Full Site Search  
Fri Nov 24, 2017 19:55:52 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;

DHT/Dhamara Ghat (2 PFs)
     धमारा घाट

Track: Construction - Single-Line Electrification

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 22
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Dhamara Ghat, Dist - Saharsa, 852127
State: Bihar
add/change address
Elevation: 40 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Samastipur
 
 
No Recent News for DHT/Dhamara Ghat
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

BHB/Badla Ghat 5 km     FNO/Fungo Halt 7 km     KFA/Koparia 8 km     MNE/Mansi Junction 11 km     SBV/Simri Bakhtiyarpur 14 km     CDBN/Chedhabanni Halt 16 km     BRHD/Baba Raghuni Halt Dwarika 19 km     KGG/Khagaria Junction 20 km     MSK/Mahes Khunt 21 km     SBM/Sonbarsa Kacheri 23 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 2 of 2 News Items  
Nov 08 2016 (08:24)  पहले भी हादसे में गयी हैं सैकड़ों जानें (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 285117     
   Past Edits
Nov 08 2016 (8:24AM)
Station Tag: Dhamara Ghat/DHT added by Pp*^~/36064

Nov 08 2016 (8:24AM)
Station Tag: Rambhaddarpur/RBZ added by Pp*^~/36064

Nov 08 2016 (8:24AM)
Station Tag: Samastipur Junction/SPJ added by Pp*^~/36064
Posted by: Pp*^~  5969 news posts
 
 
समस्तीपुर रेलमंडल में पहले भी ऐसे हादसे हो चुके हैं. सोमवार को तड़के रामभद्रपुर में अर्घ के लिए भगवान भास्कर का इंतजार कर रहे पांच लोग ट्रेन की चपेट में आये, तो पुराने हादसों की बात भी होने लगी. समस्तीपुर-सहरसा रेलखंड के धमारा घाट स्टेशन के पास स्थित कत्यायनी मंदिर के पास तीन साल पहले 19 अगस्त 2013 को पूजा अर्चना को जा रहे 28 लोगों की राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन से कट कर मौत हो गयी थी, जबकि आधा दर्जन से अधिक लोग जख्मी भी हो गये थे. इसी खंड पर उक्त मंदिर के पास ही छह जून 1981 को समस्तीपुर- बनमनकी सवारी गाड़ी के कई डब्बे उफनती बागमती नदी में जा गिरी थी. इसमें सौ से अधिक लोगों की मौत हो गयी थी. घटना के 35 साल बाद भी ट्रेन की बोगी का अबतक पता नहीं चल सका है. उस समय इस खंड पर छोटी लाइन की ट्रेनें चला करती...
more...
थीं. उक्त दो बड़ी घटना के बाद लोग इस खंड को मौत का सफर खंड के नाम से भी पुकारने लगे हैं.

नीरपुर गांव के पास गयी हैं आठ जानें. आंकड़ा के अनुसार चार अक्तूबर 2004 को नीरपुर गुमटी के पास ग्वालियर एक्सप्रेस से चार स्कूली बच्चों की कट कर मौत हो गयी थी. सभी बच्चे मैट्रिक परीक्षा का टेस्ट देकर रेलवे लाइन पकड़ कर लौट रहे थे. 2009 में इसी स्थल पर नीरपुर के सीताराम साह के पुत्र राज किशोर साह की मौत मिथिला एक्सप्रेस से कट कर हो गयी थी. 16 अप्रैल 2011 को फिर उसी जगह पर कर्पूरी ग्राम हाइ स्कूल से लौट रहे तीन छात्रओं की मौत वैशाली सुपर फास्ट एक्सप्रेस की चपेट में आने से हो गयी थी.
Mar 31 2016 (08:17)  खगड़िया में छात्रों ने 3 ट्रेनों पर किया पथराव, पुलिस ने पीटा (epaper.bhaskar.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 262950     
   Past Edits
Mar 31 2016 (8:17AM)
Station Tag: Dhamara Ghat/DHT added by Pp*^/36064

Mar 31 2016 (8:17AM)
Station Tag: Khagaria Junction/KGG added by Pp*^/36064

Mar 31 2016 (8:17AM)
Train Tag: Kosi Express/18697 added by Pp*^/36064
Trains:  Kosi Express/18697  
Posted by: Pp*^~  5969 news posts
 
 
चेन-पुलिंगके आरोप में 16 छात्रों की गिरफ्तारी से आक्रोशित छात्रों ने खगड़िया जंक्शन पर जमकर बवाल काटा। तीन ट्रेनों पर पथराव किया और दो ट्रेनों को रोका। स्थिति को संभालने के लिए मौजूद पुलिस अधिकारी को उपद्रव कर रहे छात्रों पर बल प्रयोग भी करना पड़ा। धमारा स्टेशन से कुछ छात्र रोजाना कोसी एक्सप्रेस ट्रेन पर सवार होकर खगड़िया पढ़ाई करने के लिए आते हैं और पूर्वी केबिन के पास चेन पुलिंग कर ट्रेन से उतर जाते थे। बुधवार को 16 छात्रों को गिरफ्तार कर लिया गया, तो हॉस्टल से छात्र पहुंचे।
Page#    Showing 1 to 2 of 2 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.