Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

Just PNR - Post PNRs, Predict PNRs, Stats, ...

12988 - बारह नौ सौ अठासी , इसके नखरे हैं नवाबी ! - Keshav Saxena

Search Forum
<<prev entry    next entry>>
Blog Entry# 4854452
Posted: Jan 23 2021 (14:28)

1 Responses
Last Response: Jan 23 2021 (14:51)
Rail News
16312 views
Commentary/Human Interest
SECR/South East Central
Jan 23 2021 (14:28)   देश की सबसे लंबी फ्रेट ट्रेन 'वासुकी' भिलाई से कोरबा तक दौड़ी, 300 खाली वैगनों को एक साथ जोड़ा गया

Anupam Enosh Sarkar^~   27775 news posts
Entry# 4854452   News Entry# 434747         Tags   Past Edits
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर डिवीजन ने देश की सबसे लंबी मालगाड़ी का परिचालन का कीर्तिमान स्थापित किया है। शुक्रवार को भिलाई डी केबिन से रायपुर-बिलासपुर-कोरबा के बीच 3.5 किलोमीटर लंबी पांच मालगाड़ियों के 300 वैगनों को एक साथ जोड़कर चलाई गई। इसे देश की सबसे लंबी फ्रेट ट्रेन कहा जा रहा है, जिसे रायपुर मंडल ने वासुकी नाम दिया है। इस वासुकी ट्रेन ने भिलाई डी केबिन से कोरबा स्टेशन तक का सफर 7 घंटे से भी कम समय में तय किया। इस प्रक्रिया में केवल 1 लोको पायलट, 1 सहायक लोको पायलट एवं 1 गार्ड की आवश्यकता पड़ी।

रायपुर.
...
more...
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर डिवीजन ने देश की सबसे लंबी मालगाड़ी का परिचालन का कीर्तिमान स्थापित किया है। शुक्रवार को भिलाई डी केबिन से रायपुर-बिलासपुर-कोरबा के बीच 3.5 किलोमीटर लंबी पांच मालगाड़ियों के 300 वैगनों को एक साथ जोड़कर चलाई गई। इसे देश की सबसे लंबी फ्रेट ट्रेन कहा जा रहा है, जिसे रायपुर मंडल ने वासुकी नाम दिया है। इस वासुकी ट्रेन ने भिलाई डी केबिन से कोरबा स्टेशन तक का सफर 7 घंटे से भी कम समय में तय किया। इस प्रक्रिया में केवल 1 लोको पायलट, 1 सहायक लोको पायलट एवं 1 गार्ड की आवश्यकता पड़ी।

रायपुर डिवीजन के अधिकारियों का कहना है कि यह भारतीय रेलवे के इतिहास में पहली बार है, जब 5 मालगाड़ियों को एक साथ जोड़कर 3.5 किलोमीटर लंबी ट्रेन चलाई गई हो। फ्रेट ट्रेनों का परिचालन कम समय में अधिक माल ढुलाई, क्रू-स्टाफ की बचत एवं उपभोक्ताओं को त्वरित डिलीवरी प्रदान करने के उद्देश्य को पूरा करेगा। इससे पहले दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने पिछले साल 29 जून को तीन लोडेड मालगाड़ियों को एक साथ जोड़कर लांग हॉल सुपर एनाकोंडा ट्रेन का परिचालन किया था। इसी कड़ी में वासुकी एक नया प्रयोग है, जिसे देश के लिए रेलवे के इतिहास में एक उपलब्धि बताया जा रहा है।

सुपर शेष नाग से भी लंबी

अगर 5 रैक को अलग-अलग परिचालन किया जाता, तो 5 लोको पायलट, 5 सहायक लोको पायलट एवं 5 गार्ड की आवश्यकता होती। सुपर शेष नाग में 1 लोको पायलट, 1 सहायक लोको पायलट व 1 गार्ड द्वारा इस कार्य को अंजाम दिया जा रहा है। फोर्थ लांग हॉल रैक के परिचालन से क्रू-स्टाफ की बचत, रेलवे ट्रैक का सही इस्तेमाल एवं उपभोक्ताओं को त्वरित डिलीवरी आसान होती है। इस प्रकार यह एक सराहनीय प्रयोग रायपुर मंडल की ओर से किया गया है।

सबसे बड़ी उपलब्धि

देश की सबसे लंबी 3.5 किमी फ्रेट ट्रेन वासुकी का परिचालन रायपुर रेलमंडल की सबसे बड़ी उपलब्धि है।

- डॉ. श्यामसुंदर गुप्ता, डीआरएम, रायपुर मंडल

Rail News
13782 views
Jan 23 2021 (14:51)
akku
Desiincanada~   1272 blog posts
Re# 4854452-1            Tags   Past Edits
Lockdown me trains band Hai to Chala lo ye Sab.... Bcoz baad me chalaoge to Lanka lag jaani Hai baaki trains ki...

Aur vase bhi, chalane k liye to 10 maalgadi ko Jod Kar Chala lo, but galti se bhi Kuch problem aa Gai, koi coupling toot Gai, to pure section k liye nightmare Hoga...

Practically
...
more...
2 se jyaada Nai hone chiye, bcoz for iske liye infrastructure Nai Hai...

Yaa to fir proper sidings banao in Sab k liye, ya fir dedicated corridor me chalao...

Simple si baat Hai, auto rickshaw highway par, Aur trucks gaao ki Sadak pe suit Nai karte...
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy