रेन में जैविक शौचालय लगा हुआ है।राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने शुक्रवार को सफदरजंग रेलवे स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में सौर ऊर्जा से संचालित कोच और बैटरी बैंक की सुविधा वाली पहली डीजल मल्टीपल यूनिट (डीएमयू) ट्रेन को देश को समर्पित किया। ट्रेन की कोच में रोशनी, पंखे और सूचना डिस्प्ले प्रणाली संबंधी जरूरतें इसकी छत पर लगे सोलर पैनल से पूरी होंगी। पहले दिन यह ट्रेन सफदरजंग रेलवे स्टेशन से हजरत निजामुद्दीन तक चली। नियमित रूप से इसे सराय रोहिल्ला से फरुखनगर के बीच चलाने की तैयारी है।1प्रभु ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरित ऊर्जा के पर्यावरण के अनुकूल उपायों के इस्तेमाल पर जोर देते रहे हैं। भविष्य में सौर ऊर्जा से संचालित और भी ट्रेनें चलाई जाएंगी। भारतीय रेलवे ने अगले पांच वषों में 1000 मेगावाट क्षमता वाले सौर संयंत्र बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री में निर्मित इस ट्रेन में भारतीय रेलवे वैकल्पिक ईंधन संगठन (आइआरओएएफ) की ओर से सोलर पैनल और सौर प्रणालियां लगाई गई हैं। अगले छह महीने में इस तरह के 24 और कोच बनाए जाएंगे। छह कोच वाली इस ट्रेन में सालाना 21 हजार लीटर डीजल की बचत होगी। ट्रेन से उत्सर्जित की जाने वाली कार्बन डाई ऑक्साइड गैस की मात्र में हर साल प्रति कोच नौ टन की कमी आएगी। खास बात यह है इस ट्रेन में जैविक शौचालय लगा हुआ है।सफदरजंग स्टेशन पर पहली सोलर पैनल डीएमयू ट्रेन का उद्घाटन करते रेलमंत्री सुरेश प्रभु ’विशेषताएं1’>>अधिकतम 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है1’>>एक कोच को बनाने में 9 लाख रुपये की लागत आई1’>>इसकी आयु 25 साल है1’>>ट्रेन में डिजिटल डिस्प्ले प्रणाली लगी है1’>>जीपीएस से लैस इस ट्रेन में एलईडी स्क्रीन लगाई गई है
Jul 14 2017 (17:14)  सोलर पैनल वाली पहली DMU को रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने दिखाई हरी झंडी (www.punjabkesari.in)
back to top
New/Special TrainsNR/Northern  -  

News Entry# 308410     
   Tags   Past Edits
Jul 14 2017 (17:14)
Station Tag: Delhi Safdarjung/DSJ added by OM SAI RAM ਆਦਿਤਯ ਕੁਮਾਰ~/1462045

Posted by: OM SAI RAM ਆਦਿਤਯ ਕੁਮਾਰ~  113 news posts
नई दिल्लीः भारतीय रेलवे सभी यात्री गाड़ियों में कोच की विद्युत आवश्यकता को सौर ऊर्जा से पूरा करने की योजना पर जल्द ही शुरू करेगी जिससे हर साल करोड़ों रुपए का ईंधन व्यय बचेगा। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने आज सफदरजंग रेलवे स्टेशन पर देश की सोलर ऊर्जा युक्त पहली डी.एम.यू. रेलगाड़ी का शुभारंभ करने के अवसर पर संवाददाताओं से बातचीत में यह जानकारी दी।
हजारों लीटर डीजल की होगी बचत
उन्होंने सोलर ऊर्जा युक्त रेलगाड़ी को भारतीय रेलवे की विकास यात्रा में महत्वपूर्ण मील का पत्थर करार देते हुए कहा कि जलवायु
...
more...
परिवर्तन एवं वैश्विक तापमान बढ़ने की चुनौती से निपटने में इस प्रकार के कदम बेहद कारगर हैं। सोलर ऊर्जा के प्रयोग से प्रत्येक कोच से हर साल करीब नौ लाख टन कार्बन उत्सर्जन और 21 हजार लीटर डीजल की बचत होगी। श्री प्रभु ने कहा कि भारतीय रेलवे सभी ट्रेनों में कोच के ऊपर सोलर पैनल लगाने का काम जल्द ही शुरू करेगी ताकि कोच में पंखे एवं प्रकाश के लिए बिजली सोलर पैनल से मिलेगी। उन्होंने कहा कि डी.एम.यू. के कोचों में बैटरियां लगाई गई हैं, जो वर्षा एवं सर्दी के मौसम में भी ऊर्जा की आपूर्ति करेंगी।
हर कोच पर लगे हैं 16 सोलर पैनल
इससे पहले श्री प्रभु ने इस रैक का निरीक्षण किया। चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्टरी में निर्मित इस छह कोच वाले रैक को उत्तर रेलवे के शकूरबस्ती वर्कशॉप में सोलर पैनलों से सुसज्जित किया गया है। हर कोच पर 16-16 सोलर पैनल लगाए गए हैं, जिनकी कुल क्षमता 4.5 किलोवाट होगी। हर कोच में 120 एएच क्षमता की बैटरियां लगी होंगी जिससे रात में एवं खराब मौसम में भी गाड़ी की विद्युत आवश्यकताओं की पूर्ति हो सकेगी।
Jul 14 2017 (13:29)  Railways Launches India’s First 1600 HHP Solar DEMU Train (www.india.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 308382     
   Tags   Past Edits
Jul 14 2017 (13:29)
Station Tag: Delhi Safdarjung/DSJ added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐~/1366147

Jul 14 2017 (13:29)
Station Tag: Garhi Harsaru Junction/GHH added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐~/1366147

Jul 14 2017 (13:29)
Station Tag: Delhi Sarai Rohilla/DEE added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐~/1366147

Posted by: ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐~  194 news posts
New Delhi, July 14: The Indian Railways on Friday launched its first 1600 HHP solar DEMU train. It is one of the environmental friendly measures taken by the railways which will also have financial benefits. The train with a sitting capacity of 89 per people per coach will be operational from Saturday.
Stationed at platform number 1 of Safdarjung Railway station, the train will travel from Sarai Rohilla station in Delhi to Garhi Harsaru Junction, Farukh Nagar in Haryana. It will replace the existing non-solar powered panel on the same route.
It is
...
more...
a ten coach train — two motor coaches and eight passenger coaches. The total cost of the train is Rs 13.54 crore — eight coaches of Rs 1 crore each, two motor coaches of Rs 2.5 crore each and solar panels on 6 coaches of Rs 9 lakh each.
There has been no change in the fare and the journey will take nearly one-and-half hours. In a bid to make the journey comfortable, cushioned seats have been provided. There are rakes for luggage and a display board in each coach.
There are 16 solar panels of 300 watt capacity each in a coach. The energy generated through the panel will be stored in batteries and can be used during night as well. The train is built at Integral Coach Factory in Chennai with a life of 25 years.
The move will save diesel equivalent of Rs 2 lakh per coach per annum. It will result in reduction in 9 tonnes of carbon dioxide emission per coach per annum. Nearly Rs 672 crore will be saved per annum.
Jun 17 2017 (22:15)  जम्मूतवी-तिरुपति रूट पर चलेगी जी.पी.एस. से लैस ‘हमसफर एक्सप्रैस’ (punjab.punjabkesari.in)
back to top
New/Special TrainsSCR/South Central  -  

News Entry# 305708   Blog Entry# 2324381     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: SHIVKUMAR  218 news posts
जालंधर (गुलशन): भारतीय रेलवे द्वारा हाल ही में चलाई गई जी.पी.एस. और अन्य अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस ‘हमसफ र एक्सप्रैस’ अब जम्मूतवी-तिरुपति रूट पर भी चलेगी। यह ट्रेन जालंधर कैंट स्टेशन पर भी रुकेगी। जम्मूतवी-तिरुपति हमसफर एक्सप्रैस (22706) जम्मूतवी से 30 जून से हर शुक्रवार को सुबह 5.30 बजे चलेगी और 9.45 बजे जालंधर कैंट से होते हुए तिरुपति जाएगी।
इसी तरह तिरुपति से ट्रेन (22705) 27 जून से हर मंगलवार शाम 5.15 बजे चलेगी और शाम 4.23 पर जालंधर कैंट से होते हुए रात 9.10 पर जम्मूतवी पहुंचेगी। इस ट्रेन को जालंधर छावनी, लुधियाना, अंबाला छावनी, दिल्ली सफदरजंग, झांसी, हबीबगंज, नागपुर, सिकंदराबाद इत्यादि स्टेशनों पर स्टॉपेज दिया गया है।
दूसरी
...
more...
तरफ हमसफर एक्सप्रैस 18 जून को भी जम्मूतवी से तिरुपति तक चलेगी। यात्री इस विशेष ट्रेन की बुकिंग भी करा सकते हैं। उल्लेखनीय है कि अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस ‘हमसफ र एक्सप्रैस’ में जी.पी.एस. के अलावा सूप, चाय और कॉफ ी वैंङ्क्षडग मशीनें भी लगाई गई हैं इस ट्रेन में लगे एक कोच की कीमत 2.6 करोड़ रुपए है।

1 posts - Sat Jun 17, 2017 - are hidden. Click to open.

2292 views
Jun 18 2017 (12:24)
speed up Jammu Rajdhani n halt at JRC n UMB~   1919 blog posts   143 correct pred (74% accurate)
Re# 2324381-2            Tags   Past Edits
How come CR is tagged???

2279 views
Jun 18 2017 (12:27)
Saurabh®~   2551 blog posts   39 correct pred (63% accurate)
Re# 2324381-3            Tags   Past Edits
Not cr its scr

2284 views
Jun 18 2017 (12:33)
speed up Jammu Rajdhani n halt at JRC n UMB~   1919 blog posts   143 correct pred (74% accurate)
Re# 2324381-4            Tags   Past Edits
now changed...

Jun 18 2017 (12:34)
IR no more Safe^~   23158 blog posts   99762 correct pred (75% accurate)
Re# 2324381-5            Tags   Past Edits
corrected by me.
Jun 11 2017 (07:29)  सफदरजंग रेलवे स्टेशन को शाही रूप देने की तैयारी (epaper.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 304976     
   Tags   Past Edits
Jun 11 2017 (07:30)
Station Tag: Delhi Safdarjung/DSJ added by Now TATA Is Having 12 WAM4😔^~/1421836

Posted by: दक्षिण पूर्व रेलवे^~  1277 news posts
पर्यटन मंत्रलय के सहयोग से होगा स्टेशन का विकास
Click here to enlarge image
संतोष कुमार सिंह ’ नई दिल्ली 1महाराजा एक्सप्रेस व पैलेस ऑन व्हील्स जैसी शाही ट्रेनों की तरह सफदरजंग रेलवे स्टेशन को भी शाही रूप देने की तैयारी है। स्टेशन को इस तरह से सजाया जाएगा जिससे कि देश-विदेश से यहां पहुंचने वाले मेहमान इसे अपनी यादों में बसा सकें। इसके लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्रलय के सहयोग से रेल प्रशासन योजना तैयार कर रहा है। जल्द ही इस पर काम शुरू कर दिया जाएगा। 1रिंग रेल पर स्थित सफदरजंग स्टेशन
...
more...
से रोजाना कई पैसेंजर ट्रेनें गुजरती हैं। लेकिन इसकी पहचान पर्यटन ट्रेनों के परिचालन को लेकर है। भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आइआरसीटीसी) की ओर से यहां से अक्सर विशेष पर्यटन ट्रेनें चलाई जाती हैं। इस कारण यहां काफी संख्या में विदेशी पर्यटक भी पहुंचते रहते हैं। इसके बावजूद यहां पर्याप्त सुविधाएं नहीं हैं। इसे ध्यान में रखते हुए इस स्टेशन को विकसित करने का फैसला किया गया है। 1स्टेशन पर पर्यटकों के लिए वीआइपी लाउंज बनेगा, आम यात्रियों को नया वेटिंग हॉल मिलेगा। एक से दूसरे प्लेटफॉर्म पर जाने के लिए एस्क्लेटर और लिफ्ट की व्यवस्था होगी। नए शौचालय, वॉश रूम बनाए जाएंगे। पार्किग की भी पर्याप्त व्यवस्था होगी। पूरा स्टेशन परिसर सीसीटीवी कैमरों की जद में रहेगा। 1तीन भाग में विभाजित होगा स्टेशन परिसर:पर्यटकों के साथ ही आम यात्रियों और रेलकर्मियों के लिए अलग-अलग जोन बनाए जाएंगे। प्रत्येक जोन में उनकी सुविधा का ध्यान रखा जाएगा। इनके बैठने, शौचालय, शुद्ध पेयजल, खानपान के स्टॉल व अन्य जरूरी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। यात्रियों को किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिए भीड़ प्रबंधन का विशेष ध्यान रखा जाएगा। आम यात्री, पर्यटकों व रेलकर्मियों के आने जाने के लिए अलग-अलग रास्ते होंगे जिससे कि भीड़ को संभालने में किसी तरह की दिक्कत नहीं हो। स्टेशन आकर्षक दिखे इसके लिए न सिर्फ प्रवेश द्वार को कलात्मक रूप दिया जाएगा। स्टेशन को हरा भरा बनाने के लिए पौधे लगाए जाएंगे और पटरियों के किनारे भी फूल व सजावटी पौधे लगेंगे।संतोष कुमार सिंह ’ नई दिल्ली 1महाराजा एक्सप्रेस व पैलेस ऑन व्हील्स जैसी शाही ट्रेनों की तरह सफदरजंग रेलवे स्टेशन को भी शाही रूप देने की तैयारी है। स्टेशन को इस तरह से सजाया जाएगा जिससे कि देश-विदेश से यहां पहुंचने वाले मेहमान इसे अपनी यादों में बसा सकें। इसके लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्रलय के सहयोग से रेल प्रशासन योजना तैयार कर रहा है। जल्द ही इस पर काम शुरू कर दिया जाएगा। 1रिंग रेल पर स्थित सफदरजंग स्टेशन से रोजाना कई पैसेंजर ट्रेनें गुजरती हैं। लेकिन इसकी पहचान पर्यटन ट्रेनों के परिचालन को लेकर है। भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आइआरसीटीसी) की ओर से यहां से अक्सर विशेष पर्यटन ट्रेनें चलाई जाती हैं। इस कारण यहां काफी संख्या में विदेशी पर्यटक भी पहुंचते रहते हैं। इसके बावजूद यहां पर्याप्त सुविधाएं नहीं हैं। इसे ध्यान में रखते हुए इस स्टेशन को विकसित करने का फैसला किया गया है। 1स्टेशन पर पर्यटकों के लिए वीआइपी लाउंज बनेगा, आम यात्रियों को नया वेटिंग हॉल मिलेगा। एक से दूसरे प्लेटफॉर्म पर जाने के लिए एस्क्लेटर और लिफ्ट की व्यवस्था होगी। नए शौचालय, वॉश रूम बनाए जाएंगे। पार्किग की भी पर्याप्त व्यवस्था होगी। पूरा स्टेशन परिसर सीसीटीवी कैमरों की जद में रहेगा। 1तीन भाग में विभाजित होगा स्टेशन परिसर:पर्यटकों के साथ ही आम यात्रियों और रेलकर्मियों के लिए अलग-अलग जोन बनाए जाएंगे। प्रत्येक जोन में उनकी सुविधा का ध्यान रखा जाएगा। इनके बैठने, शौचालय, शुद्ध पेयजल, खानपान के स्टॉल व अन्य जरूरी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। यात्रियों को किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिए भीड़ प्रबंधन का विशेष ध्यान रखा जाएगा। आम यात्री, पर्यटकों व रेलकर्मियों के आने जाने के लिए अलग-अलग रास्ते होंगे जिससे कि भीड़ को संभालने में किसी तरह की दिक्कत नहीं हो। स्टेशन आकर्षक दिखे इसके लिए न सिर्फ प्रवेश द्वार को कलात्मक रूप दिया जाएगा। स्टेशन को हरा भरा बनाने के लिए पौधे लगाए जाएंगे और पटरियों के किनारे भी फूल व सजावटी पौधे लगेंगे।सफदरजंग रेलवे स्टेशन ’ फाइल फोटो
Page#    Showing 1 to 15 of 15 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.