Full Site Search  
Tue Jul 25, 2017 22:07:56 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;

BSQP/Bansipur (2 PFs)
بنشی پور     बंशीपुर

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 30
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
State Highway 18, Kiul
State: Bihar
Elevation: 57 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Danapur
No Recent News for BSQP/Bansipur
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

LCK/Lakhochak Halt 2 km     BLHR/Balahapur Halt 2 km     MHLT/Mahesh Leta Halt 3 km     RMPR/Rampur Halt 5 km     MNP/Mananpur 6 km     KBC/Kiul Bridge 7 km     KIUL/Kiul Junction 7 km     LKR/Luckeesarai Junction 8 km     BFM/Bhalui 11 km     DNRE/Dhanauri 13 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 1 of 1 News Items  
Apr 05 2017 (21:17)  खलीलाबाद-बांसी बहराइच नई रेल लाइन का सर्वे पूरा पूवरेत्तर रेलवे प्रशासन ने तैयार की डीपीआर (epaper.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNER/North Eastern  -  

News Entry# 298653     
   Tags   Past Edits
Apr 05 2017 (21:17)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Apr 05 2017 (21:17)
Station Tag: Bansipur/BSQP added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Apr 05 2017 (21:17)
Station Tag: Bahraich/BRK added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Apr 05 2017 (21:17)
Station Tag: Khalilabad/KLD added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  6134 news posts
बौद्ध परिपथ से जुड़ेंगे कुशीनगर और कपिलवस्तु1 रेल मंत्रलय ने बौद्ध रेल परिपथ बनाने की कवायद भी तेज कर दी है। इसके तहत पहले कुशीनगर और कपिलवस्तु को रेल लाइन से जोड़ा जाएगा। गोरखपुर-पड़रौना से कुशीनगर को रेल लाइन से जोड़ने के लिए रेलवे मंत्रलय ने हरी झंडी दे दी है। धन भी स्वीकृत हो चुका है। कपिलवस्तु को बस्ती रूट से जोड़ा जाएगा। इसके सर्वे रिपोर्ट पर भी मंथन चल रहा है। इसके बाद कुशीनगर से कपिलवस्तु तक रेल लाइन बिछ जाएगी। भारत में पड़ने वाले क्षेत्र को लेकर काम आगे बढ़ रहा है। कुछ क्षेत्र पड़ोसी मुल्क में है। नेपाल सरकार से हरी झंडी मिलने का इंतजार है। नेपाल की सहमति मिलते ही 300 किमी की परिधि में पड़ने वाला पूर्वाचल का यह पिछड़ा क्षेत्र भी बौद्ध परिपथ के दायरे में आ जाएगा। बौद्ध रेल परिपथ पूरा हो जाने से क्षेत्रीय जनता की परेशानियां तो दूर होंगी ही, पर्यटन...
more...
को भी बढ़ावा मिलेगा। देश- विदेश से पहुंचने वाले श्रद्धालु गोरखपुर से सीधे कुशीनगर और कपिलवस्तु पहुंचेंगे।
सौगात
सहजनवां-दोहरीघाट के बाद अब पूर्वाचल के इस पिछड़े क्षेत्र में आवागमन होगा आसान, तरक्की का खुलेगा नया द्वार।
Click here to enlarge image
जागरण संवाददाता, गोरखपुर : सहजनवां- दोहरीघाट (70 किमी) के बाद अब खलीलाबाद-बखिरा-बांसी-भिंगा- बहराइच (210 किमी) क्षेत्र में भी ट्रेनों की छुक-छुक सुनाई देगी। इस पिछड़े क्षेत्र में भी रेल लाइन बिछाई जाएगी। इसके लिए लोकेशन सर्वे कार्य पूरा हो चुका है। पूवरेत्तर रेलवे प्रशासन ने डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार कर लिया है। रेलवे बोर्ड की हरी झंडी मिलते ही रेल लाइन निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 1उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार आने के बाद नई रेल लाइन निर्माण का मार्ग भी प्रशस्त हो गया है। जानकारों का कहना है कि रेलवे को राज्य सरकार से भूमि अधिग्रहण करने में पूरा सहयोग मिलेगा। 24 मार्च को ही पूवरेत्तर रेलवे के तत्कालीन महाप्रबंधक राजीव मिश्र ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सहजनवां से दोहरीघाट के बीच रेल लाइन बिछाने का कार्य जल्द शुरू कराने का आश्वासन दिया था। इस क्षेत्र में 70 किमी रेल लाइन बिछाने के लिए रेल मंत्रलय ने पहले ही 743.55 करोड़ रुपये स्वीकृत कर दिया गया है। हालांकि, एक किमी रेल लाइन बिछाने में रेलवे को लगभग 20 करोड़ रुपये खर्च करने पड़ते हैं। वहीं अब खलीलाबाद-बांसी-भिंगा- बहराइच तक सर्वे कार्य पूरा हो जाने के बाद नई रेल लाइन निर्माण को भी बल मिल गया है। रेल लाइन बिछ जाने से इस पिछड़े क्षेत्रों में भी विकास को गति मिलेगी। 1घुघली-महराजगंज क्षेत्र का भी लोकेशन सर्वे पूरा1अति पिछड़े क्षेत्र घुघली को आनंदनगर से जोड़ने की भी तैयारी चल रही है। इसके लिए महराजगंज होते हुए लोकेशन सर्वे पूरा कर लिया गया है। 1 इस क्षेत्र में रेल लाइन बिछ जाने से यहां के लोगों को भी सहूलियत मिलेगी। आवागमन की सुविधा तो मिलेगी ही रोजगार का भी सृजन होगा।
Page#    Showing 1 to 1 of 1 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.