Full Site Search  
Tue Jan 23, 2018 11:26:52 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;


DSA/Delhi Shahdara Junction (4 PFs)
شاہدرہ جنکشن     शाहदरा जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 4
Number of Halting Trains: 74
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Shahdara, New Delhi, Delhi 110032
State: Delhi NCT
add/change address
Elevation: 210 m above sea level
Zone: NR/Northern
Division: Delhi
 
 
4 Travel Tips
No Recent News for DSA/Delhi Shahdara Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 3.2/5 (17 votes)
cleanliness - average (2)
porters/escalators - average (2)
food - poor (3)
transportation - excellent (2)
lodging - average (2)
railfanning - excellent (2)
sightseeing - good (2)
safety - good (2)

Nearby Stations

VVB/Vivek Vihar 3 km     CNJ/Chander Nagar 4 km     ANVT/Anand Vihar Terminal 4 km     DSAP/Shahdara A Panel 4 km     ANVR/Anand Vihar 4 km     DSBP/Shahdara B Panel 5 km     BHHZ/Behta Hazipur Halt 6 km     DLI/Old Delhi Junction 7 km     SBB/Sahibabad Junction 7 km     MWC/Mandawali-Chander Vihar 7 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 9 of 9 News Items  
Nov 08 2017 (23:24)  शंटिंग में पटरी पर पहिया होता है स्लिप (m.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 322196     
   Past Edits
Nov 08 2017 (23:25)
Station Tag: Delhi Shahdara Junction/DSA removed by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐/1366147

Nov 08 2017 (23:24)
Station Tag: Shahjahanpur/SPN added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐/1366147

Nov 08 2017 (23:24)
Station Tag: Delhi Shahdara Junction/DSA added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐/1366147
Stations:  Shahjahanpur/SPN  
 
 
शाहजहांपुर : रेल संरक्षा को खतरा बना हुआ है। स्टेशन की रेल लाइन संख्या छह और सात को घास ने ढक लिया। इंजन का पहिया रेल पटरी पर स्लिप होने लगता है। जिससे हादसे का आशंका बनी रहती है। डीआरएम के आदेश के बाद भी रेल पटरी से घास नहीं हटायी गयी है। रेल लाइन संख्या छह और सात पर पटरी के आस-पास काफी लंबी घास उग आई और रेल पटरी को ढक लिया है। इसी प्रकार रोडवेज रेलवे क्रॉ¨सग के निकट भी यार्ड में रेल पटरी को घास ने ढक लिया है। जबकि रेल लाइन संख्या छह पर रात में मेमू ट्रेन आकर खड़ी होती है। मेमू ट्रेन श¨टग के दौरान रेल लाइन संख्या चार पर आकर खड़ी होती है। रेल लाइन पर घास होने के कारण लोको पायलट को रेल पटरी दिखायी नहीं देती है। शं¨टग के दौरान पहिया स्लिप होने से पटरी से इंजन उतरने की आशंका बनी...
more...
रहती है। डीआरएम ने निरीक्षण के बाद निर्देश दिए थे कि रेल पटरी के आस-पास की घास साफ करा दी जाए। स्टेशन अधीक्षक ने बताया कि रेल पथ विभाग को रेल लाइन पर से घास हटाने के लिए पत्र लिखा है।
Oct 25 2017 (19:43)  NGT fines 4 railway stations over waste management (www.thehindu.com)
back to top
Other NewsNR/Northern  -  

News Entry# 320826     
   Past Edits
Oct 25 2017 (19:43)
Station Tag: Delhi Shahdara Junction/DSA added by GIR LIONS 🌟🌟🌟🌟🌟🌟 SABARMATI DIESELS WDP4D^~/1747726

Oct 25 2017 (19:43)
Station Tag: Shakur Basti/SSB added by GIR LIONS 🌟🌟🌟🌟🌟🌟 SABARMATI DIESELS WDP4D^~/1747726

Oct 25 2017 (19:43)
Station Tag: Vivek Vihar/VVB added by GIR LIONS 🌟🌟🌟🌟🌟🌟 SABARMATI DIESELS WDP4D^~/1747726

Oct 25 2017 (19:43)
Station Tag: Anand Vihar Terminal/ANVT added by GIR LIONS 🌟🌟🌟🌟🌟🌟 SABARMATI DIESELS WDP4D^~/1747726
 
 
NGT fines 4 railway stations over waste management
Railways to file review petition against order: official
The National Green Tribunal (NGT) on Monday slapped a fine of Rs. 1 lakh each on four railway stations in the Capital for not complying with solid waste management rules.
Heavy penalties were levied on Anand Vihar railway station, Vivek Vihar railway station, Shakur Basti railway station and
...
more...
Shahdara railway station after the green panel noticed that they failed to treat the sewage in accordance with the rules.
A Bench headed by NGT chairperson Swatanter Kumar directed the stations to deposit 75% of the fine with the Delhi Pollution Control Board and the remaining 25% with the Central Pollution Control Board.
Meanwhile, the railways will file a review petition against the NGT order, an official said.
“We will go for a review before the tribunal,” the railway official said.
The counsel appearing for the railways told the Bench that all necessary steps to maintain cleanliness at the stations will be taken by them.
Earlier, the tribunal had expressed concern over the fact that there were not enough infrastructures or required technical capacity to handle the huge amounts of waste that usually gets generated at such public places.
Previously, the green panel had also asked the AAP government to provide a list of all the establishments that were generating waste and had constituted a committee to inspect the same, including malls, educational institutions and hospitals. It had said that urgent steps were required to tackle the situation.
(With inputs from PTI)
Oct 24 2017 (11:45)  आनंद विहार समेत चार स्टेशनों पर एक-एक लाख रुपये जुर्माना (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsNR/Northern  -  

News Entry# 320713     
   Past Edits
Oct 24 2017 (11:45)
Station Tag: Shakur Basti/SSB added by 9 Days Left For TAAG 2017 2018😍😊^~/1421836

Oct 24 2017 (11:45)
Station Tag: Vivek Vihar/VVB added by 9 Days Left For TAAG 2017 2018😍😊^~/1421836

Oct 24 2017 (11:45)
Station Tag: Delhi Shahdara Junction/DSA added by 9 Days Left For TAAG 2017 2018😍😊^~/1421836

Oct 24 2017 (11:45)
Station Tag: Anand Vihar Terminal/ANVT added by 9 Days Left For TAAG 2017 2018😍😊^~/1421836

Oct 24 2017 (11:45)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by 9 Days Left For TAAG 2017 2018😍😊^~/1421836
 
 
जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली : एनजीटी ने ठोस कचरे का उचित निस्तारण करने में विफल रहने के कारण दिल्ली के चार रेलवे स्टेशनों पर एक-एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। इनमें आनंद विहार, विवेक विहार, शाहदरा और शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन का नाम शामिल है। ये सभी स्टेशन उत्तर रेलवे के अधिकार क्षेत्र में आते हैं। एनजीटी ने रेलवे को जुर्माने की 25 फीसद राशि केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा शेष राशि दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति के खातों में जमा कराने को भी कहा है।1सुनवाई के दौरान रेलवे के वकील ओम प्रकाश ने पीठ को आश्वस्त किया कि रेलवे स्टेशनों पर स्वच्छता तथा कचरे के निस्तारण के सभी आवश्यक उपाय लागू करेगा। एनजीटी का यह आदेश उसके द्वारा गठित समिति की रिपोर्ट के आधार पर आया है। समिति ने अपनी रिपोर्ट में ठोस कचरा प्रबंधन तथा सीवेज ट्रीटमेंट में विफल रहने वाली दिल्ली-एनसीआर की सभी एजेंसियों पर कार्रवाई की सिफारिश की...
more...
थी। इस समिति का गठन राजधानी के फाइव स्टार होटलों, मॉल, अस्पताल, शैक्षणिक संस्थाओं तथा बैंक्वेट हॉल में कचरा प्रबंधन के तरीकों की जांच करने के लिए किया गया था। समिति ने रिपोर्ट में कहा है कि कचरा प्रबंधन की समस्या पूरे देश में है और इसके समाधान के लिए तत्काल कदम उठाए जाने की आवश्यकता है। एनजीटी ने दिल्ली सरकार से समिति के निरीक्षण के योग्य सभी प्रतिष्ठानों की सूची प्रदान करने को कहा था। जांच में समिति ने पाया कि दिल्ली में रोजाना 14 हजार टन से ज्यादा कचरा पैदा होता है।1 ठोस कचरे के निस्तारण के लिए रेलवे स्टेशनों को सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का पालन करना होता है। लेकिन इन चारों रेलवे स्टेशनों पर कचरे के प्रबंधन की उचित व्यवस्था का अभाव पाया गया है। एनजीटी की इस कार्रवाई से रेलवे के अधिकारी सकते में हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘इस आदेश के खिलाफ हम एनजीटी के समक्ष समीक्षा याचिका दाखिल करेंगे।’ 1दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण को लेकर एनजीटी का रुख लगातार सख्त बना हुआ है। इससे पहले समिति की रिपोर्ट के आधार पर उसने राजधानी के कई फाइव स्टार होटलों तथा बैंक्वेट हालों पर ढाई लाख से लेकर सात लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया था। एनजीटी ने इन होटलों से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट तथा प्रदूषणरोधी उपकरण लगाने को भी कहा था।जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली : एनजीटी ने ठोस कचरे का उचित निस्तारण करने में विफल रहने के कारण दिल्ली के चार रेलवे स्टेशनों पर एक-एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। इनमें आनंद विहार, विवेक विहार, शाहदरा और शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन का नाम शामिल है। ये सभी स्टेशन उत्तर रेलवे के अधिकार क्षेत्र में आते हैं। एनजीटी ने रेलवे को जुर्माने की 25 फीसद राशि केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा शेष राशि दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति के खातों में जमा कराने को भी कहा है।1सुनवाई के दौरान रेलवे के वकील ओम प्रकाश ने पीठ को आश्वस्त किया कि रेलवे स्टेशनों पर स्वच्छता तथा कचरे के निस्तारण के सभी आवश्यक उपाय लागू करेगा। एनजीटी का यह आदेश उसके द्वारा गठित समिति की रिपोर्ट के आधार पर आया है। समिति ने अपनी रिपोर्ट में ठोस कचरा प्रबंधन तथा सीवेज ट्रीटमेंट में विफल रहने वाली दिल्ली-एनसीआर की सभी एजेंसियों पर कार्रवाई की सिफारिश की थी। इस समिति का गठन राजधानी के फाइव स्टार होटलों, मॉल, अस्पताल, शैक्षणिक संस्थाओं तथा बैंक्वेट हॉल में कचरा प्रबंधन के तरीकों की जांच करने के लिए किया गया था। समिति ने रिपोर्ट में कहा है कि कचरा प्रबंधन की समस्या पूरे देश में है और इसके समाधान के लिए तत्काल कदम उठाए जाने की आवश्यकता है। एनजीटी ने दिल्ली सरकार से समिति के निरीक्षण के योग्य सभी प्रतिष्ठानों की सूची प्रदान करने को कहा था। जांच में समिति ने पाया कि दिल्ली में रोजाना 14 हजार टन से ज्यादा कचरा पैदा होता है।1 ठोस कचरे के निस्तारण के लिए रेलवे स्टेशनों को सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का पालन करना होता है। लेकिन इन चारों रेलवे स्टेशनों पर कचरे के प्रबंधन की उचित व्यवस्था का अभाव पाया गया है। एनजीटी की इस कार्रवाई से रेलवे के अधिकारी सकते में हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘इस आदेश के खिलाफ हम एनजीटी के समक्ष समीक्षा याचिका दाखिल करेंगे।’ 1दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण को लेकर एनजीटी का रुख लगातार सख्त बना हुआ है। इससे पहले समिति की रिपोर्ट के आधार पर उसने राजधानी के कई फाइव स्टार होटलों तथा बैंक्वेट हालों पर ढाई लाख से लेकर सात लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया था। एनजीटी ने इन होटलों से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट तथा प्रदूषणरोधी उपकरण लगाने को भी कहा था।
Jun 02 2017 (05:09)  तीन ट्रेनों में पकड़े गए चौदह सौ बेटिकट यात्री (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsNR/Northern  -  

News Entry# 304136   Blog Entry# 2303653     
   Past Edits
Jun 02 2017 (05:09)
Station Tag: Delhi Shahdara Junction/DSA added by लौहशक्ति एक्सप्रेस🙏😊^~/1421836
 
 
स्वदेश कुमार ’ पूर्वी दिल्ली 1रेलवे को जाने-अनजाने कई लोग भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं। ये वे लोग हैं जो बिना टिकट ट्रेनों में सफर करते हैं। शाहदरा रेल स्टेशन पर रेलवे के विशेष मजिस्ट्रेट अरुण गोयल की मौजूदगी में छापेमारी की गई। मात्र तीन ट्रेनों से कुल 1408 यात्री बिना टिकट पकड़े गए। इन लोगों से सात लाख रुपये से अधिक का जुर्माना वसूला गया है। 145 को मजिस्ट्रेट के सामने भी पेश किया गया। 1इस छापेमारी में रेलवे के कुछ अधिकारियों के अलावा 77 टीटीई (ट्रैवलिंग टिकट एग्जामिनर) और आरपीएफ (रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स) के इंस्पेक्टर अनिल कुमार के नेतृत्व में 55 जवान शामिल हुए। कार्रवाई के लिए शाहदरा स्टेशन पर ही रेलवे कोर्ट बनाई गई थी। टीम ने सुबह आठ से दोपहर दो बजे के बीच शामली से पुरानी दिल्ली आने वाली तीन ट्रेनों में छापा मारा। आधे से अधिक यात्रियों के पास टिकट नहीं था। टीटीई ने 1263...
more...
यात्रियों को रेलवे का चालान थमाया। इन यात्रियों से कुल 5,95,478 रुपये जुर्माना लिया गया। 145 यात्रियों ने ट्रेन में जुर्माना नहीं दिया तो उन्हें आरपीएफ ने पकड़कर मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया। मजिस्ट्रेट के समक्ष 131 यात्रियों से करीब 1,01,300 रुपये जुर्माना लिया गया। 11 लोगों को सुनवाई पूरी होने तक जेल में रखने का आदेश दिया गया। तीन यात्रियों को अंतिम चेतावनी देकर छोड़ा गया। बता दें कि शाहदरा स्टेशन पर दो महीने के भीतर चौथी बार अभियान चलाया गया है।स्वदेश कुमार ’ पूर्वी दिल्ली 1रेलवे को जाने-अनजाने कई लोग भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं। ये वे लोग हैं जो बिना टिकट ट्रेनों में सफर करते हैं। शाहदरा रेल स्टेशन पर रेलवे के विशेष मजिस्ट्रेट अरुण गोयल की मौजूदगी में छापेमारी की गई। मात्र तीन ट्रेनों से कुल 1408 यात्री बिना टिकट पकड़े गए। इन लोगों से सात लाख रुपये से अधिक का जुर्माना वसूला गया है। 145 को मजिस्ट्रेट के सामने भी पेश किया गया। 1इस छापेमारी में रेलवे के कुछ अधिकारियों के अलावा 77 टीटीई (ट्रैवलिंग टिकट एग्जामिनर) और आरपीएफ (रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स) के इंस्पेक्टर अनिल कुमार के नेतृत्व में 55 जवान शामिल हुए। कार्रवाई के लिए शाहदरा स्टेशन पर ही रेलवे कोर्ट बनाई गई थी। टीम ने सुबह आठ से दोपहर दो बजे के बीच शामली से पुरानी दिल्ली आने वाली तीन ट्रेनों में छापा मारा। आधे से अधिक यात्रियों के पास टिकट नहीं था। टीटीई ने 1263 यात्रियों को रेलवे का चालान थमाया। इन यात्रियों से कुल 5,95,478 रुपये जुर्माना लिया गया। 145 यात्रियों ने ट्रेन में जुर्माना नहीं दिया तो उन्हें आरपीएफ ने पकड़कर मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया। मजिस्ट्रेट के समक्ष 131 यात्रियों से करीब 1,01,300 रुपये जुर्माना लिया गया। 11 लोगों को सुनवाई पूरी होने तक जेल में रखने का आदेश दिया गया। तीन यात्रियों को अंतिम चेतावनी देकर छोड़ा गया। बता दें कि शाहदरा स्टेशन पर दो महीने के भीतर चौथी बार अभियान चलाया गया है।शाहदरा रेलवे स्टेशन पर बिना टिकट यात्र करने वाले लोगो ं को पकड़कर ले जाते रेलवे के अधिकारी ’ फाइल फोटोकैसे होता है जुर्माना 1रेलवे अधिकारियों के मुताबिक बेटिकट यात्रियों से पूरी यात्र का किराया वसूला जाता है। अगर वह ट्रेन में जुर्माना भरता है तो ढाई सौ रुपये रेलवे जुर्माने के तौर पर लेता है। ट्रेन में जुर्माना नहीं देने पर मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाता है। यहां यात्र किराया और रेलवे के जुर्माने के साथ कोर्ट फीस के तौर पर 550 रुपये अतिरिक्त भरना पड़ता है। यानी मजिस्ट्रेट के सामने कुल आठ सौ रुपये का जुर्माना देना पड़ता है। जुर्माना न देने की सूरत में कोर्ट यात्री को जेल भी भेज सकता है।

2259 views
Jun 02 2017 (05:49)
Guest: 39080b1d   show all posts
Re# 2303653-1            Tags   Past Edits
Log hi chor h bs politicians to badnaam h aur sarkar b
Khud k girebaan me agar har ek Indian jhaake to apne aap sach aa jaega saamne

1697 views
Jun 02 2017 (16:16)
a2z~   2345 blog posts
Re# 2303653-2            Tags   Past Edits
Kisi bhi desh mein saare log chor nahin ho sakate, aur na hi saare log imaandaar ho sakte hain,
Is liye aiso to ho hi nahin sakta ki hamaare desh ke saare ke saare wasi chor ho
Yeh baat zaroor ho sakti hai ki hamaare desh mein, choron ka % kai developed deshon se jyaada ho
Saare logon ko chor bolna sahi baat nahin
...
more...
hai, kyoni ki yeh imaandaaron ke saath na-insaafi hai.

Jun 02 2017 (17:07)
a2z~   2345 blog posts
Re# 2303653-3            Tags   Past Edits
1408 paxs were caught without ticket at Shahdara railway station during the checking of only 3 trains coming from Shamli to Old Delhi. Out of these 1263 paid 5,95,478/- as fine and 145 produced before Magistrate!
It works out to be about 300 paxs per train at just one station i.e. Shahdara!!!
and many more WT pax on these 3 trains would have got down at other stations also who went scot free.
If
...
more...
we consider 50% of pax were caught at just single station Shahdara total WT pax who travelled in a the train is 600

What should be the number of without ticket passengers in several thousand trains at several thousand stations on the IR network? These figures are mind boggling and may be in several millions! And revenue loss may be several Crores per day
If we consider only 50% of WT pax boarding the train were caught at just single station Shahdara total WT pax who travelled in a the train is 600.
For 13000 trains operating per day on IR network the no of WT pax=13000x600=78 lacs
@ Rs 45 per pax (avg revenue earned per pax by IR) daily loss= 78lacs x 45= 39 crores per day=13000 crores per annum!
This could cover makeup for over 40 % of total losses due to pax trains!
-
More than 90% of the without ticket travellers are so because they believe or understand that they can easily get ways with offence
They shall start buying tickets if proper checks are conducted and foolproof arrangement is done at the Rly stations to nab such paxs.
A few % of the culprits may be hardcore, who need to be controlled through punitive measures.
Nov 20 2016 (13:51)  woman gangraped in moving train: Woman robbed, raped in ladies coach of moving train in Delhi - Times of India (timesofindia.indiatimes.com)
back to top
Crime/AccidentsNR/Northern  -  

News Entry# 286157     
   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
 
 
NEW DELHI: A 32-year-old woman was allegedly raped and robbed of her valuables in the ladies coach of a moving train between Shahdara and Old Delhi railway stations, police said on Saturday.
Five women were sitting in the ladies coach and four of them later deboarded the train at Shahdara railway station. Three men boarded the coach from Shahdara, they said.
Two men robbed her of her bag and fled even as the third man allegedly raped her and even beat her up, they added.
Two
...
more...
constables boarded the train and saw the man sexually assaulting the woman who was trying to fight back, police said.
When the train reached Old Delhi Railway Station, the man and the woman were taken to the hospital.
Page#    Showing 1 to 9 of 9 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.