Full Site Search  
Sun Nov 19, 2017 23:11:46 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;


BNW/Bhiwani Junction (3 PFs)
     भिवानी जंक्शन

Track: Construction - Electric-Line Doubling

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 26
Number of Originating Trains: 9
Number of Terminating Trains: 9
Station Rd, Bhiwani
State: Haryana
Elevation: 217 m above sea level
Zone: NWR/North Western
Division: Bikaner
 
 
1 Travel Tips
No Recent News for BNW/Bhiwani Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 3.6/5 (16 votes)
cleanliness - good (2)
porters/escalators - average (2)
food - good (2)
transportation - excellent (2)
lodging - good (2)
railfanning - good (2)
sightseeing - average (2)
safety - good (2)

Nearby Stations

BNWC/Bhiwani City 5 km     DZL/Dhana Ladanpur 6 km     SUI/Sui 8 km     BMLL/Bamla 8 km     MHU/Manheru 14 km     BWK/Bawani Khera 17 km     FGH/Fatehgarh Haryana 20 km     KHRK/Kharak 21 km     JKZ/Jitakheri 27 km     CKD/Charkhi Dadri 27 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 59 News Items  next>>
Nov 08 2017 (16:11)  Railway track jam to demand rail pass under रेलवे अंडर पास की मांग को लेकर लोगो ने किया रेलवे ट्रैक जाम Patrika Hindi (www.patrika.com)
back to top
PoliticsNWR/North Western  -  

News Entry# 322146     
   Past Edits
Nov 08 2017 (16:11)
Station Tag: Bhiwani Junction/BNW added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐/1366147
Stations:  Bhiwani Junction/BNW  
 
 
Railway track jam to demand rail pass under रेलवे अंडर पास की मांग को लेकर लोगो ने किया रेलवे ट्रैक जाम Patrika Hindi
Jul 21 2017 (08:43)  12वीं तक लडक़े तो ग्रेज्वेशन तक लड़कियों को फ्री रेल यात्रा (www.patrika.com)
back to top
New Facilities/Technology

News Entry# 309063     
   Past Edits
Jul 21 2017 (08:43)
Station Tag: Bhiwani Junction/BNW added by The Phenomenal One~/1469143
Stations:  Bhiwani Junction/BNW  
 
 
भिवानी। स्कूल-कालेजों में पढऩे वाले विद्यार्थियों को रेलवे मंत्रालय ने तोहफा देते हुए उनको रेल पास सुविधा फ्री में देने का निर्णय लिया है। इस संबंध में रेलवे मंत्रालय द्वारा निर्देश जारी कर दिए हैं। नए निर्देशों में 12वीं कक्षा तक के लडक़े तो ग्रेज्वेशन तक लड़कियों को फ्री एमएसटी (मासिक सीजन टिकट) की शुरू कर दी है। रेलवे द्वारा दूर-दराज क्षेत्रों में पढऩे वाले विद्यार्थियों को 150 किलोमीटर तक यह सुविधा दी जाएगी। रेलवे ने सरकारी व मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं के लिए यह सुविधा शुरू की है। इससे पूर्व जो स्टूडेंट एमएसटी बनवाकर यात्रा करते थे उनका सामान्य जाति वालों का आधा किराया व आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों का चौथाई किराया वसूल किया जाता था।
रेलवे मंत्रालय द्वारा जारी नए
...
more...
निर्देशों के अनुसार स्कूल-कालेजों में पढऩे वाले विद्यार्थियों का एमएसटी पास फ्री बनाया जाएगा। जिसमें 12 कक्षा तक लडक़े व ग्रेजुऐशन तक लड़कियों को यह सुविधा दी जाएगी। विद्यार्थियों का बनाया जाने वाला एमएसटी पैसेंजर ट्रेनों के साथ साथ मेल ट्रेन के सेकेंड क्लास में ही मान्य होगा। सुपर फास्ट ट्रेनों व स्लीपर क्लास में पास मान्य नहीं होगा। सुपर फास्ट ट्रेनों व स्लीपर क्लास में पास मान्य नहीं होगा। जिन यात्रियों की सीट आरक्षित होती है, विद्यार्थी उनकी सीट पर भी इस पास के सहारे सफर नहीं कर सकते। इसका लाभ वहीं उठा सकते हैं, जिनके स्कूल व कॉलेज मान्यता प्राप्त होंगे। रेलवे द्वारा अब 150 किलोमीटर तक छात्राएं भी आसानी से सफर कर सकती हैं।
एमएसटी के लिए जारी निर्देशों के अनुसार पहले विद्यार्थी को स्कूल प्राचार्य के पास से फार्म लेकर उसे भरकर जमा करवाना होगा। उसके बाद विद्यार्थी को स्कूल द्वारा एफिलेशन लेटर, अथॉरिटी लेटर, अंडरटेकिंग फार्म दिया जाएगा। ये फार्म रेलवे काउंटर पर जमा करवाना होगा। विद्यार्थियों के दो पहचान पत्र बनेंगे। यात्र के दौरान एक तो अपना उसका खुद का स्कूल-कॉलेज का और दूसरा रेलवे द्वारा जारी किया गया पास उसके पास होगा। अगर विद्यार्थी के पास सफर के दौरान अपने दोनों पहचान पत्र हैं तो वह पास मान्य माना जाएगा। बिना आइडी कार्ड के पास को मान्य नहीं माना जाएगा। रेलवे द्वारा दी जाने वाली पास विद्यार्थियों के लिए एक माह के लिए ही वैध होगी।
कालेज प्राचार्या वंदना त्यागी व स्कूल प्राचार्य सुरेश यादव का कहना है कि रेलवेे मंत्रालय द्वारा नए निर्देशों में एमएसटी सुविधा फ्री देकर विद्यार्थियों के लिए तोहफा दिया है। अब गरीब बच्चों को जहां इसका फायदा मिलेगा वहीं दूर-दराज से पढऩे के लिए विद्यार्थियों को परेशानी नहीं होगी। वहीं कालेज छात्राएं रिंपी व पूनम ने बताया कि रेलवे की यह विद्यार्थियों के लिए अच्छी है। जो छात्रएं स्कूल-कॉलेज में पढ़ाई करती हैं, वह आसानी से पढऩे के लिए आ सकती हैं। रेलवे द्वारा एमएसटी फ्री बनाने व 150 किलोमीटर तक सुविधा देकर अच्छा कार्य किया है। अब उनको स्कूल-कालेजों में आने के लिए निजी वाहनों का सहारा नहीं लेना पड़ेगा।
उधर नार्दन रेलवे के कमर्शिल इंस्पेक्टर संजीव कुमार का कहना है कि विद्यार्थियों के एमएसटी बनाने को लेकर रेलवे मंत्रलय द्वारा हमारे पास रेलवे मंत्रालय से निर्देश आ चुके हैं। इस को विद्यार्थियों तक पहुंचाने के लिए अधिकारियों द्वारा प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। स्कूल-कालेजों के प्राचार्यों के पास फार्म उपलब्ध करवाए जाएंगे। जो नजदीक के डिविजन से वैरीफाइ करवाकर इस सुविधा का लाभ ले सकेंगे।
Jun 13 2017 (21:09)  हिसार-बठिंडा ट्रैक पर भी दौड़ेंगी बिजली से गाड़ियां (m.bhaskar.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNWR/North Western  -  

News Entry# 305242     
   Past Edits
Jun 13 2017 (21:09)
Station Tag: Bhiwani Junction/BNW added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (21:09)
Station Tag: Jakhod Khera/JKHI added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (21:09)
Station Tag: Rewari Junction/RE added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (21:09)
Station Tag: Manheru/MHU added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (21:09)
Station Tag: Bathinda Junction/BTI added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (21:09)
Station Tag: Hisar Junction/HSR added by Subhash/746156
Posted by: Subhash  1044 news posts
 
 
हिसारसे रेवाड़ी के अलावा हिसार से बठिंडा तक भी जल्द ही इलेक्ट्रिक ट्रेनों में सफर करने की सुविधा मिल सकेगी। रेलवे की सेंट्रल आर्गेनाइजेशन फॉर रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन (सीओआरई) की ओर से हिसार से बठिंडा के बीच 157 किलोमीटर लंबे ट्रैक पर इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य शुरू किया है।
इसके लिए सबसे पहले हिसार से जाखोद के बीच रेलवे ट्रैक पर स्लैब निर्माण के लिए स्वाइन टेस्टिंग (मिट्टी जांच) का काम शुरू किया है। स्वाइन टेस्टिंग के बाद रेलवे ट्रैक के दोनों ओर बिजली के खंभों के लिए स्लैब बनाने का कार्य किया जाएगा। इसके बाद बिजली के खंभे लगाने उन पर वायर लगाने का काम होगा। हिसार से बठिंडा के बीच रेलवे लाइन का इलेक्ट्रिफिकेशन होने से रेवाड़ी से सीधे बठिंडा तक
...
more...
इलेक्ट्रिक ट्रेनों में सफर किया जा सकेगा।
हिसार से बठिंडा रेलवे लाइन का इलेक्ट्रिफिकेशन होने रेवाड़ी से हिसार के बीच इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य पूरा होने के बाद रेवाड़ी से सीधे बठिंडा तक इलेक्ट्रिक ट्रेनें चलाई जा सकेंगी। रेवाड़ी से बठिंडा तक 299 किलोमीटर लंबा रेलवे ट्रैक है। इसके अलावा रोहतक से भिवानी लाइन का इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य पूरा होने के बाद दिल्ली से भी बठिंडा तक इलेक्ट्रिक ट्रेनों में सफर किया जा सकेगा।
हिसार से बठिंडा के बीच इलेक्ट्रिक ट्रेनें शुरू होने से 157 किलोमीटर के सफर को करीब आधा घंटा पहले पूरा किया जा सकेगा। इलेक्ट्रिक इंजन, डीजल इंजनों की अपेक्षा जल्द ही रफ्तार पकड़ लेते हैं। वहीं डीजल इंजन इलेक्ट्रिक इंजन की अपेक्षा रफ्तार पकड़ने में समय लेते हैं। इलेक्ट्रिक लाइन का कार्य पूरा होने के बाद ट्रैक पर 100 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से ट्रेनें दौड़ाई जा सकेंगी। जिससे हिसार से बठिंडा के सफर को करीब आधा घंटे पहले पूरा हो जाएगा।
हिसार से बठिंडा तक 20 स्टेशन
हिसारसे बठिंडा के बीच सात रेलगाड़ियां चलती हैं। छोटे-बड़े स्टेशन हाॅल्ट को मिलाकर करीब 20 स्टेशन बठिंडा तक आते हैं। इनमें हिसार से न्योलीकलां, जाखोद खेड़ा, मंडी आदमपुर, भट्टू, सुचान कोटली, सिरसा, कालांवाली, रतनगढ़ खनकवाल, रामां, बंगी, शेरगढ़ जैसे मुख्य स्टेशनों से होते हुए ट्रेन बठिंडा जंक्शन पहुंचती है। 157 किलोमीटर की दूरी के अनुसार हिसार से बठिंडा का सफर करीब 2 घंटे 35 मिनट का है।
रेवाड़ी से हिसार तक बनाई जा रही इलेक्ट्रिफिकेशन लाइन का कार्य इस वर्ष पूरा हो जाएगा। रेवाड़ी से हिसार के बीच बनाई जा रही इलेक्ट्रिक लाइन का कार्य सातरोड़ तक पूरा कर लिया है। इलेक्ट्रिफिकेशन के प्रोजेक्ट के तहत सातरोड़ में सब स्टेशन बनाने का कार्य भी काफी हद तक पूरा हो चुका है। सातरोड़ में इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य पूरा होने के बाद सातरोड़ से हिसार के बीच रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य शुरू किया जाएगा। 90 करोड़ के इस प्रोजेक्ट में रेवाड़ी से मानहेरू, मानहेरू से हांसी हांसी से हिसार के बीच में तीन चरणों में कार्य किया गया है। रेवाड़ी से हिसार इलेक्ट्रिक लाइन के प्रोजेक्ट मैनेजर आरए फड़के के अनुसार हिसार तक इलेक्ट्रिफिकेशन करने का कार्य सितंबर महीने तक पूरा करने का टारगेट रखा गया था। सातरोड सब स्टेशन में इलेक्ट्रिफिकेशन के कार्य में हो रही देरी के कारण दिसंबर माह तक पूरा हो पाएगा।
मिट्टी की जांच हुई
^हिसारसे बठिंडा के बीच रेलवे लाइन के इलेक्ट्रिफिकेशन के कार्य के लिए स्वाइन टेस्टिंग का कार्य शुरू किया गया है। इस ट्रैक का इलेक्ट्रिफिकेशन होने से रेवाड़ी से बठिंडा के बीच इलेक्ट्रिक ट्रेनों का भी रास्ता खुल जाएगा।\'\' -अविनाशकुमार, सीनियर सेक्शन इंजीनियर, रेलवे, हिसार।
Jun 13 2017 (20:57)  हिसार से दिल्ली का सफर 35 मिनट हो जाएगा कम (m.bhaskar.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNWR/North Western  -  

News Entry# 305239     
   Past Edits
Jun 13 2017 (20:57)
Station Tag: Rohtak Junction/ROK added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:57)
Station Tag: Hisar Junction/HSR added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:57)
Station Tag: Bhiwani City/BNWC added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:57)
Station Tag: Bhiwani Junction/BNW added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:57)
Train Tag: Sirsa (Haryana) Express/14086 added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:57)
Train Tag: Sirsa (Haryana) Express/14085 added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:57)
Train Tag: Kisan Express/14519 added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:57)
Train Tag: Kisan Express/14520 added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:57)
Train Tag: Gorakhdham SF Express/12556 added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:57)
Train Tag: Gorakhdham SF Express/12555 added by Subhash/746156
Posted by: Subhash  1044 news posts
 
 
रेलवेने भिवानी बाइपास पर हांसी आरओबी के पास से भिवानी सिटी स्टेशन तक करीब एक किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन बनाने का कार्य शुरू किया है। इस लाइन के लिए मिट्टी डालने का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। इस रास्ते पर पेड़ों की अधिकता है, जिस कारण यह कार्य धीमी गति से हो रहा है।
रेलवे अधिकारियों के अनुसार इसे पूरा होने में करीब एक साल का समय लग सकता है। इस एक किलोमीटर रेलवे लाइन को सीधे रोहतक-दिल्ली लाइन से जोड़ने से हिसार से दिल्ली के साथ, रोहतक, बहादुरगढ़, सांपला आदि स्थानों पर जाने के लिए भी पहले की बजाय कम समय लगेगा। इसके बाद हिसार से दिल्ली का सफर करीब 35 मिनट कम हो जाएगा।
पहलेगुड्स
...
more...
ट्रेनों को भेजा जाएगा
हिसारसे दिल्ली जाने के लिए भिवानी जंक्शन से भिवानी सिटी होकर जाने वाली ट्रेनें इस लाइन के बनने के बाद सीधे हिसार-रेवाड़ी लाइन से भिवानी सिटी होते हुए रोहतक-दिल्ली लाइन पर जा सकेंगी। शुरुआत में गुड्स ट्रेनों को इस रास्ते से सीधे दिल्ली के लिए रवाना किया जाएगा। इसके कुछ समय बाद भिवानी सिटी स्टेशन को डेवलप करने के बाद यात्री ट्रेनेें भी सीधे भिवानी सिटी स्टेशन से भेजी जा सकेंगी। फिलहाल गुड्स ट्रेनों को सीधे निकालने से भिवानी जंक्शन पर आकर फिर हिसार की ओर रवाना करने की समस्या भी खत्म हो जाएगी।
पेड़ोंके कारण काम धीरे
सीनियरसेक्शन इंजिनियर अविनाश कुमार के अनुसार बाइपास पर पेड़ों की अधिकता है। जिसके कारण कार्य धीमी गति से हो रहा है। पेड़ों का काटने के लिए परमिशन मांगी गई है। जिसके बाद कार्य में तेजी सकेगी।
भिवानी सिटी स्टेशन का भी विकास किया जाएगा। जिसके बाद यात्री ट्रेनों भी भिवानी सिटी से ले जाया जाएगा।
हिसार से दिल्ली के लिए सिरसा एक्सप्रेस, किसान एक्सप्रेस गोरखधाम एक्सप्रेस रवाना होती है। वहीं हिसार रेलवे स्टेशन से करीब 8 गुड्स ट्रेनें दिल्ली के लिए रवाना होती है।
दिल्ली जाने के लिए हिसार से तीन ट्रेनें
फिलहाल हिसार से दिल्ली जाने के लिए ट्रेनों को भिवानी जंक्शन से भिवानी सिटी स्टेशन होकर जाना पड़ता है। हांसी आरओबी के पास से भिवानी जंक्शन तक पहुंचने के लिए ट्रेनों को करीब 10 मिनट का समय लगता है। वहीं भिवानी जंक्शन से भिवानी सिटी स्टेशन होते हुए रोहतक-दिल्ली लाइन पर जाने के लिए करीब 25 मिनट का समय लग जाता है। इस तरह से करीब 35 मिनट रोहतक-दिल्ली रेलवे लाइन पर जाने के लिए लग जाते हैं। हांसी आरओबी के पास से रेलवे लाइन को सीधे भिवानी सिटी स्टेशन से जोड़ने के बाद ट्रेनों का यह रास्ता बच जाएगा। जिससे ट्रेनों को दिल्ली पहुंचने में पहले की बजाय कम समय लगेगा।
Jun 13 2017 (20:46)  रोडवेज का चक्का जाम आज, ट्रेनों व निजी वाहनों के सहारे 20 हजार यात्री (m.bhaskar.com)
back to top
Other NewsNWR/North Western  -  

News Entry# 305232     
   Past Edits
Jun 13 2017 (20:46)
Station Tag: Rohtak Junction/ROK added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:46)
Station Tag: Bahadurgarh/BGZ added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:46)
Station Tag: Hisar Junction/HSR added by Subhash/746156

Jun 13 2017 (20:46)
Station Tag: Bhiwani Junction/BNW added by Subhash/746156
Posted by: Subhash  1044 news posts
 
 
सरकार की ओर से निजी बसों को परमिट देने के विरोध में रोडवेज संयुक्त संघर्ष समिति सोमवार रात 12 बजे से ही चक्का जाम कर देगी। इससे डिपो की 169 बसों में यात्रा करने वाले 20 हजार यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ सकती है। यात्रा करने के लिए लोगों के पास ट्रेन व निजी सवारी वाहन ही एक मात्र सहारा होंगे।
गौरतलब है कि प्रदेश सरकार ने 273 रूटों पर निजी बस चलाने के लिए 840 परमिट दिए हैं। इसके विरोध में तालमेल कमेटी व सरकार के बीच बातचीत का दौर शुरू हो गया था। तालमेल कमेटी व सरकार के बीच सहमति नहीं बनने पर मंगलवार से रोडवेज बसों
का
...
more...
चक्का जाम की घोषणा कर दी गई है।
भिवानी से मुख्यत: चंडीगढ़, सिरसा, हिसार, नारनौल, जींद, दिल्ली, देहरादून, पानीपत, अजमेर, पिलानी, लोहारू, बहल, तोशाम, सिवानी, गुरुग्राम , दादरी, महम आदि रूटों के लिए बस सेवा उपलब्ध है। जिले की 169 बसें प्रतिदिन लगभग 20 हजार यात्रियों को अपने गंतव्य स्थानों पर पहुंचाने का कार्य करती हैं। बसें नहीं चलने से यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। हालांकि भिवानी से रेल सेवा भी उपलब्ध है। भिवानी से हिसार, सिरसा, धुरी, दादरी, रेवाड़ी, जयपुर, अमृतसर, चंडीगढ़ व दिल्ली आदि के लिए रेल सेवा है। इसलिए इन स्थानों के तरफ यात्रा करने के लिए यात्रियों को परेशानी कम होगी लेकिन जींद, महम, तोशाम, लोहारू, बहल व अन्य स्थानीय रूटों पर काफी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।
उधर, दादरी डिपो व लोहारू सब डिपो में कुल मिलाकर 161 बसें चल रही हैं। इनमें दादरी डिपो की करीब 109 बसों में से सिर्फ 91 बसे रूटों पर चल रही हैं जो प्रतिदिन 34 हजार किलो मीटर चलती हैं। दादरी डिपो की 91 बसों में प्रतिदिन 12 हजार लोग यात्रा करते हैं। वहीं लोहारू सब डिपो में कुल 52 बसें हैं जिनमें से 41 बसे रूटों पर चल रही हैं। लोहारू सब डिपो की बसे प्रतिदिन 14 हजार किलो मीटर दूरी तय करती हैं। जिनमें पांच हजार लोग प्रतिदिन सफर करते हैं। अगर मंगलवार को चक्का जाम रहता है तो 17 हजार यात्रियों को भारी परेशानी उठानी पड़ सकती है। वहीं चक्का जाम के चलते भिवानी और दादरी डिपो को लाख रुपयों का आर्थिक नुकसान भी सहन करना पड़ेगा।


मांगें न मानी तो अनिश्चितकालीन भी हो सकती है हड़ताल
इस संबंध में रोडवेज संयुक्त संघर्ष समिति के कर्मचारी नेता राजकुमार दलाल ने बताया कि प्राइवेट पॉलिसी के विरोध में रोडवेज संयुक्त संघर्ष समिति मंगलवार को चक्का जाम रखेगी। कर्मचारी नेता ने कहा कि सरकार उनकी मांगों को मानकर भी अनसुना कर रही है। वे किसी भी कीमत पर नई पॉलिसी को लागू नहीं होने देंगे। पहले 24 घंटे का बंद रखा जाएगा। इसके बाद भी सरकार नहीं मानी तो हड़ताल को अनिश्चितकालीन भी किया जा सकता है।
Page#    Showing 1 to 20 of 59 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.