Full Site Search  
Mon Aug 21, 2017 08:31:14 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;
Medium; Platform Pic; Large Station Board;

ALD/Allahabad Junction (10 PFs)
الہ آباد جنکشن     इलाहाबाद जंक्शन

Track: Triple Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 10
Number of Halting Trains: 200
Number of Originating Trains: 24
Number of Terminating Trains: 23
Leader Road /Civil Lines, Allahabad 211003
State: Uttar Pradesh
Elevation: 100 m above sea level
Zone: NCR/North Central
Division: Allahabad
 
 
27 Travel Tips
ALD/Allahabad Junction is in Recent News
Nearby Stations in the News

Rating: 3.8/5 (344 votes)
cleanliness - good (46)
porters/escalators - good (43)
food - good (43)
transportation - good (45)
lodging - good (41)
railfanning - good (43)
sightseeing - good (39)
safety - good (44)

Nearby Stations

ALY/Allahabad City 2 km     SFG/SubedarGanj 3 km     PRG/Prayag Junction 6 km     DRGJ/Daraganj 6 km     PYG/Prayag Ghat 7 km     NYN/Naini Junction 8 km     BMU/Bamhrauli 9 km     ACOI/Allahabad Chheoki Junction 10 km     COI/Chheoki Junction (Allahabad) 10 km     JI/Jhusi 10 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 1389 News Items  next>>
Yesterday (07:27)  राजधानी समेत कई ट्रेनें 27 तक निरस्त (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 312340     
   Tags   Past Edits
Aug 20 2017 (07:27)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by जोहार झारखंड🙏😊^~/1421836

Posted by: जोहार झारखंड🙏😊^~  1772 news posts
 
 
इलाहाबाद : बिहार में बाढ़ आने के कारण इलाहाबाद से गुजरने वाली ट्रेनों के निरस्त होने का सिलसिला जारी है। 27 अगस्त तक नई दिल्ली-डिबरुगढ़ राजधानी समेत कई ट्रेनें निरस्त रहेंगी। इसके कारण इलाहाबाद से जाने वाले यात्रियों को परेशानी होगी। 1दिल्ली-अलीपुर द्वारा महानंदा एक्सप्रेस, आनंद बिहार टर्मिनल-गुवहाटी एक्सप्रेस, दिल्ली-डिबरुगढ़ ब्रह्मपुत्र मेल ट्रेन 27 अगस्त तक निरस्त रहेगी। इसके अलावा नई दिल्ली-गुवाहटी ट्रेन 20, 24 और 27 को, नई दिल्ली-सिल्चर 24 को और नई दिल्ली-गुवाहटी संपर्क क्रांति एक्सप्रेस ट्रेन 20 और 27 अगस्त को नहीं जाएगी। उत्तर प्रदेश रेलवे के सीपीआरओ गौरव कृष्ण बंसल ने यह जानकारी दी।
Aug 19 2017 (16:25)  बाढ़ का असर जारी, आज आठ ट्रेनें रहेंगी रद्द (m.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 312299     
   Tags   Past Edits
Aug 19 2017 (16:25)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by जोहार झारखंड🙏😊^~/1421836

Posted by: जोहार झारखंड🙏😊^~  1772 news posts
 
 
बिहार और असम में बाढ़ का असर ट्रेन परिचालन पर शुक्रवार को भी रहा। ट्रेनें के कैंसिल होने से मुसाफिरों को परेशानी हुई। शनिवार को आठ ट्रेनें इलाहाबाद जंक्शन नहीं आएंगी। शनिवार को ट्रेनों में ज्यादा भीड़ होती है। प्रमुख ट्रेनें के कैंसिल होने से दूसरी नियमित ट्रेनों पर दबाव बढ़ गया है। बाढ़ के कारण शुक्रवार को अप-डाउन नार्थ ईस्ट, डिबू्रगढ़ राजधानी, ब्रह्मपुत्र मेल, महानंदा इलाहाबाद जंक्शन नहीं आई। शनिवार को अप-डाउन डिब्रूगढ़ राजधानी, नार्थ ईस्ट, ब्रह्मपुत्र, महानंदा रद्द रहेगी। शनिवार का दिन होने के कारण ट्रेनों में ज्यादा भीड़ रहती है। प्रमुख ट्रेनें रद्द रहने के कारण दिल्ली जाने वाली दूसरी ट्रेनों में भीड़ बढ़ गई है। प्रयागराज एक्सप्रेस में वेटिंग डेढ़ सौ के पार है जबकि रीवा और शिवगंगा में भी वेटिंग 100 के करीब है। शिवगंगा में रविवार को नो रूम हो गया है।
Aug 19 2017 (16:23)  कोचों में सेंट्रल बफर कपलर लगाएं: सीसीआरएस (m.livehindustan.com)
back to top
IR AffairsNCR/North Central  -  

News Entry# 312297     
   Tags   Past Edits
Aug 19 2017 (16:23)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by जोहार झारखंड🙏😊^~/1421836

Posted by: जोहार झारखंड🙏😊^~  1772 news posts
 
 
रेल परिचालन में संरक्षा और सुरक्षा सबसे अहम है। इस बात को ध्यान रखना होगा। रेल संरक्षा से जुड़े मद्दों पर रेलवे को गंभीरता से विचार करना चाहिए। ये बातें मुख्य आयुक्त रेल संरक्षा (सीसीआरएस) सुदर्शन नायक ने उत्तर मध्य रेलवे में अफसरों के साथ बैठक में कही। उन्होंने कहा कि मैकेनिकल लीवर फ्रेम विशेष तौर पर ए रूट वालों को बदलने, पुराने सिग्नल सिस्टम और टोकन सिस्टम को हटाने, स्टेशनों पर ट्रैक सर्किटिंग करने, कोचों के बीच सेँट्रल बफर कपलर लगाने का काम किया जाए। वर्तमान समय में ये तकनीक अधिक सुरक्षित मानी जा रही है। इसके इस दौरान जीएम एनसीआर एमसी चौहान ने संरक्षा से जुड़े अहम बातें बताने के लिए सीसीआरएस को धन्यवाद दिया। इस दौरान सीआरएस एनई सर्किल सतीश कुमार पांडेय भी मौजूद रहे। 10 लाख करोड़ से होगा रेल का कायापलटइलाहाबाद। सीसीआरएस ने बताया कि आने वाले 10 सालों माल भाड़ा गलियारे और हाईस्पीड ट्रेन परियोजनाओं...
more...
में लगभग 10 लाख करोड़ रुपये होगा। इसके अलावा रेल के अन्य क्षेत्रों मे भी विकास होगा। 40 शहरो मे मेट्रो प्रणाली होगी|। सभी डिब्बे एलएचबी में परिवर्तित हो जाएंगे और बायोटॉयालेट युक्त होंगे, सभी वैगल हल्के एवं जंग रहित एल्यूमुनियम बॉडी के होंगे।
Aug 19 2017 (05:33)  10 साल में एलएचबी कोच से लैस होंगी सभी ट्रेनें (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsNCR/North Central  -  

News Entry# 312237     
   Tags   Past Edits
Aug 19 2017 (05:33)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by जोहार झारखंड🙏😊^~/1421836

Posted by: जोहार झारखंड🙏😊^~  1772 news posts
 
 
भाड़ा गलियारा और हाई स्पीड ट्रेन परियोजनाओं पर दिया गया जोर
समीक्षा बैठक
Click here to enlarge image
जासं, इलाहाबाद 1मुख्य आयुक्त रेल संरक्षा सुदर्शन नायक ने कहा कि आगामी 10 साल में भारतीय रेल एक नई रेल के रूप में उभरेगी। सभी ट्रेनें एलएचबी कोच से लैस होंगी। शुक्रवार को उन्होंने सूबेदारगंज स्थित उत्तर मध्य रेलवे के मुख्यालय में संरक्षा समीक्षा की बैठक
...
more...
की।1मुख्य आयुक्त रेल संरक्षा ने कहा कि माल भाड़ा गलियारे और हाई स्पीड ट्रेन परियोजनाओं के माध्यम से लगभग 10 लाख करोड़ का व्यय होगा। इसके अलावा रेल के अन्य क्षेत्रों भी अन्य 10 लाख करोड़ का व्यय होगा। इससे भारतीय रेल की सूरत बदल जाएगी। उन्होंने कहा कि 40 शहरों में मेट्रो प्रणाली होगी। सभी डिब्बे एलएचबी में परिवर्तित हो जाएंगे। बायोटॉयालेट युक्त होंगे। सभी वैगल हल्के एवं जंगरहित एल्यूमुनियम बॉडी के होंगे। 1रेल संरक्षा के मामलों पर हो शीघ्र कार्रवाई : उन्होंने कहा कि रेल संरक्षा से जुड़े मुद्दों को गंभीरता से लेना चाहिए। उन पर प्राथमिकता के आधार पर कार्रवाई की जानी चाहिए। बैठक में मैकेनिकल लीवर फ्रेम विशेष तौर पर ‘ए’ रूट वालों को बदलने, सीमाफोर सिग्नलों एवं नील्स-टोकन-इंस्ट्रूमेंट को पूर्णत: हटाने आदि विषयों पर चर्चा हुई। 1एनसीआर जीएम एमसी चौहान ने उत्तर मध्य रेलवे में अत्यधिक ट्रैफिक घनत्व के अनुरूप ट्रैक मशीनों को लगाने की आवश्यकता जताई। उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य संरक्षा अधिकारी ने जोन परिक्षेत्र में संरक्षा प्रदर्शन एवं प्रयासों पर केंद्रित पावर प्वाइंट दिखाया। बैठक में आयुक्त रेल संरक्षा, पूवरेत्तर परिक्षेत्र सतीश कुमार पांडे, एनसीआर जीएम समेत सभी प्रमुख विभागाध्यक्षों बैठक में मौजूद रहे।उत्तर मध्य रेलवे में को संबोधित करते मुख्य आयुक्त रेल संरक्षा सुदर्शन नायक।
Aug 18 2017 (16:38)  71st Independence Day celebrated at NCR headquarter. (ncr.indianrailways.gov.in)
back to top
Commentary/Human InterestNCR/North Central  -  IR Press Release  

News Entry# 312169     
   Tags   Past Edits
Aug 18 2017 (16:38)~

Posted by: Saurabh*^~  3119 news posts
 
 
संख्‍या:11पीआर/08/2017प्रेस विज्ञप्ति दिनांक- 15.08.2017
दिनांक 15 अगस्‍त 2017 को सुबेदारगंज स्थित उत्‍तर मध्‍य रेलवे प्रधान कार्यालय इलाहाबाद में राष्‍ट्र का 71 वां स्‍वतन्‍त्रतादिवस समारोह हर्षोल्‍लास के साथ मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारम्‍भ महाप्रबंधक श्री एम सी चौहानद्वारा ध्‍वजारोहण के साथ हुआ। इस अवसर परमहाप्रबंधक महोदय ने उत्‍तर मध्‍य रेलवे के सभी कर्मचारियों,जवानों, पर्यवेक्षकों, अधिकारियेां एवं उनके परिजनों को गौरवशाली राष्‍ट्र के 71वें स्‍वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी और उदबोधन दिया|महाप्रबंधक महोदय का उदबोधन निम्नवत है|
“यह पावन पर्व हमें अपनी मातृभूमि के प्रति अगाध प्रेम तथा देशभक्ति
...
more...
की प्रबल भावना की अनुभूति कराता है। इस वर्ष भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगाँठ भी मनाई जा रही है। यह आंदोलन एक निर्णायक संघर्ष था जिससे भारत में ब्रिटिश राज की बुनियाद हिल गई और राष्‍ट्र की स्‍वतंत्रता का मार्ग प्रशस्‍त हुआ। इस पुनीत अवसर पर हम अपने महान देशभक्‍तों, शहीदों तथा स्‍वतंत्रता संग्राम के नायकों को विनम्र श्रद्धां‍जलि अर्पित करते हैं। यह वह सुअवसर भी है जब हम अपने पिछले कार्य निष्‍पादन की समीक्षा करते हैं और पूरी निष्‍ठा एवं सामर्थ्‍य के साथ राष्‍ट्र की सेवा करने का पुन: संकल्‍प लेते हैं।
रेल यातायात की सघनता की दृष्टि से उत्‍तर मध्‍य रेलवे,भारतीय रेल के अतिव्‍यस्‍त रेलवे में से एक है। भारतीय रेल के रेलपथ नेटवर्क का केवल 5%हिस्‍सा होने के बावजूद उत्‍तर मध्‍य रेलवे पूरे भारतीय रेल के लगभग 15%यातायात का संचालन करती है। अपनी रेलवे में इस सघन यातायात के अत्‍यधिक दबाव को कम करने के लिए हम निरंतर प्रयासरत हैं और इसके साथ ही हमारी सेवाओं का उपयोग करने वाले यात्रियों और गा‍ड़ियों का दैनिक परिचालन करने वाले कर्मचारियों को भी राहत प्रदान करने का प्रयत्‍न कर रहे हैं। इस दिशा में कई प्रकार की चुनौतियाँ हैं। पहले से ही इतनी व्‍यस्‍त प्रणाली में गा‍ड़ियों की निरंतर बढ़ती हुई संख्‍या के कारण क्षमता के पूरे उपयोग में भी जटिलताएं उत्‍पन्‍न हो रही हैं। वर्तमान वित्‍त वर्ष के दौरान उत्‍तर मध्‍य रेलवे में मेल/एक्‍सप्रेस सहित यात्री गा‍ड़ियों के समयपालन में सुधार के लिए ठोस प्रयास किए जा रहे हैं। हमारे इन प्रयासों के अच्‍छे परिणाम भी दिखने शुरू हो गए हैं। वर्ष 2017-18 में जुलाई,2017 तक उत्‍तर मध्‍य रेलवे ने समयपालन सुधार में पिछले वित्‍त वर्ष अर्थात 2016-17 की इसी अवधि की तुलना में उल्‍लेखनीय प्रगति हासिल की है। वर्तमान वर्ष के दौरान जुलाई, 2017 तक पिछले वित्‍त वर्ष की इसी अवधि की तुलना में मेल, एक्‍सप्रेस गा‍ड़ियों के समयपालन में 12.01% का सुधार हुआ है। यह उत्‍तर मध्‍य रेलवे के लिए एक कीर्तिमान है तथा सभी क्षेत्रीय रेलों द्वारा समयपालन में जो समग्र सुधार हासिल किए गए हैं, उनमें यह सर्वोत्‍तम सुधार है।
अप्रैल से जुलाई, 2017 के दौरान हमने 4.45 मिलियन टन का मूल माल लदान किया है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 10% अधिक है। इस वर्ष अप्रैल से जुलाई तक कुल 1275 करोड़ रुपए की मूल आमदनी हुई है जो पिछले वर्ष हुई 1197 करोड़ रुपए की आमदनी की तुलना में 6.5% अधिक है। विभिन्‍न शीर्षों के अंतर्गत होने वाली आय में भी उल्‍लेखनीय वृद्धि हुई है। यात्री यातायात आय में 5.8%, अन्‍य कोचिंग आय में 6.1%, मालभाड़ा आय में 9.8%तथा विविध आय में 126.8% की वृद्धि हुई है। इस वर्ष हमारी रेलवे में 4690 करोड़ रुपए की प्रभाजित आय हुई है,जबकि पिछले वर्ष इस मद में 4166 करोड़ रुपए की आय हुई थी। इस प्रकार इसमें 10.7%की वृद्धि हुई है। पिछले वर्ष की तुलना में टिकट जाँच से होने वाली आमदनी में भी 12.9% की वृद्धि हुई है। वर्ष 2016-17 के दौरान हमारे भंडार विभाग को स्‍क्रैप की बिक्री से 156.94 करोड़ रुपए की आय हुई,जो पिछले वर्ष की तुलना में 4.63% अधिक है। वर्ष 2017-18 में (जुलाई, 2017 तक) कुल 31.39 करोड़ रुपए के स्‍क्रैप की बिक्री की जा चुकी है।
उत्‍तर मध्‍य रेलवे में भूमि के उपयोग से 111.01 करोड़ रुपए के राजस्‍व की आय हुई है जो रेलवे बोर्ड द्वारा वर्ष 2016-17 के लिए निर्धारित लक्ष्‍य से 54%अधिक है। यही नहीं, वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही में ही इस मद में 38% की वृद्धि हासिल की जा चुकी है। सातवें वेतन आयोग के कारण व्‍यय में हुई वृद्धि के बावजूद इस वर्ष जुलाई,2017 तक 73.86% का ऑपरेटिंग रेशियो रहा,जो कि एक महत्‍वपूर्ण उप‍लब्धि है।
उत्‍तर मध्‍य रेलवे मुख्‍यत: यात्री यातायात का परिवहन करने वाली रेलवे है और हम अपने सम्‍मानित ग्राहकों को सर्वोत्‍तम सेवा प्रदान करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं। वर्तमान वित्‍त वर्ष के दौरान हमने 10 नई गा‍ड़ियों के संचालन के साथ ही त्‍योहारों और मेला आदि के अवसरों पर यात्रियों की अतिरिक्‍तभीड़ के सुचारु आवागमन के लिए 265 स्‍पेशल गा‍ड़ियाँ भी चलाईं। लंबे समय से चली आ रही माँग को पूरा करने के लिए गाड़ी सं. 24155/56 जम्‍मूतवी-कानपुर एक्‍सप्रेस को इलाहाबाद तक बढ़ाया गया। इसके अतिरिक्‍त अप्रैल से जुलाई, 2017 तक विभिन्‍न गा‍ड़ियों में 1595 अतिरिक्‍त कोच लगाए गए और पनकी स्‍टेशन पर संगम एक्‍सप्रेस का स्‍टापेज दिया गया। यात्री सुविधाओं में सुधार करने की दृष्टि से 59 स्‍टेशनों पर रेलवे बोर्ड द्वारा निर्धारित आवश्‍यक सुविधाएं उपलब्‍ध कराई गई हैं।
24 कोच वाली गा‍ड़ियों के लिए आगरा मंडल के चार प्‍लेटफार्मों की लंबाई बढ़ाई गई। ए1 श्रेणी के स्‍टेशनों के सभी प्‍लेटफार्मों पर दिव्‍यांगों के अनुकूल टायलेट बनाए गए। दृष्टिबाधित यात्रियों की सुविधा के लिए उत्‍तर मध्‍य रेलवे के 250 कोचों में ब्रेल लिपि के साइनेज लगाए गए हैं। यात्रियों को आसानी से अनारक्षित टिकट उपलब्‍ध हो सके, इसके लिए 18 स्‍टेशनों पर 64 स्‍वचालित टिकट वेंडिंग मशीनें लगाई गई हैं। 32 स्‍टेशनों पर 34 राष्‍ट्रीय गाड़ी पूछताछ प्रणाली लगाई गईं। विभिन्‍न स्‍टेशनों पर 14 स्‍वचालित सीढ़ियाँ लगाई जा चुकी हैं। उत्‍तर मध्‍य रेलवे के विभिन्‍न स्‍टेशनों पर अब तक 71 वाटर वेंडिंग मशीनें लगाई जा चुकी हैं, साथ ही 78 और मशीनों को लगाने का कार्य प्रगति पर है। जोन के 155 स्‍टेशनों पर एलईडी लाइटें लगाई जा चुकी हैं और शेष सभी स्‍टेशनों पर भी वर्तमान वित्‍त वर्ष में एलईडी लाइटें लगा दी जाएंगी।
प्रभावी,संरक्षित एवं समय से गाड़ियों के परिचालन हेतु क्षमता विस्‍तार अनिवार्य है। हाल ही में विद्युतीकृत छिवकी-शंकरगढ़ सेक्‍शन में पहली मालगाड़ी 26 मार्च, 2017 को चलाई गई। ललितपुर-उदयपुरा और शंकरगढ़-मानिकपुर सेक्‍शन के विद्युतीकृत परिचालन का कार्य क्रमश: अगस्‍त, 2017 और सितंबर,2017 तक चालू होने की संभावना है।
इस वर्ष हमने 06 स्‍टेशनों में इलेक्‍ट्रानिक इंटरलॉकिंग और 08 स्‍टेशनों में पैनल इंटरलॉकिंग चालू करने के अतिरिक्‍त दादरी स्‍टेशन की इलेक्‍ट्रानिक इंटरलॉकिंग सहित उसके बड़े यार्ड की रिमाडलिंग का कार्य केवल 150 मिनट में पूरा कराया है। परिचालनिक दृष्टि से महत्‍वपूर्ण कानपुर क्षेत्र के पनकी-भाऊपुर स्‍टेशनों के बीच तीसरी लाइन का पैसेंजर एवं मेल एक्‍सप्रेस गाड़ियों के संचालन हेतु उपयोग करने के लिए पनकी यार्ड की रिमाडलिंग का कार्य किया जा रहा है, जिसके सितंबर, 2017 तक पूरा हो जाने की संभावना है। पनकी यार्ड में गाड़ियों के कुशल परिचालन के उद्‍देश्य से रिमाडलिंग द्वारा यार्ड की मौजूदा यांत्रिक इंटरलाकिंग को इलेक्‍ट्रानिक इंटरलाकिंग में परिवर्तित कर दिया जाएगा, जिससे इस यार्ड से गुजरने वाली गाड़ियों की गति 110 किलोमीटर प्रति घंटा से बढ़कर 130 किलोमीटर प्रति घंटा हो जाएगी। झांसी-पारीछा लाइन के दोहरीकरण का कार्य अक्‍टूबर, 2017 तक पूरा कर लिया जाएगा। इस कार्य के पूर्ण हो जाने से जहाँ एक ओर पारीछा पावर हाउस में कोयले के रेकों की आपूर्ति तेजी से करना आसान हो जाएगा, वहीं दूसरी ओर पारीछा सीमेंट फैक्‍ट्री से लोड किए जाने वाले सीमेंट की निकासी भी अत्‍यधिक सुविधाजनक होगी।
गाड़ियों का त्‍वरित संचालन सुनिश्चित करने के उद्‍देश्‍य से झांसी और बांदा सेक्‍शन के बीच 'मॉडिफाइड नॉन इंटरलाक्‍ड' प्रणालीके स्‍थान पर 'मानक II(आर) इंटरलाकिंग' लगाने का कार्य भ�
Page#    Showing 1 to 20 of 1389 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.