Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE

Be a RailFan; learn how to enjoy your trip; enjoy your life.

Search News

News Posts by jigyasusingh47

Page#    Showing 1 to 5 of 1275 news entries  next>>
दो जोड़ी पैसेंजर ट्रेन रहेगी रद्द, तीन ट्रेनें रास्ते से ही लौटेगी और तीन

दो जोड़ी पैसेंजर ट्रेन रहेगी रद्द, तीन ट्रेनें रास्ते से ही लौटेगी और तीन ट्रेनें विलंब से चलेगी

28
...
more...
जून से 06 जुलाई तक कई चरणों में 09 दिनों तक रहेगा ट्रैफिक और पावर ब्लॉक

भागलपुर, वरीय संवाददाता। पीरपैंती में ओवर ब्रिज के निर्माण के लिए 28 जून से 6 जुलाई तक कई चरणों में रेलवे का ट्रैफिक एवं पावर ब्लॉक रहेगा। इसके कारण कुछ ट्रेनों को रद्द किया गया है तो कुछ ट्रेनों को शार्ट टर्मिनेट किया जाएगा। 03037/03038 साहिबगंज-भागलपुर-साहिबगंज पैसेंजर स्पेशल ट्रेन दोनों दिशाओं में 03 जुलाई एवं 05 जुलाई को रद्द रहेगी।

05416/05415 जमालपुर-साहिबगंज-जमालपुर पैसेंजर स्पेशल ट्रेन भी दोनों दिशाओं में 03 जुलाई को नहीं चलेगी। भागलपुर रेलखंड की महत्वपूर्ण पैसेंजर ट्रेन 05416/05415 जमालपुर-साहिबगंज-जमालपुर पैसेंजर स्पेशल 05 जुलाई को कहलगांव तक ही चलेगी। भागलपुर के रास्ते चलने वाली 05407 रामपुरहाट-गया पैसेंजर स्पेशल ट्रेन 03 जुलाई को साहिबगंज से ही लौट जायेगी। ट्रेन नंबर 03038 भागलपुर-साहिबगंज पैसेंजर स्पेशल 28 जून को 90 मिनट, 30 जून को 40 मिनट, 02 जुलाई को एक घंटे एवं 06 जुलाई को भी एक घंटे विलंब से चलेगी। 05407 रामपुरहाट-गया पैसेंजर स्पेशल ट्रेन 28 जून, 02 जुलाई व 06 जुलाई को 90 मिनट और 30 जून को एक घंटे लेट चलेगी। 13235 साहिबगंज - दानापुर एक्सप्रेस 30 जून को 20 मिनट के लिए रि-शिड्यूल की गई है। इसके अलावा 13236 दानापुर-साहिबगंज एक्सप्रेस को 30 जून व 05 जुलाई को और 05408 जमालपुर-रामपुरहाट पैसेंजर स्पेशल को एक जुलाई को रास्ते में उपयुक्त रूप से नियंत्रित कर चलायी जायेगी।
रेल प्रशासन के कारण लगातार इस ट्रेन के परिचालन में विलंब हो रहा है।

जून में भी नहीं शुरू हो पाई गोड्डा-रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस

संवाद सहयोगी, गोड्डा : दुमका से चलने वाली
...
more...
इंटरसिटी को विस्तारित कर गोड्डा- रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन के परिचालन में रेल महकमा अपनी ही घोषणा पर खरा नहीं उतर पा रहा है। जून माह समाप्त होने को हैं। अब तक गोड्डा-रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस के लिए रेलवे की ओर से कोई शिड्यूल जारी नहीं किया गया है। 25 मई को गोड्डा-हंसडीहा रेलखंड के इलेक्ट्रिकफिकेशन कार्य के सीआरएस के दौरान मालदा के डीआरएम यतींद्र कुमार ने कहा था कि जून माह से गोड्डा-रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। जिस तरह रेलवे उक्त ट्रेन के परिचालन में सुस्ती बरत रहा है और कार्य की रफ्तार धीमी है, ऐसे में यह तय हो गया है कि अब जून माह में गोड्डा-रांची एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन संभव नहीं है।

जिलावासियों की नजर इस महत्वपूर्ण ट्रेन के परिचालन पर टिकी हुई है लेकिन इसकी परवाह रेल प्रशासन को नहीं है। रेलवे की सुस्ती का अंदाजा इसी लगाया जा सकता है कि माह भर में न तो पानी के लिए हाइड्रेंट का काम पूरा हो पाया, न ही प्लेटफार्म नंबर तीन के कार्य को ही पूरा किया जा सका। इंटरलाकिंग का काम भी अधूरा है। इससे पहले अब गोड्डा-मोतिया रेल लाइन पर परिचालन शुरू हो सकता है। वह लाइन अदाणी पावर प्लांट के लिए बनी है। जबकि गोड्डा-हंसडीहा लाइन पर अबतक इंटरलाकिंग कार्य पूरा कर गोड्डा-रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन शुरू नहीं किया जा सका। जबकि बीते नौ अप्रैल को ही गोड्डा-रांची एक्सप्रेस ट्रेन का उद्धाटन परिचालन हो चुका है व रेलवे ने ही कहा था कि मई के प्रथम सप्ताह में प्लेटफार्म नंबर तीन का काम पूरा कर रांची एक्सप्रेस का नियमित परिचालन शुरू हो जायेगा लेकिन रेल की लचर व्यवस्था से यह कार्य नहीं हो पा रहा है न ही रेल प्रशासन की गंभीरता दिख रही है।

अब जुलाई माह के दूसरे सप्ताह में मोतिया लाइन के साथ प्लेटफार्म नंबर तीन का इंटरलाकिंग कार्य होने की उम्मीद है। इसके बाद प्लेटफार्म नंबर तीन के लाइन पर मेटल दिया जायेगा व इलेक्ट्रिक कार्य को पूरा किया जायेगा जहां जुलाई के अंतिम सप्ताह में संभवत: रांची-गोड्डा एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन शुरू हो सकता है। वही लोगों ने स्थानीय सांसद डा. निशिकांत दुबे व रेल प्रशासन से हो रहे विलंब को दूर कर 18619/18620 रांची-गोड्डा एक्सप्रेस ट्रेन जल्द परिचालन की मांग की है। यह गोड्डा की वर्तमान में सबसे महत्पूर्ण ट्रेन होगी जो राज्य की राजधानी से गोड्डा को जोड़ेगी। दूसरी ओर गोड्डा से एक और ट्रेन रांची के लिए सप्ताह में तीन दिन चल रहे हैं, लेकिन इस ट्रेन का रूट इतना घुमावदार है कि लोग रांची जाने के लिए वनांचल एक्सप्रेस से सफर नहीं कर रहे हैं, जबकि दुमका से विस्तारित ट्रेन गोड्डा दुमका जसीडीह होकर जाएगी, लेकिन रेल प्रशासन के कारण लगातार इस ट्रेन के परिचालन में विलंब हो रहा है।
Jamshedpur : कहा जाता है कि शाम ढलने के बाद इस स्टेशन से जैसे ही कोई ट्रेन गुजरती, एक भूत उसके साथ-साथ दौड़ने लगता. लोको पायलटों में उस भूत का इतना खौफ था कि स्टेशन आने के पहले ही ट्रेन की स्पीड बढ़ा देते, लेकिन भूत दौड़ता हुआ कई बार ट्रेन से भी आगे निकल जाता. प्रेतात्मा को ट्रेन के आगे पटरियों पर भी नाचते हुए देखने की बात भी कही गयी.

इस भूत के खौफ के कारण वहां पायलट वहां ट्रेन रोकना नहीं चाहता था. आखिरकार रेलवे ने उस स्टेशन
...
more...
को बंद कर दिया और 2009 में दोबारा जब इसे खोला गया, तो इसे बंद हुए 42 साल गुजर गये थे. भूत का खौफ इस कदर है कि आज भी शाम ढलने के बाद यह स्टेशन वीराने में डूब जाता है. यह भुतहा स्टेशन रांची रेलवे स्टेशन (Ranchi Railway Station) से महज 90 किमी दूर है. दक्षिण-पूर्व रेलवे (South Eastern Railway) के रांची रेल मंडल (Ranchi Rail Division) पर झालदा और कोटशिला स्टेशनों के बीच है यह स्टेशन, जिसका नाम है बेगुनकुदर
(Begunkodor railway station). रांची (Ranchi) से ट्रेन से  आसनसोल या खड़गपुर जानेवाले यात्री इस स्टेशन से परिचित तो हैं, लेकिन बहुत कम ही लोग जानते हैं कि रेलवे के रिकॉर्ड में यह भारत के 10 प्रेतबाधित स्टेशनों में से एक था.
बेगुनकुदर स्टेशन संतालों की रानी लाचन कुमारी और रेलवे के साझा प्रयासों से वर्ष 1960 में खुला.लेकिन कुछ सालों बाद ही यहां भूत होने की अफवाह फैल गयी. ग्रामीणों के अनुसार 1967 में एक रेलकर्मी को उस महिला का भूत दिखा, जिसकी कुछ दिन पहले बेगुनकुदर स्टेशन पर ट्रेन से कट कर मौत हो गयी थी. अगली सुबह उसने गांववालों को भूत देखने की बात बतायी, लेकिन गांववालों को उसकी बात पर यकीन नहीं हुआ. लेकिन रेलकर्मी के भूत देखने के दावे के कुछ दिन बाद से यहां के स्टेशन मास्टर और उनके परिवारजनों की लाशें उनके रेलवे क्वार्टर में मिलीं. इसके बाद कई लोगों ने भूत देखने के दावे किये. कथित रूप से असामान्य घटनाएं होने लगीं और ऐसा मान लिया गया कि उन घटनाओं को पारलौकिक शक्तियों ने अंजाम दिया है.
बेगुनकुदर स्टेशन पर भूत का खौफ इस कदर छाया कि ट्रेन पायलटों ने यहां ट्रेनों को रोकना बंद कर दिया. यात्री  महिला प्रेतात्मा के खौफ से स्टेशन पर आने से कतराने लगे.  यहां तक कि स्टेशन पर काम करने वाले रेलकर्मी भी यहां से भाग निकले और रेल कर्मचारियों ने इस स्टेशन पर अपनी पोस्टिंग कराने से इनकार कर दिया. बेगुनकुदर को भूतिया रेलवे स्टेशन (Haunted Railway Station) मान लिया गया और यह रेलवे के रिकॉर्ड में भी दर्ज हो गया. आखिरकार रेलवे ने इसे प्रेतबाधित मानते हुए स्टेशन को ही बंद कर दिया. 1967 में आखिरी ट्रेन वहां  रुकी थी. हालांकि इस रूट से होकर ट्रेनों का गुजरना जारी रहा और कई लोको पायलटों ने दावा किया कि सूरज ढलने के बाद महिला का भूत ट्रेन के साथ-साथ दौड़ने लगता था और कभी-कभी तो ट्रेन से भी तेज दौड़कर उसके आगे निकल जाता था. कुछ पायलटों का कहना था कि कई बार उन्होंने उस प्रेतात्मा को ट्रेन के आगे पटरियों पर भी नाचते हुए देखा है.
साल 1990 के अंत में बेगुनकुदर के ग्रामीणों ने रेलवे स्टेशन को दोबारा खुलवाने के लिए आंदोलन शुरू किया. उन्होंने एक समिति का गठन कर रेलवे (Indian Railway) के सामने अपनी मांगें रखनी शुरू की. 2007 में ग्रामीणों ने तत्कालीन रेल मंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) और माकपा नेता बासुदेव आचार्य को पत्र लिखा, जो पुरुलिया से ताल्लुक रखते हैं और उस समय संसद में रेलवे की स्थायी समिति के सदस्य थे. लेकिन बेगुनकुदर के प्रेतबाधित होने का ठप्पा बरकरार रहा. वासुदेव आचार्य ने कहा कि रेलवे कर्मचारियों ने बेगुनकुदर स्टेशन पर तैनात होने से बचने के लिए भूत की कहानी गढ़ी थी. आखिरकार  42 साल बाद, अगस्त 2009 में पूर्व रेल मंत्री ममता बनर्जी द्वारा रेलवे स्टेशन को एक पैसेंजर हॉल्ट के रूप में फिर से खोल दिया गया. वर्तमान में बेगुनकुदर स्टेशन पर नियमित रूप से 10 ट्रेनें रुकती हैं, लेकिन अभी भी यात्री सूर्यास्त के बाद भी स्टेशन आने से बचते हैं. लंबे समय से बेगुनकुदर स्टेशन भूत पकड़नेवालों (Ghost Hunters) की दिलचस्पी का केंद्र रहा है. इनमें से किसी ने यहां भूत होने की पुष्टि नहीं की है.  हालांकि पिछले कुछ समय से कुछ लोगों द्वारा बेगुनकुदर रेलवे स्टेशन को भूतों में दिलचस्पी रखनेवाले टूरिस्ट को आकर्षित करने का प्रयास किया जा रहा है.
असम में भीषण बाढ़ से नॉर्थईस्ट फ्रंटियर रेलवे ने बिहार से गुजरने वाली कई ट्रेनों को 15 जुलाई तक रद्द कर दिया है। यहां देखें कैंसिल की गई ट्रेनों की पूरी लिस्ट...

पूर्वोत्तर राज्य असम में भीषण बाढ़ से कई जगहों पर पटरियां क्षतिग्रस्त हो गई हैं। इस कारण बिहार से गुजरने वाली 12 से ज्यादा ट्रेनों का संचालन रद्द कर दिया गया है। किशनगंज से होकर जाने वाली दर्जनों ट्रेनें 2 से 15 जुलाई के बीच रद्द रहेंगी। 
...
more...

नॉर्थईस्ट फ्रंटियर रेलवे के सीपीआरओ सव्यसाची डे ने इसकी जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि गुवाहाटी, सिलचर और अगरतला से चलकर विभिन्न शहरों में जाने वाली ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया है। ये ट्रेनें बिहार से होकर गुजरती हैं। इसलिए राज्य के
रेलयात्रियों पर भी असर पड़ेगा।
बिहार से गुजरने वाली ये ट्रेनें 15 जुलाई तक रहेंगी रद्द- 12504 अगरतला-बेंगलुरु कैंट- 15626 अगरतला-देवघर- 15641 सिलचर-न्यू तिनसुकिया- 15642 न्यू तिनसुकिया-सिलचर - 14620 फिरोजपुर कैंट-अगरतला - 15625 देवघर-अगरतला- 20501 अगरतला-आनंद विहार तेजस एक्सप्रेस- 12503 बेंगलुरु कैंट-अगरतला- 20502 आनंद विहार-अगरतला- 14619 अगरतला-फिरोजपुर कैंट- 14038 नई दिल्ली-सिलचर एक्सप्रेस- 14037 सिलचर-नई दिल्ली एक्सप्रेस- 15615/16 गुवाहाटी-सिलचर-गुवाहाटी एक्सप्रेस- 15611 गुवाहाटी-सिलचर - 15887/88 गुवाहाटी-बदरपुर-गुवाहाटी टूरिस्ट एक्सप्रेस- 13173/74 सियालदह-अगरतला-सियालदह एक्सप्रेस (अगरतला और लामडिंग के बीच रद्द)- 13175/76 सियालदह-सिलचर-सियालदह (सिलचर-लामडिंग के बीच रद्द)- 12515/16 सिलचर-कोयंबटूर-सिलचर एक्सप्रेस (सिलचर-गुवाहाटी के बीच रद्द)- 12507 तिरुवनंतपुरम-सिलचर एक्सप्रेस
छत्तीसगढ़ के रेल यात्रियों की दिक्कत बढ़ाने में लगा है। लगातार ट्रेनों को कैंसिल किया जा रहा है। रेलवे बोर्ड ने 18 ट्रेनों को 1 जुलाई तक कैंसिल करने का आदेश जारी किया है

रेलवे प्रशासन छत्तीसगढ़ के रेल यात्रियों की दिक्कत बढ़ाने में लगा है। लगातार ट्रेनों को कैंसिल किया जा रहा है। रेलवे बोर्ड ने 18 ट्रेनों को 1 जुलाई तक कैंसिल करने का आदेश जारी किया है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के नागपुर रेल मंडल के राजनांदगांव-कलमना रेल खंड में तीसरी लाइन के काम के चलते ट्रेनों को रद्द
...
more...
किया है। इससे पहले 17 और 18 जून को भी मेंटेनेंस और तीसरी लाइन विस्तार के चलते 36 ट्रेनों को रद्द किया गया था। रेलवे द्वारा किसी तरह की वैकल्पिक व्यवस्था भी नहीं की जा रही है। छत्तीसगढ़ में फरवरी से ट्रेनों को कैंसिल करने का सिलसिला शुरू हुआ है, जो अब तक थमा नहीं है। 

बता दें कि रेलवे प्रशासन ने सबसे पहले फरवरी-2022 में विकास कार्य के बहाने 23 यात्री ट्रेनों को एक माह के लिए रद्द किया। फिर मार्च में 10 ट्रेनों को कोयला परिवहन के नाम से कैंसिल किया। अप्रैल और मई तक कोयला संकट के बीच 50 से ज्यादा ट्रेनें कैंसिल हुए। छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव ने इस पर रेलवे बोर्ड को पत्र भी लिखा था तो वही सीएम भूपेश बघेल ने रेल मंत्री से बात की थी। 17 व 18 जून को तीसरी लाइन के काम के चलते 2 दिनों में 36 पैसेंजर और एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द किया गया है। 23 जून को रेलवे ने मार्च से बंद 34 ट्रेनों को कैंसिलेशन अवधि 15 दिन और बढ़ा दिया। 
165 रैक से हो रहा कोयले का परिवहन रेलवे प्रशासन रेल लाइन विस्तार की बात कहते हुए यात्री ट्रेनों को लगातार रद्द कर रही है, लेकिन मालगाड़ियां के पहियों पर ब्रेक नहीं लगा है। कोयला सप्लाई के लिए साउथ ईस्ट सेंट्रल रेलवे (एसईसीआर) हर दिन 165 रैक का परिचालन कर रही है, यानी हर 10 मिनट पर एक मालगाड़ी पटरी पर दौड़ रही है। रेल यात्री कह रहे हैं कि कोयला सप्लाई करने के लिए यात्री ट्रेनों को रद्द किया जा रहा है। इधर जून माह के 27 दिनों में रेल बेटपरी होने की 6 घटनाएं भी हो चुकी है, जिससे रेलवे को करोड़ों का नुकसान भी उठाना पड़ा है।

रद्द होने वाली यात्री ट्रेनें
● 29 एवं 30 जून को दुर्ग से छूटने वाली 08741 दुर्ग-गोंदिया स्पेशल रद्द रहेगी।
● 29 एवं 30 जून को गोंदिया से छूटने वाली 08742 गोंदिया-दुर्ग स्पेशल रद्द रहेगी।
● 29 एवं 30 जून को गोंदिया से छूटने वाली 08743 गोंदिया-इतवारी मेमू रद्द रहेगी।
● 29 एवं 30 जून को इतवारी से छूटने वाली 08744 इतवारी-गोंदिया मेमू रद्द रहेगी।
● 29 एवं 30 जून को कोरबा से छूटने वाली 18239 कोरबा-इतवारी एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
● 29 एवं 30 जून को इतवारी से छूटने वाली 18240 इतवारी-कोरबा एक्सप्रेस रद्द।
● 29 एवं 30 जून को बिलासपुर से छूटने वाली 12855 बिलासपुर-इतवारी इंटरसिटी एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
● 30 जून एवं 1 जुलाई को इतवारी से छूटने वाली 12856 इतवारी-बिलासपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
● 29 जून को रीवा से छूटने वाली 11754 रीवा-इतवारी एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
● 30 जून को इतवारी से छूटने वाली 11753 इतवारी-रीवा एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
● 29 जून को सिकंदराबाद से छूटने वाली 12771 सिकंदराबाद-रायपुर एक्सप्रेस रद्द। 
● 30 जून को रायपुर से छूटने वाली 12772 रायपुर-सिकंदराबाद एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
● 28 एवं 29 जून निज़ामुद्दीन से छूटने वाली 12410 निज़ामुद्दीन-रायगढ़ एक्सप्रेस रद्द। ● 29 एवं 30 जून को रायगढ़ से छूटने वाली 12409 रायगढ़-निज़ामुद्दीन एक्सप्रेस रद्द ।
● 28 जून को बीकानेर से छूटने वाली 20846 बीकानेर-बिलासपुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
● 30 जून को बीकानेर से छूटने वाली 20845 बिलासपुर-बीकानेर एक्सप्रेस रद्द रहेगी
● 28, 29, 30 जून को टाटानगर से छूटने वाली 18109 टाटानगर-इतवारी एक्सप्रेस रद्द
● 30 जून, 1 व 2 जुलाई को इतवारी से छूटने वाली 18110 इतवारी-टाटानगर एक्स रद्द।
बीच में समाप्त होने वाली ट्रेनें
● 29 एवं 30 जून को मुंबई से छूटने वाली 12105 मुंबई-गोंदिया विदर्भ एक्सप्रेस नागपुर में ही समाप्त होगी।
● 29 एवं 30 जून को गोंदिया से छूटने वाली 12106 गोंदिया-मुंबई विदर्भ एक्सप्रेस नागपुर से ही मुंबई के लिए रवाना होगी।
● 29 एवं 30 जून को कुर्ला से छूटने वाली 11039 कुर्ला-गोंदिया महाराष्ट्र एक्सप्रेस नागपुर में ही समाप्त होगी।
● 30 जून एवं 1 जुलाई को गोंदिया से छूटने वाली 11040 गोंदिया-कुर्ला महाराष्ट्र एक्सप्रेस नागपुर से ही कुर्ला के लिए रवाना होगी।
यात्रीगण कृपया ध्यान दें... छत्तीसगढ़ में 18 ट्रेनें फिर कैंसिल, जानिये वजह
कौन बनेगा गांव का मुखिया तय हो जाएगा आज, 255 केंद्रों में डाले रहे वोट
छत्तीसगढ़ में डराने लगा कोरोना, 125 नए मरीज मिले, प्रदेश में एक्टिव केस 757
कांग्रेस के 'सत्याग्रह' को नेता प्रतिपक्ष ने कहा- नौटंकी, भूपेश पर क्या बोले धरमलाल...
गुस्से में आकर सनकी पति ने कुल्हाड़ी से काट दी पत्नी की गर्दन, गिरफ्तार
'अग्निपथ' का छत्तीसगढ़ में विरोध, भूपेश बोले- शादी कार्ड पर युवा लिखेंगे भूतपूर्व 'अग्निवीर'
विशेष पिछड़ी जनजाति के युवाओं को तोहफा, 9623 को मिलेगी सरकारी नौकरी
सजायाफ्ता कैदी ने सेंट्रल जेल में लगाई फांसी, प्रहरी निलंबित
11 साल की बेटी से दुष्कर्म, आरोपी पिता को कोर्ट ने सुनाई उम्र कैद की सजा
स्कूल के फेसबुक पेज पर 'डर्टी पिक्चर' किसने डाली, छात्रों में हड़कंप
आपके शहर से
वायरल खबरें
फिर तलाक लेंगे मीडिया मुगल रुपर्ट मर्डोक, 85 की उम्र में की थी चौथी शादी; 1955 में की थी पहली मैरिज
53 साल की मां ने चुपके से पढ़ाई कर पास की दसवीं, बेटे ने बताई भावुक कहानी
‘मजा नहीं आ रहा...आई रिजाइन’ सोशल मीडिया पर वायरल हुआ अनूठा इस्तीफा, हर्ष गोयनका ने कहा-शॉर्ट, लेकिन डीप

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर
Follow Us
Download Live Hindustan APP and read premium stories
Section:Hindi NewsCricket NewsSports NewsCareer NewsBollywood NewsHealth NewsBusiness NewsRashifal
Latest News:National NewsWorld NewsDelhi NewsUP NewsBihar NewsUttrakhand NewsJharkhand NewsRajasthan NewsMP NewsMaharashtra NewsHaryana NewsChhattisgarh NewsHimachal Pradesh News
Trending:Popular NewsMust ReadBreaking NewsJokes
Advertise with usAbout usCareers Privacy Contact usSitemapCode Of Ethics
ऐप्स आरएसएस विज्ञापन र॓टहमार॓ साथ काम करेंहमारे बारे मेंसंपर्क करेंगोपनीयताअस्वीकरणसाइट जानकारी आर्काइव
Partner sites :Hindustan TimesMintHT TechShineHT TeluguHT BanglaHT TamilHT MarathiHT Auto HealthshotsHT Smartcast
Copyright © 2022 HT Digital Streams Limited. All RightsReserved.
Page#    1275 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy